जयपुर: दूरदर्शन के शैक्षणिक चैनल्स पर प्रबंधन के गुर सिखाएंगे डाॅ. गौरव बिस्सा

Doordarshan's educational channels, Delhi Doordarshan, management tricks on Doordarshan, Dr.Gaurav Bissa will teach management tricks, Jaipur Hindi News, Rajasthan Hindi News, Bikaner Hindi News, Best management tricks, Hindi News, National today news, Today trending news, Today news, Latest news, India latest news, ताजा खबर, मुख्य समाचार, बड़ी खबरें, आज की ताजा खबरें,

जयपुर। मैनेजमेंट ट्रेनर डाॅ. गौरव बिस्सा अब दूरदर्शन के माध्यम से प्रबंधन के गुर सिखाएंगे। उन्होंने मानव संसाधन विकास मंत्रालय के ‘नेशनल मिशन इन एज्युकेशन थू्र इनफार्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी प्रोजेक्ट’ (एनएमईआईसीटी) के तहत तीस फिल्मों का निर्माण कर लिया है। डाॅ. बिस्सा इन फिल्मों में विषय विशेषज्ञ की भूमिका में दिखेंगे तथा दूरदर्शन के समस्त शैक्षणिक चैनल्स के माध्यम से देश और दुनिया के विद्यार्थियों को प्रशिक्षण देंगे।

डॉ. बिस्सा ने बताया कि यह फिल्म्स मार्केटिंग, एडवरटाइजिंग, सेल्स मैनेजमेंट, कन्ज्यूमर बिहेवियर, बिजनस कम्युनिकेशन और मानव व्यवहार से सम्बंधित हैं। उल्लेखनीय है कि डॉ. बिस्सा पूर्व में भी मानव व्यवहार और बिजनस मैनेजमेंट के क्षेत्र में फिल्में बना चुके हैं।

डॉ. बिस्सा ने बताया कि इन फिल्मों का निर्माण, संपादन और रिकॉर्डिंग का कार्य एनएमईआईसीटी  और एजुकेशनल मल्टीमीडिया रिसर्च सेंटर द्वारा किया गया है। फिल्मों के साथ विद्यार्थी फिल्म की स्क्रिप्ट, प्रमुख प्रश्न और उनके समाधान, वस्तुनिष्ठ और लघु उत्तरात्मक प्रश्न तथा नए और पुराने मैनेंजमेंट केसेज का भी अध्ययन कर सकेंगे। विद्यार्थियों को बेहतर ढंग से समझाने हेतु प्रत्येक फिल्म के साथ पॉवर पॉइंट पॉइंट प्रस्तुतीकरण भी संलग्न किया गया है जिसे विद्यार्थी वेबसाइट पर देख सकते हैं। देशभर में मैनेंजमेंट का अध्ययन कर रहे विद्यार्थियों के लिए यह अत्यंत उपयोगी साबित होगी तथा विद्यार्थी एक क्लिक से कंटेंट रिच लेक्चर, प्रश्नोत्तर और प्रस्तुतीकरण देख सकेंगे।

अंग्रेजी में बनी इन फिल्म्स हेतु निर्बाध रिकॉर्डिंग, शब्दशः समूची स्क्रिप्ट का लेखन, सम्पादन, पॉवर पॉइंट्स, प्रश्नोत्तर और क्विज का निर्माण तथा एनीमेशन डालने के बाद बनी फिल्म का की समीक्षा विशेषज्ञों द्वारा की जाती है। इसके बाद फिल्म तैयार होती है। विश्वविद्यालय के एकेडमिक कौंसिल के अनुसार फिल्म निर्माण कार्य को शैक्षणिक योगदान की संज्ञा दी जा चुकी है।

www.hellorajasthan.com की ख़बरें फेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें.