राजस्थान :यादवेंन्द्र शर्मा ‘चंद्र’ के साहित्य से मिली दलित स्त्री विमर्श को नई दिशा : डाॅ. मेघना शर्मा

Dr.Meghna Sharma, MGSU

उदयपुर। महाराजा गंगासिंह यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर वीमेन्स स्टडीज की डायरेक्टर डाॅ. मेघना शर्मा ने कहा ‘‘ यदि भीम राव अंबेडकर ने महिला वर्ग को आगे बढ़ने में कानूनी सुरक्षा प्रदान की तो यादवेंन्द्र शर्मा ”चंद्र” सरीखे साहित्यकारों ने अपने उपन्यासों ‘‘लुगाईजात’ और ‘‘गुलाबारी’’ के जरिए दलित स्त्री विमर्श को समाज के चिंतन का विषय बनाने के प्रयास किए और उस वर्ग की स्त्रियों को अपने अधिकारों के प्रति सजग कर दृढ बनाने में योगदान दिया। डाॅ. मेघना शर्मा जनार्दन राय नागर विश्वविद्यालय में इंडियन काउंसिल ऑफ सोशल रिसर्च के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित छठी उत्तर क्षेत्रिय समाज विज्ञान परिषद कें दलित वीमन डिस्कोर्स (हिस्ट्री, ग्लोबलाइजेशन एंड कंटेपररी सीनेरियो) विषय पर आयोजित सत्र को संबोधित कर रही थी। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के प्रो. भगत ओनियम व सह अध्यक्षता साहित्य संस्थान के निदेशक प्रो. खड़कवाल ने की।

राजस्थान : किसानों को गहलोत सरकार की सौगात, मिलेंगे एक लाख कनेक्शनRajasthan News : Yadvendra Sharma Chander provide new direction to Dalit women: Dr. Meghna Sharma
डाॅ. मेघना शर्मा ने दलित महिला जागृति के तीन चरणों का उल्लेख करते हुए कहा कि 1956 के धर्म परिवर्तन, 1975 के महिला आंदोलनों और 1990 के उदारवाद ने इस चिंतन को देश दुनिया तक पहुंचाया और इस विषय में नए आयाम स्थापित किए।
इस त्रिदिवसीय समाज विज्ञान परिषद् में दिल्ली विश्वविद्यालय, अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय, लखनऊ विश्वविद्यालय, सुखाडिया विश्वविद्यालय, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, नेताजी सुभाष खुला विश्वविद्यालय, गुजरात केंद्रीय विश्वविद्यालय, राजस्थान के केंद्रीय विश्वविद्यालय, कश्मीर विश्वविद्यालय, हैदराबाद विश्वविद्यालय, राजस्थान विश्वविद्यालय, जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय, दयालबाग विश्वविद्यालय आगरा, मणिपाल विश्वविद्यालय आदि के विद्वानों व प्रतिभागियों ने भी मंच से अपने विचार साझा किए। Rajasthan News : Yadvendra Sharma Chander provide new direction to Dalit women: Dr. Meghna Sharma, UDAIPUR STORY.
इससे पूर्व डाॅ. मेघना ने साहित्य संस्थान व संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली द्वारा साउथ एशियन यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली की प्रो. कविता शर्मा के साथ प्रोजैक्ट निदेशक बी. एम. मल्ला व जनार्दन राय नागर विश्वविद्यालय के कुलपति कर्नल प्रो. सारंगदेवोत की अध्यक्षता में तीस से चालीस हजार वर्ष पुरानी विश्व स्तरीय शैलचित्रों की प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में भी शिरकत की जिसमें बीजभाषण प्रो. जीवनसिंह द्वारा “अरावली पर्वत श्रृंखलाओं के शैल चित्र” विषय पर दिया गया।

शराब पीने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी, प्रदेशभर की मदिरा दुकानों की हुई जांच

CM गहलोत ने आखिर PM मोदी को लिखा पत्र, किसानेां का कर्ज माफ करने का किया आग्रह

PM मोदी ने किया दादरा और नगर हवेली में 1400 करोड़ रूपये की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल पूर्व सैनिकों के साथ देखेंगे फ़िल्म उरी

सावधान : अब आपके कंप्यूटर पर रहेगी सरकार की नजर

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

Leave a Reply