कुलपति प्रो. गहलोत छत्तीसगढ़ कामधेनू विश्वविद्यालय की कार्य परिषद् में सदस्य मनोनीत

बीकानेर। छत्तीसगढ़ के राज्यपाल और छत्तीसगढ़ कामधेनू विश्वविद्यालय के कुलाधिपति के निर्देश पर वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. ए.के. गहलोत को छत्तीसगढ़ कामधेनू विश्वविद्यालय दुर्ग की प्रथम कार्य परिषद् में सदस्य मनोनीत किया गया है। कुलपति प्रो. गहलोत का सदस्य रूप में मनोनयन देश के प्रख्यात पशुचिकित्सा वैज्ञानिक रूप में किया गया है और उनका कार्यकाल 4 वर्ष का होगा। विश्वविद्यालय की कार्य परिषद् में अन्य सदस्यों में महाराष्ट्र पशु एवं मत्स्य विज्ञान विश्वविद्यालय, नागपुर के कुलपति भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् के सहायक महानिदेशक (पशु पालन) और एक पूर्व कुलपति को शामिल किया गया है। उल्लेखनीय है कि कुलपति प्रो. गहलोत वेटरनरी कौंसिल ऑफ इण्डिया के निर्वाचित सदस्य के अलावा पशुचिकित्सा एवं अनुसंधान की कई राष्ट्रीय संस्थाओं जैसे भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद्, भारतीय कृषि विश्वविद्यालय एसोसिएशन, तमिलनाडु वेटरनरी विश्वविद्यालय में भी विशेषज्ञ सदस्य के रूप में जुड़े हुए है। जम्मू और कश्मीर के राज्यपाल और कुलाधिपति ने शेर-ए-कश्मीर कृषि विज्ञान एवं तकनीकी विश्वविद्यालय की परिषद् में विशेषज्ञ सदस्य के रूप में भी मनोनीत किया गया है। भारत सरकार के केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् की अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजनाओं की समीक्षा कमेटी में प्रो. गहलोत को नामित किया है। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् द्वारा भी प्रो. गहलोत को एमेरिट्स साइंटिस्ट स्कीम की सलेक्षन कम स्टैंडिंग कमेटी का सदस्य और राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसंधान केन्द्र, बीकानेर के लिए गठित पंचवर्षीय समीक्षा समिति (क्यू.आर.टी.) का अध्यक्ष भी मनोनीत किया गया है। प्रो. गहलोत को एक प्रख्यात पशुचिकित्सा वैज्ञानिक और कुशल प्रशासक की हैसियत से प्रो. गहलोत के मनोनयन से देश में पशुचिकित्सा, शिक्षा और तकनीकी के क्षेत्र में उनकी विशेषज्ञ सेवाओं का लाभ मिल सकेगा।

पाइए हर खबर अपने फेसबुक पर।   likeकीजिए  hellorajasthan का Facebook पेज।