बीकानेर: इंश्योरेंस के नाम पर 55 लाख रुपये की आनॅलाइन ठगी करने वाले गिरोह का भंडाभोड़

Bikaner News : 55 lakhs online fraud for Bajaj Life insurance

बीकानेर। जिला पुलिस की टीम ने बजाज एलाइंस लाईफ इंश्योरेंस कंपनी की पालिसी के नाम पर 55 लाख रुपये की आनॅलाइन ठगी करने वाले एक गिरोह का भंडाभोड़ कर तीन जनों को दिल्ली से पकड़ा है। पुलिस को इनके पास से महिंद्रा एसयूवी, मोबाइल, 20 लाख रुपये की मिली है।

Republic Day 2019 : जमीन से लेकर आसमान तक दिखा साहस,शौर्य और पराक्रम
जिला पुलिस अधीक्षक प्रदीप मोहन ने बताया कि हाईप्रोफाइल जिन्‍दगी जीने के शौकीन आरोपियों ने सदर पुलिसथाना क्षेत्र निवासी सतीश कुमार पांडे पुत्र बजरंग पांडे, रिटायर्ड कर्मचारी नगर निगम ने 17 जुलाई 2018 को लिखित रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसने 2009 में बजाज एलाइंस लाईफ इंश्योरेंस कंपनी की 60 हजार रुपये की पालिसी ली थी। इस दौरान एजेंट ने उन्हे बताया था कि प्रतिवर्श 60 हजार रुपये जमा कराने होंगे। फिर 2013 में मेरे पास एक कॉल आया और उस व्यक्ति ने अपना नाम प्रेमचंद नागा जो अपने आपको वित विभाग, नई दिल्‍ली का अधिकारी होना बताया अैार कहा कि मेरे बताये अनुसार संबोधित खातो में आप अपनी पॉलिसी की राशि जमा करवा देवे। आप को अपनी पॉलिसी की जमा राशि व ब्‍याज सरकार द्वारा जमा करवा दिया जायगा। इस प्रकार 2013 से 2018 तक अलग अलग नामो से मेरे पास फोन आने लगे और मैं उन्‍ाके झांसे मे आकर ठगी का शिकार हो गया और उनके द्वारा बताये गये खातो में लगभग 55 लाख रुपये जमा करवा दिये।
पुलिस ने इस लिखित रिपेार्ट पर सदर पुलिसथाना में भादस की धारा 420 , 406 आईप्‍ाीसी में मामला दर्ज कर इसकी जांच उपनिरीक्षक गौरव खिडिया को सौंप दी गई।

उरी द सर्जिकल स्ट्राइक: देश के वीर बहादुर नौजवानेां के पराक्रम को दर्शाने वाली अच्छी फिल्म: केंद्रीय मंत्री मेघवाल
जिला पुलिस के निर्देश पर टीम गठित
मामला किसी व्‍यक्‍ति की जीवन भर की पूंजी से जुडा हुआ था , मामला की गंभीरता को देखते हुये पुलिस अधीक्षक बीकानेर के निर्देशन में सदर थानाधिकारी मुकेश कुमार सोनी आरपीएस ( प्रोबे ) , ऋषिराजसिंह पुनि, गौरव खिडिया उनि , पुलिस अधीक्षक कार्याल्‍ाय के साईबर सेल के कानि दीपक यादव की टीम गठीत कर मामले को ट्रेस आउट करने के निर्देश दिये गये।
पुलिस टीम ने इनके मोबाइल, बैंक खाते, आनलाइन फूड आर्डर करने वाली कंपनी जोमेटो की जांच करने पर इनका पूरा पता लग सका। जिस पर पुलिस ने 25 जनवरी को हेमंत पुत्र दीप चंद, दिल्ली, मोहसीन पुत्र बरार अहमद, मुंबई और अभिषेक कुमार पुत्र रमन कुमार निवासी दिल्ली को गिरफतार किया है।
उन्होने बताया कि इनके कब्जे से 23 मोबाइल , दो लैपटॉप , एक महिन्‍द्रा फोर व्‍हीलर गाडी व लगभग 20 लाख रुपये आरोपियो के खातो में फ्रीज करवाये गये व ठगी की वारदात में प्रयुक्‍त दस्‍तावेज प्राप्‍त किये है।
इस तरह से आए पकड़ में

CM गहलोत ने आखिर PM मोदी को लिखा पत्र, किसानेां का कर्ज माफ करने का किया आग्रह
इस मामले में उपनिरीक्षक गौरव खिडिया व साईबर सेल के दीपक यादव कानि द्वारा आरोपियो द्वारा घटना में प्रयुक्‍त मोबाईल नं. , बैंक खातो व अन्‍य सोशल साईटो का विस्‍तृत विश्‍लेषण किया गया तो सामने आया कि आरोपियो द्वारा सन 2013 से 2018 तक परिवादी को ठगी का शिकार बना रहे है , साथ में देशभर के अन्‍य लोगो को भी पॉलिसी के बॉनस का लालच देकर ठगी कर रहे है । ये आरोपी ठगी करने की वारदात करने के लिये नये नये मोबाइल नं व बैंक खातो का उपयोग करते है। गठित टीम द्वारा आईपी मेल , दिल्‍ली ,गोवा , यूपी के बीटीएस व एयर लाईन्‍स व फलाईट चार्ट पर 6 महिने तक अथक व सतत परिश्रम करके हजारो मोबाइल नंबरो में से मुल्‍जिम का वास्‍तविक मोबाइल नं. प्राप्‍त किया जो आरोपी के पास में थे और जो ठगी में प्रयुक्‍त मोबाइल नं व आरोपी के वास्‍तविक नंबर का विश्‍लेषण किया गया तो पाया कि उनमें काफी अवांछित कॉल व एक समान लॉकेशन मिलती रही जिससे ये सुनिश्‍चित हो गया कि आरोपियो द्वारा ये मोबाइल नंबर काम मे लिया जा रहा है । आरोपीगण कम्‍प्‍यूटर तकनीकी में काफी एक्‍सपर्ट थे इसी कारण आरोपियो ने अवैध मोबाइल , बैंक खाते व अन्‍य दस्‍तावेजो का संकलन कर लिया । मुल्‍जिमान अपने वास्‍तविक नंबरो से ऑन लाईन्‍ा शॉपिंग किया करते थे जिनमें से एक फुड हॉम डिलीवरी करने वाली एक जॉमेटो कंपनी भी थी , जॉमेटो कंपनी से आरोपियो की ऑर्डर डिलीवरी एड्रेस प्राप्‍त कर अनुसंधान अधिकारी गौरव खिडिया उनि के नेतृत्‍व जगदीश कानि व अशोक कुमार कानि को आरोपियो की गिरफतारी के लिये दिल्‍ली रवाना किया गया। दिल्‍ली पहुंचकर जोमेटो द्वारा बताया गये घर व ऑफिस की तस्‍दीक की गयी। बाद आरोपियो के द्वारा ऑफीस आने जाने का रुट चार्ट का मालूमात किया गया। 25 जनवरी को आरोपी जैसे ही ऑफिस पहुंचे तो तुरन्‍त गठीत पुलिस टीम द्वारा गिरफतार कर पुलिस थाना सदर जिला बीकानेर लाया गया , व न्‍यायालय में पेश किया गया ।
तरीका ए वारदात
ये आरोपी सीनीयर सिटीजन लोगो को व महिलाओ को बीमा के लाभांश का झांसा देकर उनसे ठगी करते थे और उनसे किस्‍तो में रुपये अपने खातो में जमा करवा लेते और नेट बैंकिग के माध्‍यम से अपने चिन्‍हीत खातो में रुपये ट्रांसफर कर लेते थे ।

बीकानेर : 70 वें गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह डॉ. करणीसिंह स्टेडियम में आयोजित

सावधान : अब आपके कंप्यूटर पर रहेगी सरकार की नजर

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

Leave a Reply