महावीर जयन्ती रखेंगे अवकाश : शोभा यात्रा व मुख्य समारोह में होंगे शरीक

बीकानेर । भगवान महावीर स्वामी की 2615 वीं जयन्ती पर तीन दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। जैन महासभा के महामंत्री जैन लूणकरण छाजेड़ ने बताया कि भगवान महावीर जयन्ती के आयोजन से जुड़ी समस्त व्यवस्थाओं व कार्यक्रमों को अन्तिम रूप दे दिया गया है।
महासभा के अध्यक्ष इन्द्रमल सुराना (सी.ए.) ने बताया कि भगवान महावीर का जयन्ती की पूर्व संध्या पर 18 अप्रेल को सायं 07.30 बजे भगवान महावीर प्रार्थना सभा एवं भक्ति संध्या का आयोजन श्री जैन पब्लिक स्कूल परिसर में किया जायेगा। मुख्य समारोह 19 अप्रेल 2016 मंगलवार को प्रातः 09.00 बजे गौडी पार्श्वनाथ जैन मन्दिर, विजयवल्लभ चौक, गोगागेट में आयोजित होगा। कोषाध्यक्ष दूलीचन्द बुच्चा ने बताया कि इस समारोह में सभी जैन धर्म के सभी वर्गों के श्रद्धालु भाग लेंगे। समारोह में क्षेत्र में विराजित जैन साधु-साध्वियों का सान्निध्य प्राप्त होगा। कार्यक्रम में जैन बन्धुओं के अलावा भी अन्य गणमान्य व्यक्ति शिरकत करेंगे।
पूर्व महामंत्री जतन लाल दूगड ने बताया कि महावीर जयन्ती के अवसर पर दिगम्बर नसियां जी, जेल रोड़, बीकानेर एवं जैन जवाहर विद्यापीठ, भीनासर से अलग अलग दो शोभा यात्राऐं प्रातः 7.30 बजे रवाना होगी। जो बीकानेर व गंगाशहर भीनासर के मुख्य मौहल्लों से होते हुए बड़ा बाजार चौराहे पर मिल कर गौड़ी पार्श्वनाथ जैन मन्दिर पंहुचेगी। निदेशक निर्मल दस्साणी ने बताया कि इस शोभायात्रा में विभिन्न शालाओं व संस्थाओं से भगवान महावीर के जीवन प्रसंगों व अवदानों से सम्बन्धित आकर्षक सजीवित झांकिया भी सम्मिलित होगी। निदेशक मण्डल के सदस्य जैन सुरेन्द्र बद्धानी ने बताया कि इन झांकियों की आयोजक शाला या संस्था को प्रोत्साहन स्वरूप 2100/ नगद राशि भी प्रदान की जायेगी। विनोद बाफना ने जयन्ती समारोह को भव्य बनाने व इस दिन अपने कल कारखानों व व्यापारिक प्रतिष्ठानों का अवकाश रखने का अनुरोध किया है। गुलाबचन्द बोथरा ने बताया कि भगवान महावीर जयन्ती के इस समारोह को लेकर बहुत उत्साह है। उन्होंने बताया कि बीकानेर गंगाशहर भीनासर के मुख्य मार्गों के साथ ही जैन मन्दिरों, उपासना गृहों व प्रवचन स्थलों जगह जगह बैनर भी लगवाये जायेंगे। पूर्व अध्यक्ष विजय कोचर ने बताया कि महावीर जयन्ती के अवसर केन्द्र सरकार द्वारा अवकाश घोषित है। जैन मतावलम्बियों को अपने प्रतिष्ठान का अवकाश रखना है। एडवोकेट महेन्द्र जैन ने कहा इस दिवस पर बूचड़खानों व कत्ल गृहों में किसी भी प्रकार की हिंसा न करने व मांस की दुकानें बन्द रखने के आदेश जारी किये हुए है। उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन से इसकी सही पालना करवाये जाने के लिए अनुरोध किया गया हैं। मोहन सुराणा ने बताया कि इस अवसर पर बीकानेर के कोटगेट सहित प्रमुख स्थलों व चौराहों पर साज सज्जा भी की जायेगी। तेरापंथ युवक परिषद् के अध्यक्ष मनीष बाफना ने बताया कि परिषद् द्वारा निबन्ध प्रतियोगिता आयोजित की है जिसका विषय “काश! आज महावीर होते” रखा गया है। जैन यूथ क्लब के मंत्री शान्तिविजय सिपानी ने बताया की 17 अप्रैल जैन यूथ क्लब द्वारा तेरापंथ भवन में सामुहिक नवकार मंत्र जप व 19 अप्रैल को सामूहिक एकासन करवाया जायेगा। पूर्व अध्यक्ष चम्पकमल सुराणा एवं जयचन्दलाल डागा ने महावीर जयन्ती पर अधिक से अधिक संख्या में उत्साह से भाग लेने का आह्वान किया है।