पंतजलि येागपीठ की दंत क्रांति टूथपेस्ट के विज्ञापन पर याचिका स्वीकार

येाग गुरु बाबा रामदेव के घी व शहद सहित अन्य उत्पादेां की होगी जांच
बीकानेर/श्रीगंगानगर । बीकानेर संभाग के श्रीगंगानगर जिले के रायसिंहनगर में बुधवार को अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ( एसीजेएम ) एसीजेएम न्यायालय के न्यायाधीश महेंद्र सिंह बेनीवाल ने पंतजलि येागपीठ के विरुद्व दंत क्रांति टूथपेस्ट के विज्ञापन पर दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए याचिका को स्वीकार कर लिया है। जिसमें विज्ञापन, बाबाराम देव की योग्यता और अन्य उत्पादेां की गुणवता शामिल है।
याचिकाकर्ता के अधिवक्ता जितेंद्र सेानी ने बताया कि डा.अशेाक गुप्ता ने पंतजलि येागपीठ के दंत क्रांति टूथपेस्ट के विज्ञापन पर वाद दायर किया जिसमें बताया गया है कि ‘‘ एक व्यक्ति सफेद कोट पहनकर किस प्रकार से झूठ बोल सकता है’’ इस विज्ञापन से मेरी व्यक्तिगत भावनाओं केा ठेस पहुंची है। इसके साथ ही चिकित्सा जगत का भी अपमान हुआ है, क्येंा कि एक चिकित्सक ही सफेद कोट पहनता है।
उन्होने बताया कि पंतजलि योग पीठ के द्वारा बनाये जाने वाले घी, शहद की गुणवता पर सवाल किया गया है। ये उत्पाद बाजार या अन्य स्थानों से खरीद कर येागपीठ के द्वारा बेचा जा रहा है। सेानी ने बताया कि याचिका में बाबा रामदेव के द्वारा बिना किसी चिकित्सकीय येाग्यता के लोगों को चिकित्सा की राय देना और दवाईयां देने का आरोप भी है।
न्यायालय ने पंतजलि येागपीठ के बाबा रामदेव और वैध बालकृष्ण के खिलाफ धारा 419, 420, 500 और 501 में परिवाद सुनवाई के लिए स्वीकार कर सीआपीसी की धारा 202 में न्यायिक जांच के आदेश दिये है। इस मामले में अगली सुनवाई 19 मई 2016 केा होगी।