मानवता के शत्रु आतंकवादी संगठनों के पीछे की सच्चाई को उजागर करेंगी फिल्म आईएसआईएस

-न्यूज हेल्पलाइन

 मुंबई। आईएसआईएस एक हिंसक जिहादी उग्रवादी समूह और अपरिचित प्रोटो राज्य है जो एक कट्टरपंथी, सुन्नी इस्लाम के वहाबी सिद्धांत का पालन करता है।श्आईएसआईएस को संयुक्त राष्ट्र और अन्य विभिन्न देशों द्वारा एक आतंकवादी संगठन घोषित किया गया हैं। अटलांटिक फिल्म्स के बैनर के तहत युवराज कुमार द्वारा निर्देशित यह फिल्म 29 सितम्बर को रिलीज होगी । युवराज कुमार आईएसआईएस – मानवता की शत्रु नामक एक फिल्म बना रहे हैं जो आतंकवादी संगठनों के पीछे की सच्चाई को उजागर करेंगी । फिल्म की पृष्ठभूमि आईएसआईएस के कामकाज के बारे में बताती है जो एक आतंकवादी समूह है और पूरे विश्व में तबाही करता है।
युवराज, विसलिंग वुड्स स्कूल के विद्यार्थी हैं, और इनका रिश्ता रक्षा क्षेत्र से भी रहा है। इस फिल्म में ये अभिनय, निर्देशन और निर्माता सभी रूप में नजर आएंगे। मल्टीटास्किंग काम करने पर युवराज कुमार, ने कहा, मैं विश्व राजनीति का एक छात्र हूं, आज दुनियाँ में जिस तरह से आतंकवादी हमले बढ़ गए है तो मेरे लिए यह बहुत ही स्वाभाविक है कि मैं इसे गहराई से देखूं। और 21 वीं सदी के युग में इस खतरे पर अपने शोध के माध्यम से, आतंकवादी समूहों द्वारा अभ्यास किए गए विचारधाराओं को लोगो तक पहुंचा सकू।

IRCTC : ट्रेनों में नहीं लगेंगे रिजर्वेशन चार्ट, ऐसे जाने अपना PNR स्टेटस
युवराज ने कहा मैं सिनेमा को बदलना चाहता हूँ, सिनेमा का एक रूप होना चाहिए जो कि मनोरंजन करे लेकिन साथ ही हिंसक आतंकवादी विचारधारा को चुनौती और दुनिया के प्रति समाधान प्रदान करे। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आतंकवादी समूहों में शामिल होने वाले लोगों के पक्षपातपूर्ण निर्णय लेने के बजाय, उन कारकों पर उन लोगो को समझा सके, इसी जिम्मेदारी को समझते हुये मैंने यह फिल्म बनाई हैस
युवराज ने यह फिल्म बनाने से पहले बहुत रिसर्च किया है, आईएसआईएस – मानवता के शत्रु, इस फिल्म में आतंकवाद को खत्म करने और कट्टरता को खत्म करने और आतंकवाद की निंदा करने की शक्ति है और यही एक मात्र उद्देश्य भी है। इस फिल्म ने इस्लाम का संपूर्ण रूप में अपने महत्व को दर्शाया है और इस्लाम की रक्षा करता है जिसे दुनिया के सामाजिक-विरोधी तत्वों के रूप में पेश किया जाता है। फिल्म में राहुल देव, रशीद नाज, युवराज कुमार, मानन फ्यूर, हरीश भीमनी ने अभिनय किया है।

Leave a Reply