Top

चीन विदेशी निवेशकों के लिए एक शीर्ष विकल्प बना हुआ है

चीन विदेशी निवेशकों के लिए एक शीर्ष विकल्प बना हुआ है

बीजिंग, 22 नवंबर (आईएएनएस)। कोविड-19 महामारी और बढ़ती जटिल और चुनौतीपूर्ण स्थितियों के बीच चीन का विदेशी पूंजी का वास्तविक उपयोग बढ़ रहा है, और विदेशी निवेशकों के लिए चीन एक शीर्ष विकल्प बना हुआ है।

चीन के वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों पर नजर डालें तो इस साल के पहले 10 महीनों में, चीन में विदेशी निवेश का वास्तविक उपयोग 6.4 प्रतिशत की दर से बढ़कर 800.7 अरब युआन हो गया है।

चीन में विदेशी निवेश का वास्तविक उपयोग साल-दर-साल 18.3 फीसदी बढ़कर इस साल अक्टूबर में 81.9 अरब युआन हो गया है। लगातर सात महीनों तक देश ने प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में सकारात्मक वृद्धि देखी है।

दरअसल, यह चीन के ²ढ़ संकल्प और कार्यों का नतीजा है, साथ ही चीन अपने खुलेपन के द्वार को खोलता जा रहा है। इसके अलावा, चीन ने कोरोना महामारी को प्रभावी ढंग से नियंत्रित किया है और उद्यमों को अपना कारोबार सामान्य रूप से संचालित करने के लिए आश्वस्त किया है।

चीन की विदेशी पूंजी प्रवाह में वृद्धि के पीछे एक और कारण है कि विशाल चीनी बाजार की क्षमता अंतर्राष्ट्रीय साझेदारों को अधिक सहयोग और विकास के अवसर प्रदान करती है।

हाल ही में, पूर्वी चीन के च्यांग्सू प्रांत के कुनशान शहर में कुनशान आर्थिक और तकनीकी विकास क्षेत्र में आधिकारिक तौर पर स्टारबक्स चाइना कॉफी इनोवेशन पार्क का निर्माण शुरू हुआ। इस वैश्विक कॉफी श्रृंखला ने इस साल मार्च में अमेरिका के बाहर अपने सबसे बड़े विनिर्माण निवेश की घोषणा की, और शिलान्यास समारोह में 15.6 करोड़ डॉलर का निवेश किया।

व्यापार और विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन द्वारा जारी की गई नवीनतम वैश्विक निवेश रुझान मॉनीटर रिपोर्ट के अनुसार, इस साल की पहली छमाही में वैश्विक एफडीआई में भारी गिरावट आयी है, खासतौर पर यूरोप और अमेरिका में सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली।

हालांकि, चीन में एफडीआई अधिक लचीला और स्थिर रहा। पहली छमाही में, चीन का प्रवाह 76 अरब डॉलर तक पहुंच गया, जो कि अपेक्षित गिरावट से कम रहा।

अन्य अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में, चीन महामारी नियंत्रण, उत्पादन बहाली, और आर्थिक रिकवरी में अग्रणी रहा है। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के विश्व आर्थिक आउटलुक ने भी पूवार्नुमान लगाया है कि इस साल सकारात्मक वृद्धि हासिल करने में चीन दुनिया की एकमात्र अर्थव्यवस्था होगी।

इस पृष्ठभूमि के खिलाफ, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में वृद्धि देखना चीन के लिए सामान्य है। चीन में निवेश करना विदेशी फर्मों के लिए बेहतर विकल्प बना हुआ है।

इससे साबित होता है कि विदेशी निवेश के लिए चीन के व्यापक बाजार का आकर्षण बदला नहीं है। औद्योगिक सुविधाओं, मानव संसाधनों और बुनियादी ढांचे में इसके व्यापक प्रतिस्पर्धात्मक लाभ में परिवर्तन नहीं हुआ है, और विदेशी निवेशकों के दीर्घकालिक निवेश और व्यापारिक अपेक्षाओं और चीन में विश्वास अपरिवर्तित है।

बहरहाल, मौजूदा स्थिर और सकारात्मक रूझान के चौथी तिमाही में भी जारी रहने की उम्मीद है, और पूरे साल विदेशी निवेश को स्थिर करने का लक्ष्य प्राप्त किया जाएगा।

(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

-- आईएएनएस

Next Story
Share it