महिलाओं के लिए कौशल विकासोन्मुखी शिक्षा समय की जरूरत : डाॅ. मेघना शर्मा

Haryana News : Skill development for women-oriented education needs the time : Dr. Meghna Sharma

कुरूक्षेत्र/बीकानेर। एमजीएसयू के सेंटर फॉर वीमेन्स स्टडीज की डायरेक्टर डाॅ. मेघना शर्मा ने कहा कि वर्तमान शिक्षा प्रणाली के साथ साथ सामाजिक स्तर पर महिलाओं को कौशल विकास से जोड़ने के हर संभव प्रयास किए जाने की महती आवश्यकता है। डाॅ. मेघना शर्मा हरियाणा सरकार के उच्च शिक्षा निदेशालय द्वारा प्रायोजित व दयानंद महिला महाविद्यालय कुरूक्षेत्र के वूमन सैल द्वारा कौशल विकास के माध्यम से महिला सशक्तिकरण विषय पर आयोजित एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी को संबोधित कर रही थी।

#AbhinandanVarthaman : जाबांज विंग कमांडर अभिनंदन का अभिनंदन, जश्न का माहौल
Haryana News : Skill development for women-oriented education needs the time : Dr. Meghna Sharmaउन्होने कहा कि इस प्रकार वे आर्थिक रूप से सशक्त तो बनेंगी ही साथ ही देश की उत्पादकता बढ़ाने में महत्वपूर्ण कारक भी सिद्ध हो सकेंगी। जिससे महिलाएं यदि बाहर जाकर नौकरी करने की इच्छुक नहीं हैं या किन्हीं परिस्थितियों के चलते ऐसा कर पाने में सक्षम नहीं हैं वो अलग अलग तरह के कौशल विकास में पारंगत होकर घर बैठे स्वतंत्र रूप से अर्थोपार्जन की प्रक्रिया से प्रत्यक्ष रूप से जुड़ सकें।

हरियाणा सरकार के सामाजिक न्याय, अधिकारिता और सशक्तिकरण मंत्री कृष्णकुमार बेदी ने सरकार द्वारा महिलाओं के कौशल विकास आधारित वृहत स्तर पर संचालित योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हरियाणा ने देश को ऐसी बेटियां दी हैं जिन्होंने पूरे देश का सर विश्व स्तर पर ऊंचा किया है और अन्य महिलाओ के लिए उदाहरण साबित हुईं हैं।
उद्घाटन समारोह की मुख्य वक्ता भारत सरकार के आर्थिक व्यय मंत्रालय की निदेशक डाॅ. शिवाली चैहान ने कहा कि जिन महिलाओं के लिए योजनाओं को महिलाओं के उत्थान के लिए चलाया जा रहा है उनकी जानकारी से अशिक्षित नारी वर्ग अभी अछूता है और महिला केंद्रित उच्च शिक्षा इस दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती आई है व आगे भी महत्वपूर्ण साबित होगी। अध्यक्षीय उद्बोधन महाविद्यालय प्रबंधन समिति के कोषाध्यक्ष डाॅ. सुखदेव चैधरी ने दिया।

Haryana News : Skill development for women-oriented education needs the time : Dr. Meghna Sharmaएमजीएसयू के बीकानेर की डाॅ. मेघना शर्मा समापन समारोह की मुख्य अतिथि व मुख्य वक्ता के रूप में महाविद्यालय की प्राचार्या डाॅ. विजेश्वरी, संगोष्ठी की सह-संयोजिका पूनम गोयल व आयोजन सचिव डाॅ. सुमन राजन द्वारा सम्मानित भी की गईं। संगोष्ठी में तीन तकनीकी सत्रों में लगभग साठ पत्रों का वाचन हुआ जिनमें रिसोर्स पर्सन की भूमिका डाॅ. श्रुति शौरी, डाॅ. शालिनी शर्मा व डाॅ वंदना दवे ने निभाई।

 

#Surgicalstrike2 : भारत के खिलाफ एफ 16 का इस्तेमाल कर बुरा फंसा पाकिस्तान, US ने मांगा जवाब

PM Modi ने कहा देश सुरक्षित हाथों में, मैं देश नही झूकने दूंगा

www.hellorajasthan.com की ख़बरें फेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें.

Leave a Reply