Bikaner : अन्तर्राष्ट्रीय सेमीनार में फारसी दस्तावेजों पर उच्चस्तरीय शोध

International Seminar 2019 of Archives, Bikaner

बीकानेर। राजस्थान राज्य अभिलेखागार, बीकानेर तथा यूनिवर्सिटी ऑफ एक्जिटर, यू.के. के संयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय सेमीनार कम वर्कशॉप के दुसरे दिवस फारसी फरमानों पर वर्कशॉप का आयोजन किया गया। इस वर्कशॉप में फारसी फरमानों के तहत वकील रिपोर्टस, फरमान, निशान, खरीता अखबार-रा-दरबार-ए-मुअल्ला तथा अर्जदाश्त महाजगान पर गहनता से अध्ययन, चर्चा व शोध किया गया।
 International Seminar 2019 of Archives, Bikanerफारसी दस्तावेजों के अध्ययन में जहॉ अभिलेखागार से सेवानिवृत फारसी भाषा के विशेषज्ञ डॉ. सुजाउदीन ने कई अहम व कठिन फारसी शब्दों का अर्थ बताया तथा अरबी-फारसी शोध संस्थान, टोंक के फारसी भाषा विशेषज्ञ सलाउदीन कमर व डॉ. जमील की चर्चा ने वर्कशॉप को अंतरराष्ट्रीय उंचाईयॉ प्रदान की।
इस अवसर पर लंदन से इंटरनेट के द्वारा जुड़ी डॉ. नंदिनी चटर्जी, निदेशक, साउथ एशियन स्टडी विभाग, यूनिवर्सिटी ऑफ एक्जिटर, यू.के. ने फारसी दस्तावेजों की इस वर्कशॉप को अंन्तरराष्ट्रीय शोध के लिये अत्यंत उपयोगी बताया। वही कुछ दस्तावेजों पर उन्होंने अपनी बात भी रखी।
 International Seminar 2019 of Archives, Bikanerअलीगढ विश्वविद्यालय से प्रोफेसर सम्बूल हसन ने वकील रिपोर्टस तथा अर्जदाशत से जुडे कई प्रश्नों से वर्कशॉप को माहौल ही बदल दिया। राजस्थान राज्य अभिलेखागार के निदेशक डॉ. महेन्द्र खड़गावत ने अभिलेखागारिय की विभिन्न फारसी श्रृंखलाओं पर विस्तृत जानकारी उपलब्ध करवाई तथा फारसी फरमानों के प्रकाश में मुगलकालीन भारत एवं राजपूत शासक भाग-1 से भाग-4 से कई ऐतिहासिक घटनाओं का उल्लेख किया। शाहजहां के उतराधिकार संघर्ष में जयपुर के मिर्जा राजा जयसिंह की उच्च कूटनीति से लेकर फरमानों व फारसी दस्तावेजों के प्रिन्ट तक पर विस्तृत चर्चा हुई। International Seminar 2019 of Archives, Bikaner
राम्या श्रीनिवासन, यूनिवर्सिटी ऑफ पेन्सिलवेनिया (यू.एस.ए.), डॉ. एलिजाबेथ थेलन, यूनिवर्सिटी ऑफ एक्जिटर (यू.के.) तथा डॉ. डोमिनिक वेंटेल, यूनिवर्सिटी ऑफ एक्जिटर (यू.के.) ने वर्कशॉप को अदभूत अनुभव बताया।
तीसरे दिन अभिलेखागारिय राजस्थानी दस्तावेज के विभिन्न प्रकार के दस्तावेज – बही, तोजी, पट्टा, परवाना, मिसल, ताम्र-पत्र, मारवाड़ी, ढुढाड़ी, हाडौती, बांगडी, मेवाती इत्यादि पर विस्तृत शोध, अध्ययन व चर्चा होगी।

बीकानेर : जातीय संकीर्णता का देश में हावी होना राष्ट्र के लिए अशुभ : पद्मश्री सुरेंद्र शर्मा

Bikaner : भाजयुमो का विजय शंकर 2019 अभियान शुरू फिर से बनेगी मोदी सरकार :सैनी

हर ताजा खबर जानने के लिए हमारी वेबसाइट www.hellorajasthan.com विजिट करें या हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडल,गूगल प्लस से जुड़ें। हमें Contact करने के लिएhellorajasthannews@gmail.comपर मेल कर सकते है।

Leave a Reply