डॉ.नन्द किशोर त्रियंबक ज्योतिष अवॉर्ड से इटावा में सम्मानित

Today trending news,Today viral news, Google today news, Tourism Hindi News, Rajasthan Hindi News, Rajasthan latest story, latest news , Jaipur Hindi News, Jaipur Latest News, Raping Minor Girl, Shastri Nagar latest news, Pink City news, DR NANDS KISHORE ETAWA AWARD , Awarded Dr. Nand Kishore Triambak Astrology Award, Dr. Nand Kishore Triambak Astrology Award, Astrology Award, Astrology Award news, Astrology Award latest News, Bikaner Hindi News, Bikaner Latest news,

बीकानेर। विश्व ज्योतिष परिषद् इटावा उत्तर प्रदेश  द्वारा आयोजितप्रथम दो दिवसीय ज्योतिष धर्मसम्मेलन में बीकानेर के भर्गुज्योतिषाचार्य व द फोरकास्ट हाउस निदेशक डॉ नन्द किशोर पुरोहित का विशेष अभिनन्दन व त्रियंबक ज्योतिष अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।

Today trending news,Today viral news, Google today news, Tourism Hindi News, Rajasthan Hindi News, Rajasthan latest story, latest news , Jaipur Hindi News, Jaipur Latest News, Raping Minor Girl, Shastri Nagar latest news, Pink City news, DR NANDS KISHORE ETAWA AWARD , Awarded Dr. Nand Kishore Triambak Astrology Award, Dr. Nand Kishore Triambak Astrology Award, Astrology Award, Astrology Award news, Astrology Award latest News, Bikaner Hindi News, Bikaner Latest news,डॉक्टर नंदकिशोर को यह सम्मान अवार्ड भारतीय सनातन वैदिक संस्कृति ज्योतिष ज्ञान का प्रचार प्रसार करने में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया गया |

डॉ पुरोहित को सम्मान स्वरूप एक स्मृति चिन्ह अभिनन्दन पत्र व दुप्पटा ओढ़कर व पुष्पगुच्छ भेंट किए गए। डॉ पुरोहित का सम्मान व अवार्ड देने वालो में प्रमुख रूप से विश्व ज्योतिष परिषद् इटावा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एच आर मित्तल व एच एस रावत राजीव शर्मा अध्यक्ष अखिल भारतीय सरस्वती ज्योतिष मंच अक्षय शर्मा श्रीमती मितल प्रमुख थे।

इस अवसर पर डॉ पुरोहित ने कहा भाग्य से कर्म जुड़कर ही तय होता है हमारा भविष्य  हम अपना गुजरा हुआ कल जो  जा चुका है समय उसे नहीं बदल सकते व वर्तमान को भी नहीं बदल सकते है। अगर समय से पूर्व व्यक्ति को अपने भविष्य की सही जानकारी मिल जाये वह वर्तमान में ज्योतिष के उपाय करके अपने कार्यो की दिशा बदल करके अपने भविष्य को बदलने की ताकत रखता है ऐसा पूर्व में कई बार होते हुए देखा गया है। आज के वैज्ञानिक युग में ज्योतिष को सिद्ध करने की आवश्यकता है, ज्योतिष एक प्रत्यक्ष का विज्ञानं है और  प्रत्यक्ष को प्रमाणिक करने आवश्यकता नहीं है और कई प्रकार की जानकर डॉ पुरोहित कार्यक्रम में दी। कार्यकम में सम्पूर्ण भारत से आए ज्योतिष वास्तु हस्त रेखा अंक ज्योतिष रेकी व अन्य संबधित विधाओ के विद्वानोंकी उपस्थित थे कार्यकम में इटावा उत्तर प्रदेशके कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

www.hellorajasthan.com की ख़बरें फेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें.