राजस्थान : किसानों की आय को 2022 तक दूगना करने पर विचार विमर्श

Nabard agriculture Meeting 2019

बीकानेर। जिले में नाबार्ड की वित्तीाय सहायता से बने 08 उत्पादक संगठनों यथा 03 बीकानेर व डॅूगरगढ 05 लुणकरणसर के निदेशकों व कार्यकारी अधिकारियों तथा अग्रणी जिला प्रबंधक कषि विभागए कषि विज्ञान केन्द्र बीकानेर तथा आत्मा, बीकानेर के अधिकारियों की कार्यशाला होटल सागर पैलेस बीकानेर में आयोजित की गई।

राजस्थान : बेरोजगारी भत्ते में पांच गुना बढ़ोतरी, स्नातक पुरूष बेरोजगारों को 3000, महिला तथा विशेष योग्यजन बेरोजगारों को 3500 रू. बेरोजगारी भत्ता

Nabard agriculture Meeting 2019, Bikaner कार्यशाला में मुख्य अतिथि के रुप में  ए.एच. गौरी अतिरिक्त  जिला कलेक्टर ने किसान उत्पादक संगठन के पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि संगठन के मार्फत किसानों में जागरुकता लानी चाहिए तथा रोड मैप बनाकर किसानों की आय को 2022 तक दूगना करने में मदद करनी चाहिए, उत्पादक संगठन के माध्यम से किसानों को उन्नकत तकनीकी उपलब्ध करवानी जानी चाहिए। जिससे किसानों की उत्पादकता में बढोतरी की जा सकें तथा उनकी आय बढ सकें छोटे तथा सीमांत किसानों को भी उत्पाोदक संगठनों से जोडकर उनको भी अपने उत्पादन का और  बेहतर मूल्य दिलाने का प्रयास करना चाहिए। जिससे छोटे किसानों को भी मुख्यक धारा से जोडा जा सकें किसान उत्पादक संगठन का मुख्य लक्ष्य है कि किसान संगठित होकर अपने उत्पाद का बेहतर मूल्य प्राप्त कर सकें जो कि उसका मौलिक अधिकार है।

राजस्थान : गरीबों को सस्ता इलाज उपलब्ध करवाएं प्राइवेट अस्पताल : मुख्यमंत्री
कषि विभाग से पधारे उदय भान द्वारा किसानों को संगठित होकर जैवीक कषि की ओर बढने के लिए प्रेरित किया गया
कषि विश्वतविद्यालय बीकानेर से कार्यशाला में पधारे वरिष्ठि वैज्ञानिक मधु शर्मा तथा राजेश शर्मा ने किसान उत्पादक संगठनों को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए सुझाव दिये जिनको अपनाकर कृषक संगठन अपनी आय को दूगना कर सकते है।
कार्यशाला में कृषि विज्ञान केन्द्र से पधारें वरिष्ठ  वैज्ञानिक डॉं मदन लाल तथा उपेन्द्र  मील  द्वारा किसानों को उन्नत कृषि माध्यमों की जानकारी विस्तासर से दी जिनकों अपनाकर किसान अपने उत्पाादन में बढोतरी कर सकते है।
जिला विकास प्रबंधक रमेश ताम्बिया तथा अग्रणी जिला प्रबंधक एन.के.गौड द्वारा बताया गया कि किसान उत्पादक संगठन से जुडने से पूर्व किसानों को उत्पादन की उचित लागत प्राप्त करने में भी भारी परेशानी का सामना करना पडता था और उत्पाादक संगठन के साथ अब उनको अपने उत्पा्द विक्रय के लिए कई विकल्प उपलब्ध हो रहें है जैस ई.नेम तथा एनसीडीएक्सद यह केवल किसान उत्पादक संगठन की शुरुआत से ही संभव हो पाया है। किसान उत्पादक संगठन के रुप में किसानों को नई तकनीकी उपल्बकध हो सकेगी तथा संगठन में होने से किसानों को उनके उत्पाथदन का उचित मूल्य मिलना संभव हो सकेगा और 2022 तक किसानों की आय को दूगना करने में मदद मिलेगी।

भारत पर्व में राजस्थान मण्डप का केन्द्रीय पर्यटन राज्य मंत्री और पर्यटन सचिव ने किया अवलोक
कायर्शाला के माध्याम से किसान उत्पादक संगठन के किसान बंधुओं को आश्वस्त  किया कि कार्यशाला में बताये गये बिन्दुओं का अनुसरण करने से किसानों को सशक्त किसान बनने में मदद मिलेगी और किसान आत्मगनिर्भर तथा खुशहाल होगा भविष्य  का किसान उत्पादक संगठन के माध्यम से अपने उत्पाद को बाजार में बेहतर मूल्य में बेचने में समर्थ हो सकेगा।

इंडिया स्टोन मार्ट-2019 : प्राकृतिक खनिजों के दोहन में आधुनिक एवं वैज्ञानिक तरीके अपनाएं जाएं : मुख्यमंत्री

रिश्ते के भाई ने शादी का झांसा देकर बहन को बनाया हवस का शिकार 

गडकरी ने कहा कि अब भारत बदल रहा , बीकानरे को मिलें तीन नए राष्ट्रीय राजमार्ग

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

Leave a Reply