Top

पेरिस के पास शिक्षक की हत्या की फ्रांस के मुसलमानों ने की निंदा

पेरिस के पास शिक्षक की हत्या की फ्रांस के मुसलमानों ने की निंदा

पेरिस, 18 अक्टूबर (आईएएनएस)। फ्रांस में मुस्लिम समुदाय और इस समुदाय के नेताओं ने पेरिस उपनगर में एक शिक्षक की हत्या की निंदा की है। साथ ही इन लोगों ने इस तरह के जघन्य कृत्य के साथ इस्लाम को नहीं जोड़ने का आह्वान किया है।

गौरतलब है कि पेरिस के उपनगर में शुक्रवार की दोपहर को एक इतिहास के शिक्षक की चाकू मारकर हत्या कर दी गई। उन्होंने कथित तौर पर अपने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता कक्षा में विषय के उदाहरण के तौर पर विद्यार्थियों को पैगंबर मुहम्मद के कार्टून दिखाए थे।

एक फार्मास्युटिकल्स कंपनी के कार्यकर्ता इब्राहिम ने समाचार एजेंसी सिन्हुआ से कहा, एक निर्दोष व्यक्ति को उसकी धारणा के लिए सजा के तौर पर हत्या करना कहीं से भी उचित नहीं है। इस्लाम सहिष्णु बनने के लिए कहता है और दूसरों को वैसा ही स्वीकार करने के लिए कहता है जैसे वे हैं।

उन्होंने आगे कहा, सच्चे मुसलमान चरमपंथी नहीं हैं। बुरखा पहनना या घूंघट निकालना, दाढ़ी रखने का मतलब आतंकवादी होना नहीं है। आतंकवादी उन चीजों के लिए काम कर रहे हैं, जिनका इस्लाम से कोई संबंध नहीं है।

51 वर्षीय मुस्लिम व्यक्ति ने कहा कि उन्होंने मारे गए शिक्षक को श्रद्धांजलि देने, आतंकवाद का खंडन करने और शांति का संदेश देने के लिए रविवार दोपहर को आयोजित होने वाली सभा में शामिल होने की योजना बनाई है।

वहीं ग्रैंड पेरिस मस्जिद के कुलाधिसचिव हाफिज चेम्स-एड्डीन ने कहा कि वह इस अपराध से भयभीत हो गए।

उन्होंने ट्वीट किया, इस हमले में सबसे अधिक भयानक ये बात है कि यह मेरे धर्म इस्लाम के नाम पर किया जा रहा है। बस बहुत हुआ।

बोर्डिओक्स मस्जिद के इमाम तारेक ऊबरु ने कहा कि वह इस कृत्य से खिन्न हैं, क्योंकि यह बेहद भयानक कृत्य है, जो एक धर्म के नाम पर हुआ है। धर्म का किसी भी जघन्य कृत्य से कोई लेना-देना नहीं है।

वहीं फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉ ने शुक्रवार शाम को हुए इस्लामी आतंकवादी हमले की निंदा की, और आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए सरकार द्वारा त्वरित और ²ढ़ कार्रवाई का वादा करते हुए फ्रांसीसियों को एक साथ खड़े होने का आह्वान किया।

--आईएएनएस

एमएनएस-एसकेपी

Next Story
Share it