Top

मार्च 2021 तक लालकिले में शुरू होगा लाइट एंड साउंड शो

मार्च 2021 तक लालकिले में शुरू होगा लाइट एंड साउंड शो

नई दिल्ली, 21 नवंबर (आईएएनएस)। लाल किले में काफी समय से बंद पड़ा लाइट एंड साउंड शो फिर से पर्यटकों के लिए खोलने पर विचार किया जा रहा है। हालांकि कोविड 19 की वजह से इसकी लॉन्चिंग रुक गई थी। लेकिन 2021 मार्च तक इसको खोलने की तैयारियां चल रही है। इस बार डालमिया समूह की ओर से लाइट एंड साउंड शो चलाया जाएगा।

हालांकि कोविड 19 से पहले डालमिया समूह की तरफ से ट्रायल दिखाया गया था, लेकिन एएसआई की तरफ से कुछ चीजों में बदलाव करने के लिए कहा गया था।

मार्च महीने में कोविड 19 का संक्रमण देश भर में फैल गया और इसकी तैयारियां रुक गई। लेकिन अब फिर से लाइट एंड साउंड शो की तैयारियां शुरू हो गई हैं।

लाल किले में देर शाम आयोजित होने वाले लाइट एंड साउंड शो को लेकर काफी समय से कवायद चल रही थीं। इस शो के लिए लालकिले की धरोहर को कोई क्षति नहीं पहुंचाई जाएगी। इसको लेकर डालमिया समूह और एएसआई के बीच पहले ही बात हो चुकी है।

लाइट एंड साउंड शो के आयोजन के लिए जो भी व्यवस्थाएं की जाएंगी वो अस्थाई होंगी। लाइट एवं साउंड शो के सेटअप के लिए लालकिले के फर्श पर किसी भी तरह की कोई खुदाई नहीं होगी। वहीं लालकिले की संरक्षण नीति का किसी भी तरह से उल्लंघन ना हो। इसका भी पूरी तरह से ध्यान रखा जाएगा।

लाइट एंड साउंड शो का मोती मस्जिद और छत्ता बाजार की दिशा की ओर आयोजन नहीं होगा। ये पर्यटकों के लिए दीवाने ए खास के सामने आयोजित किया जाएगा।

लाइट एंड साउंड शो के लिए लालकिले में ह्यूमन परफॉर्मेस नहीं की जाएगी। हालांकि कोविड 19 के बारे फिर से इसपर बैठक चल रही है। जिसपर अब पर्यटकों के लिए ह्यूमन परफॉर्मेंस कराने पर विचार किया जा रहा है।

इससे पहले हुए ट्रायल में स्क्रिप्ट को लेकर भी बदलाव करने को कहा गया था। दरअसल इस लाइट एंड शो में लालकिले के इतिहास से जुड़ी सभी चीजें दिखाई जाएंगी।

यह आयोजन राष्ट्रवाद को समर्पित किया जाएगा। जानकारी के अनुसार स्क्रिप्ट में इस बात पर जोर दिया गया है कि लालकिला भारत की पहचान कैसे बना। लाइट एंड साउंड शो हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओं में होगा और यह करीब 60 मिनट का होगा।

लालकिले में स्पीकर पर शो का आयोजन नहीं किया जाएगा, बल्कि इस शो में शामिल होने वाले पर्यटकों को लिए हेडफोन मुहैय्या करवाएं जाएंगे। हालांकि अभी यह कह पाना मुश्किल होगा कि कोविड 19 के बाद इसमें भी बदलाव किया जाएगा या नहीं।

लाइट एंड साउंड शो के दौरान लाइटनिंग के प्रयोग को लेकर भी कुछ प्रतिबंध लगाए गए। एएसआई ने निर्देश दिया है कि शो के आयोजन के दौरान लाइटिंग प्रजेंटेशन ऐतिहासिक मोती मस्जिद और छत्ता बाजार की दिशा में नहीं होगा। वहीं इसकी लाइटनिंग ऐसे होनी चाहिए जो लालकिले के इतिहास को याद कराए।

लाल किले में कार्यरत एक अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, पर्यटकों के लिए 2021 मार्च में इस लाइट एंड साउंड शो की लॉन्चिंग की जाएगी। जिसको लेकर विचार विमर्श किया जा रहा है। पहले इस लाइट एंड साउंड शो को 2020 मार्च में लॉन्च किया जाना था, लेकिन कोरोना की वजह से इसे टाल दिया गया।

इस आयोजन को देखने के लिए पहले 600 लोगों की व्यवस्था की गई थी, लेकिन कोविड नॉर्म्स के चलते इसमें भी बदलाव किया जाएगा। हालांकि इसकी टिकट की बात करें तो 300 रुपये से लेकर 1 हजार रुपये हो सकती है। हालांकि कीमतें अभी तक निर्धारित नहीं की गई हैं।

लाइट एंड शो की रिहर्सल भी जल्द शुरू होगी, 10 दिन के अंदर शुरू होने की उम्मीद की जा रही है। कोविड 19 के चलते इस लाइट एंड साउंड शो में बहुत से बदलाव किए जा रहे हैं, जो पहले नहीं हुए थे। इस पूरे प्रकरण पर बैठक चल रही है और विचार विमर्श करके जल्द ही सभी मुख्य बिंदुओं पर सहमति बन जाएगी।

हालांकि सभी तैयारियां होने के बाद डालमिया समूह एक बार फिर एएसआई को इसका ट्रायल दिखाएगा, अनुमति मिलने के बाद ही इसे पर्यटकों के लिऐ खोला जाएगा।

दरअसल लाइट एंड साउंड शो से लाल किले में पर्यटकों में इजाफा होने की उम्मीद जताई जा रही है। कोविड 19 के बाद फिलहाल लाल किले में प्रतिदिन करीब 1500 पर्यटक आ रहे हैं।

लालकिले के अंदर जल्द ही एग्जीबिशन भी लगना शुरू होगा, वहीं आने वाले भविष्य में पर्यटकों के लिए 2 और म्यूजियम भी तैयार किए जाएंगे। दरअसल डेढ़ साल पहले तक लाल किले में 4 म्यूजियम हुआ करते थे।

--आईएएनएस

एमएसके/एएनएम

Next Story
Share it