ना कोरोना करो गाना सोशल मीडिया पर मचा रहा धूम

ना-कोरोना-करो-गाना-सोशल-मीडिया-पर-मचा-रहा-धूम

नई दिल्ली, 2 अप्रैल (आईएएनएस)। पुणे के शास्त्रीय खयाल गायक संदीप रानाडे ने कोरोनोवायरस के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए एक गीत बनाया है, जिसे ऑस्कर विजेता संगीतकार एआर रहमान से लेकर पद्म विभूषण से सम्मानित पंडित जसराज और तमाम सोशल मीडिया यूजर्स तक से वाहवाही मिल रही है।

रानाडे ने बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर अमेरिका में गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, सिट्रिक्सस और वीएमवेयर जैसी कंपनियों के साथ काम किया है। उन्होंने संगीत का रियाज करने के लिए नादसाधना नाम से एक आईओएस एप भी बनाया है।

रानाडे का यह नया गाना संगीतकार रहमान द्वारा अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर साझा किया गया था, जिसने सोशल मीडिया पर सबका ध्यान खींचा।

रानडे ने आईएएनएस को बताया, जब मैंने राग बसंत में ना कोरोना करो गीत बनाया, तब हम लॉकडाउन में जाने वाले थे, वहीं दुनिया भर में बहुत डर, अनिश्चितता और संदेह का माहौल था, जो अब और बढ़ गया है।

उन्होंने कहा, मैं लोगों में इस वायरस के खिलाफ लड़ाई को जीतने के लिए आशावादिता महसूस करना चाहता था और यह गीत इस भावना की अभिव्यक्ति मात्र था। मेरे द्वारा इस गीत को सोशल मीडिया पर साझा करने के बाद यह वायरल हो गया। मुझे दुनिया भर के लोगों से संदेश मिले। उनमें लोगों ने कहा कि वे खुद को आशावादी महसूस कर रहे हैं।

रानाडे के अनुसार, संगीत हमें अवसाद से बाहर निकाल सकता है और हमें निराशा महसूस होने पर प्रेरित कर सकता है।

शंकर महादेवन, पंडित अजय पोहनकर, पंडित सुरेश तलवलकर, दलेर मेहंदी, अदनान सामी, शुभा मुद्गल, नाना पाटेकर जैसी हस्तियों ने भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर रानाडे के प्रयासों की सराहना की है।

रानाडे द्वारा बनाया गया नादसाधना आईओएस एप प्रतिभाशाली लोगों के लिए तबला और मंजीरा, तानपुरों और सटीक ट्यूनर जैसे उपकरणों के साथ गाने के लिए जीवंत अनुभव पैदा करने में मदद करता है।

–आईएएनएस