बीकानेर : स्वंतत्रता सेनानी हीरालाल शर्मा का निधन

0
Rajasthan Government, Latest Hindi News, Jaipur Hindi News, Jaipur today news, Today trending news, Today news, India latest news, Jaipur ke news,Kota Hindi News, ताजा खबर, मुख्य समाचार, बड़ी खबरें, आज की ताजा खबरें, Rajasthan Hindi News, Bikaner breaking News, Freedom fighter India latest news, Bikaner LATEST NEWS, ताजा खबर, मुख्य समाचार, बड़ी खबरें, आज की ताजा खबरें, Freedom fighter Hiralal Sharma Latest news, Freedom fighter Hiralal Sharma died in Bikaner Hiralal Sharma died in Bikaner , Freedom fighter Hiralal Sharma,

बीकानेर। बीकानेर के स्वतंत्रता सेनानी हीरालाल शर्मा का शुक्रवार देर रात पीबीएम अस्पताल में निधन हो गया। वे 95 वर्ष के थे और लंबे समय से अस्वस्थ चल रहे थे। वे खादी ग्रामोधोग में लंबे समय तक कार्यरत रहे। श्रीशर्मा ने स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण योगदान दिया था। उनके परिवार में तीन पुत्र व तीन पुत्रिया है।

स्वतंत्रता संग्राम का सफर
उनका जन्म 1924 में बीकानेर के बीदासर में हुआ था। उन्होने 1942 में उतरप्रदेश के कानपुर में स्वाधीनता आंदोलन में भाग लिया। 1948 के बाद कांग्रेस की सक्रिय राजनीति से जुड़े। इस दौरान 16 जून 1946 को रतन बिहारी पार्क, बीकानेर में राज्य प्रजा परिषद की सभा में भाषण देते हुए पब्लिक सेफटी एक्ट में गिरफतार कर लिया गया और उन्हे सात साल की सजा सुनाई गई थी। हालांकि बाद में उन्हे दो साल बाद ही रिहा करना पड़ा।

आजादी का जश्न कुछ इस तरह मनाया
स्वतंता सेनानी शर्मा ने बीकानेर रियासत की सेंट्रल जेल में आजादी के आंदोलन का समय बंद थे और यंहा पर जब देश की आजादी का 15 अगस्त 1947 को समाचार मिला तो जेल में ही आजादी का जश्न मनाया। इसके साथ ही जेल की दीवार पर तिरंगे का चित्र बनाकर उसे सलामी भी दी थी। इस पर तत्कालीन सुपरिडेंट ने इस पर आपति जताई और इन्होने अपने साथियों के साथ जश्न का जारी रखा।

उन्हे राज्य सरकार द्वारा व विभिन्न समाजसेवी संगठनों द्वारा आजादी के आदेालन में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए सम्मानित भी किया गया था। उनका यंहा राजकीय सम्मान के साथ गोगागेट स्थित दाधीच मुक्तिधाम में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

केंद्रीय मंत्री एंव सांसद अर्जुनराम मेघवाल ने शोक संवेदनाएं प्रकट करते हुए कहा कि वे हमेशा ही मार्गदर्शी और प्रेरणास्रोत बने रहेंगे। शर्मा ने देश की आजादी में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा की और स्वंतत्रता संग्राम के आंदोलन में आपकी सक्रिय भूमिका हमेशा आने वाली पीढ़ी को मार्गदर्शन देती रहेगी। वंही उर्जा मंत्री डा.बी.डा.कल्ला सहित अनेक नेताअेां,समाजसवी एंव प्रशासनिक अधिकारियेां ने स्वतंत्रता सेनानी के निधन पर शोक संवेदना प्रकट की है। उन्हे शहीद अमरचंद बांठिया स्मृति प्रथम रातीघाटी राष्ट्रीय पुरस्कार सहित अनेक पुरस्कार सम्मान स्वरुप मिले थे।

 

www.hellorajasthan.com की ख़बरें फेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें.