प्रदेश में अपराधों का ग्राफ बढ़ा,उपलब्धियां नगण्य: सचिन पायलट

0
  • जयनारायण बिस्सा

बीकानेर । प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा है कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पार्टी है न कि नेताओं की। यहां हर एक कार्यकर्ता के रूप में काम करता है और 18 से लेकर 80 तक सभी सदस्य पार्टी के कार्यकर्ता है और वरिष्ठों के लिये हमारे दिल में जगह है मंच पर हो न हो। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट शुक्रवार को यंहा पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

पायलट ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में न तो नागपुर के डंडे जैसी कोई परम्परा है और न ही मार्गदर्शक मंडल की रीति। यहां पार्टी के सभी कार्यकर्ता आजीवन स्वेच्छा से पार्टी की सेवा करते है। वहीं भाजपा मुद्दों को घसीटने वाली पार्टी है। कभी राम तो कभी गौ माता को लेकर हर बार चुनाव में उतरी भाजपा अब सता में आने के बाद दोनों को भूल गई। चाहे राम मंदिर निर्माण की बात हो या जयपुर में हजारों गायों मौत का मामला। भाजपा ने अब इन पर चुप्पी साध रखी है। उन्होने कहा कि भाजपा सदन में भी बहस करने से बचती है। ऐसी सरकार के खिलाफ कांग्रेस जनता की आवाज बनकर सदन से सडक तक विरोध प्रदर्शन करेगी। उन्होंने कहा कि आने वाला समय कांग्रेस का है,भाजपा की सरकार जायेगी और कांग्रेस की सरकार आयेगी। जिसको लेकर बीकानेर से चुनावी शंखनाद हो चुका है।
उन्होने कहा कि प्रदेश में अपराधों का ग्राफ तो बढ़ गया लेकिन उपलब्धियां नगण्य है। इस बात का खुलासा तो केन्द्रीय गृृहमंत्री की रिपोर्ट में भी हो चुकी है कि राजस्थान में गैंगवार, बलात्कार, लूट, हत्या, महिला उत्पीडन सहित अनेक अपराध बढ़े है। जहां तक उपलब्धियों की बात करें तो निजीकरण को बढ़ावा मिला है। स्कूलें,उद्योग,कारखाने बंद हो रहे है। जल स्वावलंबन के नाम पर लूट मची है। इस योजना में कितना रूपया लग रहा है,ये पैसा कहां से आया और किन लोगों से आया । इसका कोई हिसाब किताब नहीं है। लोगों की शिकायत है कि अधिकारी वर्ग उनसे चंदा वसूल रहे है।
पायलट ने भाजपा को दलित व किसान विरोधी पार्टी करार देते हुए कहा कि स्वतंत्रता के बाद पहला मौका है कि प्रदेश में किसी भी दलित को केबिनेट स्तर का मंत्री नहीं बनाया है। किसानों से जो चुनावी वादे किये उस पर भाजपा खरी नहंीं उतरी। अब तक दस लाख किसानमु आवजे से वंचित है। बिजली की दरें न बढ़ाने का वादा करने के बाद भी बिजली दरों में बढ़ोत्तरी कर हर वर्ग के साथ छलावा किया है। इस शासन में हर वर्ग दुखी है।
जनसुनवाई को महज दिखावा बताते हुए पायलट ने कहा कि आम मतदाता भाजपा की सुनता है। किन्तु जब उनकी बारी आती है तो कोई सुनवाई नहीं होती। मजे की बात ये है कि भाजपा में विधायक कार्यकर्ताओं की,मंत्री विधायकों की,प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री की सुनवाई तक नहीं करते। फिर आमजन की सुनवाई होना बेमानी लगता है। प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि ये जगजाहिर भी हो चुका है। अनेक बार विधायक और क ार्यकर्ता अपनी पीड़ा बयां भी कर चुके है। इतना ही नहीं मंत्री तक इस बात से पीड़ित है कि लाल फीताशाही हावी है।
इस दौरान सह प्रभारी मिर्जा इरशाद बेग,प्रतिपक्ष नेता रामेश्वर डूडी,डॉ बी डी कल्ला,अर्चना शर्मा,शहर अध्यक्ष यशपाल गहलोत,देहात अध्यक्ष महेन्द्र गहलोत उपस्थित थे।