8 लाख निर्माण श्रमिकों पर भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना लागू

श्रम मंत्री टीटी ने स्वास्थ्य मंत्री को सौंपा 33 करोड़ का चैक

8 लाख निर्माण श्रमिकों पर भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना लागू 1जयपुर। राज्य के आठ लाख से अधिक निर्माण श्रमिकों के लिए अच्छी खबर है। इन सभी निर्माण श्रमिकों के लिए भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना  एक जनवरी-2016 लागू की गई है। विधानसभा में श्रम नियोजन, कौशल मंत्री सुरेन्द्रपाल सिंह टीटी ने स्वास्थ्य मंत्री राजेन्द्र राठौड़ को 33.06 करोड़ रूपये का चैक सौंपा। टीटी ने बताया कि योजनान्तर्गत सभी निर्माण श्रमिकों को 30 हजार से 3 लाख तक की सभी सरकारी व चुने हुए निजी चिकित्सालयों में सभी सामान्य व गम्भीर बीमारियों के कैशलैस इलाज की सुविधा प्राथमिकता से मिलेगी। निर्माण श्रमिक को अपना राशनकार्ड व श्रमिक कार्ड लेकर संबंधित चिकित्सालय में लेकर जाना होगा, उसे वहां कैशलेस इलाज की सुविधा मिलेगी। स्वास्थ्य मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने संबंधित अधिकारियों को इस संदर्भ में निर्माण श्रमिकों को योजनान्तर्गत तुरन्त राहत प्रदान करने का निर्देश दिये हैं। राठौड़ ने इतनी बड़ी संख्या में निर्माण श्रमिकों को भामाशाह योजनान्तर्गत कवर प्रदान करने हेतु टीटी का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर श्रम शासन सचिव रजत मिश्रा, टीटी के विशिष्ट सहायक नरेश गोयल, भवन निर्माण श्रमिक बोर्ड के सचिव व अतिरिक्त श्रम आयुक्त विष्णु शर्मा उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि टीटी के निर्माण श्रमिकों के जीवन बीमा व स्वास्थ्य बीमा के क्षेत्र में नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं। निर्माण श्रमिकों को अब दुर्घटना में मृत्यु पर भवन निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड की ओर से 5 लाख रुपये, आम आदमी बीमा योजनान्तर्गत 75 हजार, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजनान्तर्गत 2 लाख रुपये इस प्रकार कुल 9.75 लाख रूपये तथा इसी प्रकार दुर्घटना में स्थायी अपंगता पर 5.75 लाख रूपये तथा सामान्य मृृत्यु पर 4.30 लाख रूपये तक की सहायता राशि देय है।