Top

Diwali 2020 : दीवाली पर बन रहा सर्वार्थ सिद्धि योग, ऐसें करें लक्ष्मीपूजा, यंहा देखें शुभ मुहूर्त

Diwali 2020 : दीवाली पर बन रहा सर्वार्थ सिद्धि योग, ऐसें करें लक्ष्मीपूजा, यंहा देखें शुभ मुहूर्त

दीपावली (Diwali 2020)का पर्व हर बार कार्तिक मास में कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को मनाया जाता है। इस वर्ष 14 नवंबर यानी आज दिवाली मनाई जा रही है और घरों-घर लक्ष्मी पूजन होगा। माना जाता है कि इस दिन मां लक्ष्मी अपने भक्तों के घर पधारती हैं, इसलिए इस दिन मां लक्ष्मी और बुद्धि के देवता गणपति एवं ज्ञान की देवी सरस्वती की पूजा विधि-विधान के साथ की जाती है। जानिए कब करें पूजा (Lakshmi Puja Muhurat)

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त-

शाम का अतिश्रेष्ठ महालक्ष्मी पूजन मुहूर्त

17.10(शाम के 05-10) से 20.48(रात्रि के 08-48) तक प्रदोषकाल में

निशीथ काल-

22.25(रात्रि 10-25)से 23.14(रात्रि के 11-14) तक

महानिशीथ काल-

23.14(रात्रि 11-14) से 00.02 (रात्रि के 12-02)

15 नवम्बर तक

वृषभ लग्न-

17.44(शाम के 05-44) से 19.42(रात्रि के 07-42)तक रहेगा। इस लग्न में प्रदोषकाल का भी संलग्न है। इस समयावधि में महालक्ष्मीपूजन करना श्रेष्ठ रहेगा।

14 नवंबर, शनिवार को अमावस्या तिथि आरंभ- 14.18 से आरंभ होकर 15 नवंबर, रविवार को अमावस्या तिथि की समाप्ति। सुबह 10.36 पर समाप्त होगी।

प्रात: का अतिश्रेष्ठ महालक्ष्मीपूजन मुहूर्त

शनिवार, 14 नवंबर 2020 को अमावस्या का प्रवेश 14.18 (दिन को 02-18) से होगा। जो लोग अपने प्रतिष्ठानों में महालक्ष्मी पूजन प्रातः करते हैं, उनके लिए कुंभ लग्न दोपहर 12.59 से शुरू होकर 14.33(02-33) तक रहेगा। इसमें चंचल में समय 13.00(01-00) से 13.34(01-34) बजे तक फिर लाभ 13.34(01-34) से 14.33(02-33) बजे तक मिलता है। फर अमृत 14.57(02-57)से 16.20(04-20) बजे तक रहेगा।

(ज्योतिषाचार्य सुरेश कुमार आसवानी, जीवन दर्पण ज्योतिष केंद्र, बालाजी नगर माकड़वाली रोड वेशाली नगर अजमेर) संपर्क सूत्र – 9413761512 / 9610160966

Next Story
Share it