Top

कोरोना प्रभावित समुदाय की मदद को आगे आईं पेंट कंपनियां

कोरोना प्रभावित समुदाय की मदद को आगे आईं पेंट कंपनियां

नई दिल्ली, 5 जुलाई (आईएएनएस)। कोविड-19 के कारण अभी भी देश के कई हिस्सों में बंद और प्रतिबंध लागू हैं, जिसका बाजार पर व्यापक असर पड़ा है। कोविड-19 महामारी और उसके बाद के राष्ट्रव्यापी बंद ने देश में श्रम बाजार को बुरी तरह प्रभावित किया है।

मौजूदा महामारी के दौरान कई पेंट कंपनियां वित्तीय सहायता के माध्यम से चित्रकारों (पेंटर) और ठेकेदारों को मदद देने के लिए आगे आई हैं। जैसे-जैसे चित्रकला (पेंटिंग) गतिविधियां रुकने लगीं, इसका चित्रकार समुदाय की आजीविका पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है।

इनमें से ज्यादातर दैनिक मजदूर और पेंट व्यवसाय की निरंतरता के अभिन्न अंग हैं।

कंसाई नेरोलैक पेंट्स लिमिटेड ने नेरोलैक प्रीमियम पेंटर प्रगति (एनपीपी प्रगति) प्रोग्राम के तहत आने वाले अपने चित्रकार समुदाय के लिए एक प्रारंभिक फंड का भुगतान किया है। नेरोलैक की पहल से 30,000 से अधिक चित्रकार लाभान्वित हुए हैं।

कंपनी के कार्यकारी निदेशक अनुज जैन ने एक बयान में कहा कि कंपनी ने इस वर्ष चित्रकार समुदाय के समर्थन और प्रतिबद्धता को दोहराया है, जो कोविड-19 के दौरान गंभीर वित्तीय तनाव का सामना कर रहे हैं।

कोविड-19 महामारी का हर क्षेत्र पर प्रभाव पड़ा है। ऑटोमोबाइल क्षेत्र सबसे प्रभावित क्षेत्रों में से एक रहा है।

जापान के निपसिया समूह का हिस्सा निप्पॉन पेंट इंडिया (ऑटोमोटिव रिफाइनिश बिजनेस) ने भी इस दिशा में अच्छा काम किया है। कंपनी अपने सीएसआर कार्यक्रम सहयोग के तहत और ऑटोमोटिव रिफाइनिश व्यवसाय में 2,000 से अधिक श्रमिकों और चित्रकारों को आंतरिक रूप से धनराशि प्रदान की है।

एन स्क्वायर ट्रस्ट के माध्यम से फंड जारी किया गया है, जो निप्पॉन पेंट इंडिया के कर्मचारियों द्वारा संचालित और वित्त पोषित है। यह व्यवसाय से जुड़े चित्रकारों और रंग मिलानकर्ताओं (कलर मैचर्स) के कल्याण के लिए ऑटोमोटिव रिफाइनिश व्यवसाय है।

निप्पॉन पेंट इंडिया के अध्यक्ष शरद मल्होत्रा ने कहा, कोविड-19 महामारी ने भारतीय समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के कई सदस्यों को भारी झटका दिया है। यह महज हमारा कर्तव्य ही नहीं है, बल्कि हमारे साथी देशवासियों की मदद करने के लिए एक सौभाग्य भी है। बाकी ऑटोमोबाइल उद्योग के साथ-साथ ऑटोमोटिव रिफाइनिंग व्यवसाय अभूतपूर्व चुनौतीपूर्ण समय से गुजर रहा है और यह हमारा कर्तव्य है कि हम अपने समुदाय के सदस्यों की ओर देखें और उनके लिए एक सुरक्षित भविष्य सुनिश्चित करें।

बर्गर पेंट्स सीधे उन ठेकेदारों के बैंक खाते में पैसा ट्रांसफर कर रहा है जो कंपनी से जुड़े रहे हैं। उनकी देशभर में 20,000 से अधिक ठेकेदारों को कवर करने की योजना है।

कंपनियों के इन प्रयासों से उद्योग के सदस्यों के लिए एकजुटता दिखती है, जो महामारी के प्रकोप से आर्थिक मंदी के दौरान कठिनाई का सामना कर रहे हैं।

--आईएएनएस

Next Story
Share it