जननी शिशु सुरक्षा योजना से चार हजार महिलाओ को नही मिला लाभ,करोडो रुपए का भुगतान अटका

0

बीकानेर।  राज्य सरकार की जननी शिशु सुरक्षा योजना के अंतर्गत पी.बी.एम अस्पताल में जिले की 4000 प्रस्तुता महिलाओ को देय राशि के लिए दर दर भटकने के लिए मजबूर होना पड रहा है।बीकानेर संभाग के सबसे बड़े पी. बी.एम अस्पताल की घोर लापरवाही और उपेक्षा का यह एक नमूना है। शहर जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनीता गौड़ ने कहा की महिला मुख्यमंत्री की अगुवाई में महिला शशक्ति करण के दावे खोखले साबित हो रहे है। युवा प्रस्तुताओ को दर दर भटकने की पीड़ा हो रही है।शहर जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनीता गौड़ ने गुरुवार को एस.पी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य और पी. बी.एम अस्पताल के नियंत्रक डॉ.आर.पी अग्रवाल से मिलकर ऐसी स्थिति पर रोष व्यक्त करते हुए तत्काल भुगतान की मांग की। उन्होंने कहा की जननी शिशु सुरक्षा योजना के अंतर्गत प्रस्तुताओ को घर बैठे ऑनलाइन बैंक खाते से मिलने वाली राशि 15 जून 2015  से 30 सितम्बर 2016 तक 2700 प्रस्तुताए इस लाभ से वंचित है।वही करोडो रूपए का भुगतान अटका पडा है। विभाग के कर्मचारीयो से मिली जानकारी अनुसार 1 जून 2016 से 14 अगस्त 2016 तक 1300 प्रस्तुताओ की नवजात बच्चियो के नाम से मिलने वाली राशि का भुगतान भी नही हुआ है। इस कारण से प्रस्तुताओ और उनके परिजनों के द्वारा विभाग के बार बार चक्र लगाने के बावजूद भी उन्हें जननी सुरक्षा योजना के लाभ से वंचित रखा गया है।श्रीमती गौड़ ने पत्र देकर 10 दिनो में वंचित प्रस्तुताओ को भुगतान करवाने की मांग की है।उन्होंने चेतावनी दी है की 10 दिन में भुगतान नही हुआ तो महिला कांग्रेस प्रस्तुताओ को साथ लेकर बड़ा आन्दोलन के लिए मजबूर होना पड़ेगा। इस अवसर पर जशोदा पांडुइ, संध्या द्विवेदी,परमेश्वरी बिश्नोई,रामेश्वरी बिश्नोई,संतोष भाटी,मुमताज बानो,संगीता वर्मा,मुस्कान बानो सहित महिलाए उपस्थित थी