रसोई उत्सव अंतिम पायदान पर, मिठाई के स्वाद, चाट के चटकारों के साथ ही लंच-डीनर का आनंद

Rajasthan News : On the kitchen festive finale, the taste of sweets, the lunch enjoying with chat in Jaipur
जयपुर। जल महल के सामने राजस्थान हाट पर चल रहे रसोई 2019ः स्वाद राजस्थान का उत्सव अपने अंतिम पायदान पर पंहुच गया है। उद्योग आयुक्त डॉ. कृृष्णाकांत पाठक ने बताया कि रसोई उत्सव का रविवार को अंतिम दिन रहेगा।
 रसोई उत्सव में जयपुराइट्स द्वारा खान-पान पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है। गंगापुर का खीर मोहन, चौमू की बर्फी, दौसा के डोयटे, सांगानेर का घेवर, पुष्कर के मालपुएं, लहरियां गुलाब जामुन समोसे, महाबीर रबड़ी आदि मौके पर ही तैयार होने से खरीदारों द्वारा इन्हें हाथोंहाथ लिया जा रहा हैं वहीं जैसलमेर के घोटुवा और पंचधारी लड्डू, पोखरण के गाल के लड्डू के साथ ही नमकीन की जोरों से खरीदारी हो रही है।
Rajasthan News : On the kitchen festive finale, the taste of sweets, the lunch enjoying with chat in Jaipur जयपुराइट्स के चाट-चटकारों की चाहत को देखते हुए रसोई उत्सव में व्यंजन के शेखावाटी के दही बड़े, कांजी बड़े, जोधपुर के मिर्च बड़े, सांगानेर की दालमोठ, नसीराबाद के कचोड़ा, गोलगप्पों के चटकारें लगाए जा रहे हैं। रसोई में पंजाबी ढ़ाबा भी लोगों को अपनी और खींच रहा है वहीं चौखी ढ़ाणीकी स्टॉलों पर जयपुराइट्स लंच और डीनर का आनंद ले रहे हैं। महाबीर की रबड़ी के साथ ही बेजड़ की रोटी और आलू प्याज की सब्जी पंसद की जा रही है। दाल बाटी चूरमा रसोई में आने वाले लोगों के आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है।
 आयुक्त डॉ. पाठक ने बताया कि रसोई उत्सव में आने वाले जयपुराइट्स की अवेयरनेस के लिए तेल और मसालों की डिसप्ले प्रदर्शनी भी लगाई गई है और राइटअप के माध्यम से विस्तार से जानकारी दी गई है।
Rajasthan News : On the kitchen festive finale, the taste of sweets, the lunch enjoying with chat विदेशों में निर्यात कर रहे श्याम धनी के रामावतार अग्रवाल और ऑयल फैडरेशन के अध्यक्ष मनोज मुरारका ने बताया कि रसोई उत्सव के रेस्पांस से प्रतिभागी उत्साहित है और चाहते हैं कि इस तरह के सालाना आयोजन होने चाहिए। उत्सव में साबुत और पिसे हुए मसाले व मसालों की पिसाई के लिए चक्की भी लगाई गई है। चाक पर मिट््टी के पात्र बनाए जा रहे हैं वहीं घाणीलगाने के साथ ही लोहे के बरतन भी रखे गए हैं।
 संयुक्त निदेशक एसएस शाह ने बताया कि शनिवार को सुबोध महाविद्यालय द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां दी गई वहीं रविवार को दोपहर साढ़े बारह से बृृज होरी का आयोजन किया गया है। शनिवार को कपल्स का दाल बादी चूरमा व्यंजन प्रतियोगिता आयोजित की गई वहीं रविवार को बच्चों का नो नाईफ नो फ््लेम व्यंजन प्रतियोगिता का आयोजन होगा।

www.hellorajasthan.com की ख़बरें फेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें

Leave a Reply