Top

अनुमति नहीं मिलने के बावजूद पीडीएम पेशावर में रैली करेगा

अनुमति नहीं मिलने के बावजूद पीडीएम पेशावर में रैली करेगा

पेशावर, 22 नवंबर (आईएएनएस)। पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) रविवार को पेशावर में चौथे शक्ति प्रदर्शन का मंचन करेगा, लेकिन शहर प्रशासन ने सार्वजनिक रैली आयोजित करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। प्रशासन ने कोरोना के नए मामलों में जबरदस्त वृद्धि के कारण अनुमति नहीं दी।

पीडीएम में देश के 11 विपक्षी दल शामिल हैं।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक, रैली को पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) की उपाध्यक्ष मरियम नवाज, जमीयत उलेमा इस्लाम-फजल (जेयूआई-एफ) और पीडीएम प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान, पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) के चेयरमैन बिलावल भुट्टो जरदारी और साथ ही अन्य विपक्षी नेता संबोधित करेंगे।

मरियम नवाज ने पुष्टि की है कि उनके पिता और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पेशावर की रैली को संबोधित नहीं करेंगे, वह किडनी संबंधी गंभीर पीड़ा के कारण ऐसा नहीं करेंगे।

पीएमएल-एन के खैबर पख्तूनख्वा चैप्टर के प्रवक्ता इख्तियार वली ने कथित तौर पर आयोजन स्थल के रास्ते में आने वाली बाधाओं का खंडन करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार पीडीएम की रैलियों से डर गई है।

उन्होंने कहा कि रविवार की रैली सरकार के खिलाफ एक जनमत संग्रह होगी।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार, शुक्रवार को पेशावर के डिप्टी कमिश्नर ने अनुमति देने से इनकार कर दिया था, उन्होंने कहा कि प्रांतीय राजधानी में कोविड-19 पॉजिटिविटी दर वर्तमान में खतरनाक रूप से ज्यादा है और 13 प्रतिशत से अधिक हो गया है।

आयुक्त ने कहा कि किसी भी बड़ी भीड़ से जानलेवा वायरस फैलने की आशंका बढ़ जाती है।

सोमवार को प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा राष्ट्र को दिए गए एक संबोधन के बाद शुक्रवार को यह फैसला सामने आया, जिसमें उन्होंने कहा था कि वह कोविड-19 पुनरुत्थान के मद्देनजर सार्वजनिक समारोहों पर अतिरिक्त प्रतिबंध लगा रहे हैं, जिसमें राजनीतिक रैलियों और समारोहों का आयोजन शामिल है।

खान की घोषणा के तुरंत बाद, पीडीएम ने घोषणा की थी कि वह सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंध के बावजूद अपनी रैलियों के साथ आगे बढ़ेगा।

रविवार की रैली पहले, दूसरे और तीसरे के बाद गठबंधन का चौथा शक्ति प्रदर्शन होगा, पहली रैली 16 अक्टूबर को गुजरांवाला में, दूसरी रैली 19 अक्टूबर को कराची में और तीसरी रैली 25 अक्टूबर को क्वेटा में आयोजित की गई थी।

पेशावर के बाद, पीडीएम दो और रैलियों का मंचन करने वाला है - 30 नवंबर को मुल्तान में और 13 दिसंबर को लाहौर में।

--आईएएनएस

वीएवी-एसकेपी

Next Story
Share it