सीबीएसई द्वारा टीचर्स के लिए कैपेसिटी बिल्डिंग प्रोग्राम का आयोजन

जयपुर। बारहवीं कक्षा के अंग्रेज़ी विषय में शिक्षकों में शिक्षण पद्धति एवं पेडागॉजी से संबंधित सामने आ रहीं चुनौतियों पर ध्यान कंेद्रित करने एवं उन्हें दूर करने के मकसद से केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से इंग्लिश टीचर्स के लिए क्षिप्रा पथ स्थित इंडिया इंटरनेशनल स्कूल में शुरू हुई दो दिवसीय कैपेसिटी बिल्डिंग प्रोग्राम का समापन हुआ।  इस कार्यशाला का आयोजन सीबीएसई सेंटर ऑफ एक्सेलेंस, गुरूग्राम के निर्देशन में किया गया। इस दो दिवसीय कार्यशाला के अंतर्गत इंग्लिश सब्जेक्ट में रीडिंग, राइटिंग एवं लिट्रेचर को पढ़ाने को लेकर शिक्षकों के सामने आ रही समस्याओं एवं उनके समाधानों पर विस्तार से चर्चा की गई। इसी के साथ ही सब्जेक्ट के सिलेबस को स्टूडेंट्स के लिए किस तरह से सरल बनाया जा सकता है इस बात पर भी विचार-विमर्श किया गया जिसके पश्चात् कई सुझाव सामने आए। इस कार्यक्रम में अजमेर रिजन के जाने-माने स्कूलों के 54 सीनियर इंग्लिश टीचर्स ने  हिस्सा लिया। इसके प्रथम सत्र में मौजूद थीं एस नीरदा, एडवाईज़र, ट्रेनिंग, सीबीएसई। इन्होंने इस वर्कशॉप के महत्व एवं उद्देश्य से अवगत कराया।

वर्कशॉप के दूसरे सत्र में लेखन शैली पर बात करने के लिए मौजूद थीं नई दिल्ली से रूचि सेनगर इन्होंने टीचर्स को बताया कि किस तरह से स्टूडेंट्स को आर्टिकल्स, लेटर लिखने के लिए तैयार करना है एवं किस तरह से उनमें लिखने की ललक पैदा करनी है। वहीं कार्यक्रम के अंतिम सत्र में रजनी जामिनी ने रीडिंग से संबंधित टीचर्स एवं स्टूडेंट्स में उत्पन्न हो रहीं समस्याओं का समाधान करने की कोशिश की। यह वर्कशॉप प्रतिभागियों के लिए काफी लाभकारी साबित हुई। कार्यक्रम के समापन समारोह में सभी पार्टिसिपेंट्स को सर्टिफिकेट वितरित किए गए। इस वर्कशॉप में ट्रेनिंग ले रहे टीचर्स में से 15 से 20 टीचर्स सीबीएसई द्वारा चुने जाएंगे जो प्रदेश के अन्य स्कूलों में इंग्लिश टीचर्स को ट्रेनिंग देंगे।