Rajasthan : किसानों के हित में राज्य सरकार के प्रयासों में सहयोग करे नाबार्ड : मुख्यमंत्री

NABARD to support state government's efforts in the interest of farmers: Chief Minister
जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि नाबार्ड के स्टेट फोकस पेपर 2019-20 के तहत कुल 1.94 लाख करोड़ रुपए की संस्थागत ऋण वितरण योजना से राज्य के कृषि, एमएसएमई सहित अन्य क्षेत्रों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा है कि नाबार्ड को राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में लागू की जा रही विभिन्न योजनाओं में भी सहयोग करना चाहिए।
श्री गहलोत मुख्यमंत्री निवास पर नाबार्ड के वर्ष 2019-20 के लिए राजस्थान स्टेट फोकस पेपर के विमोचन के अवसर पर नाबार्ड के अधिकारियों से चर्चा कर रहे थे।
NABARD to support state government's efforts in the interest of farmers: Chief Ministerमुख्यमंत्री को नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक सुरेश चन्द ने बताया कि स्टेट फोकस पेपर में अप्रेल से शुरू होने वाले आगामी वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए राजस्थान में कृषि सहित 1.94 लाख करोड़ रूपये के संस्थागत ऋण वितरण की संभाव्यता का आकलन किया गया है। यह वर्ष 2018-19 के वार्षिक लक्ष्य 1.63 लाख करोड़ रूपये के मुकाबले करीब 19 प्रतिशत अधिक है।
स्टेट फोकस पेपर के अनुसार, कृषि क्षेत्र में 1.34 लाख करोड़ रुपये के ऋण दिए जाने का लक्ष्य है, जो कुल ऋण राशि का 69.39 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि इससे कृषि में पूंजी निर्माण की वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए इस क्षेत्र में निवेश बढ़ेगा। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम क्षेत्र में 36,032 करोड़ रुपए ऋण राशि का वितरण संभावित है। नाबार्ड ने नए किसानों को ऋण के साथ ही एमएसएमई क्षेत्र में नए उद्यमों को भी मदद देने का लक्ष्य रखा है।
मुख्यमंत्री ने नाबार्ड को स्टेट फोकस पेपर के लिए बधाई दी और कहा कि राज्य सरकार पूरी प्रतिबद्धता के साथ किसानों के कल्याण की दिशा में निरंतर काम कर रही है। उन्होंने नाबार्ड की योजनाओं की तारीफ करते हुए कहा कि ऎसी संस्थाएं किसानों और ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के लिए निरन्तर प्रयासरत हैं। उन्होंने कहा कि इनसे प्रदेश सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों को बल मिलेगा।
इस अवसर पर कृषि एवं पशुपालन मंत्री लालचन्द कटारिया, मुख्य सचिव डी.बी. गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य सचिव कृषि एवं पशुपालन पवन कुमार गोयल, नाबार्ड के महाप्रबंधक ललित मौर्य, अजय बत्रा एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply