Thursday, July 16, 2020

अमृता देवी विश्नोई स्मृति पुरस्कार वर्ष 2016 एवं 2017 हेतु आवेदन आमंत्रित

Must read

प्रदेश की पहली स्केनिया मल्टीएक्सल बस जयपुर के लिए रवाना

बीकानेर। जयपुर से बीकानेर के बीच चलने वाली प्रदेश की पहली स्केनिया मल्टीएक्सल बस को महापौर नारायण चैपड़ा, नगर विकास न्यास अध्यक्ष महावीर रांका...

गुजरात में कोरोना के 10 नए मामले, कुल 53 संक्रमित

गांधीनगर, 28 मार्च (आईएएनएस)। गुजरात में शनिवार को कोरोनावायरस के 6 नए मामलों की पुष्टि हुई है, और इसके साथ ही राज्य में कोविड-19...

साल 2018 तक भारत पाक सीमा सील कर दी जाएगी : राजनाथ

 जैसलमेर। केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि वर्ष 2018 तक भारत पाक सीमा को सील कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि देश...

परीक्षाएं रद्द हों, पिछला प्रदर्शन देखकर छात्रों को पास कर दें : राहुल

नई दिल्ली, 10 जुलाई (आईएएनएस)। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश में इस समय परीक्षाएं आयोजित किए जाने का विरोध करते हुए शुक्रवार को...
- Advertisement -
जयपुर। वन विभाग ने अमृता देवी विश्नोई स्मृति पुरस्कार योजना (Amrita Devi Vishnoi Smriti Award Scheme) के तहत वन तथा वन्य जीवसंरक्षण तथा विकास के क्षेत्र में सराहनीय कार्य कर ने वाली वन सुरक्षा एवं प्रबन्ध समितियों पंचायतों ग्रामस्तरीय संस्थाओं व्यक्तियों को वर्ष 2016 एवं 2017 के लिए तीन-तीन राज्य स्तरीय पुरस्कार (State Level Prize) प्रदान करने हेतु संबधित संस्थाओं  व्यक्तियों से 30 जून, 2017 तक आवेदन आमंत्रित किये हैं ।
अतिरिक्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक (ई.जी.एस.) मोहन लाल मीणा ने बताया कि वन विकास एवं वन्य जीव सुरक्षा में उत्कृष्ट कार्य करने वाली वन सुरक्षा एवं प्रबन्ध समिति पंचायत ग्रामस्तरीय संस्थाओं को एक लाख रुपये एवं प्रशस्ति पत्र, वन विकास, संरक्षण एवं वन सुरक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्ति को 50 हजार रुपये एवं प्रशस्ति पत्र एवं वन्य जीव संरक्षण एवं सुरक्षा में उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्ति को 50 हजार रुपये एवं प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया जायेगा।
श्री मीणा ने बताया कि पुरस्कारों की पात्रता के संबध में विस्तृत जानकारी एवं निर्धारित आवेदन पत्र वन विभाग की वेबसाईट http://forest.rajasthan.gov.in से डाउनलोड किये जा सकते हैं तथा संबधित जिले के प्रादेशिक उप वन संरक्षक के कार्यालय से किसी भी कार्य दिवस में प्राप्त किये जा सकते हैं। वर्ष 2016 एवं 2017 के उक्त पुरस्कारों के नामांकन हेतु निर्धारित आवेदन पत्र संस्थाओं आवेदकों को सम्बधित जिले के प्रादेशिक उप वनसंरक्षक के कार्यालय में 30 जून, 2017 तक प्रस्तुत करने होगें । उन्होंने बताया कि लगभग 300 साल पूर्व ग्राम खेजड़ली में अमृता देवी विश्नोई के नेतृत्व में 363 स्त्री पुरूषों ने खेजड़ी के वृक्षों की रक्षा करते हुए अपने प्राणों का बलिदान दिया था। उनके बलिदान की स्मृति को अक्षुण्ण बनाये रखने के लिए राज्य सरकार द्वारा ये पुरस्कार प्रति वर्ष प्रदान किये जाते है।
- Advertisement -

Latest article

नेपाली नागरिकों पर कंप्यूटर बाबा के बयान की विहिप ने निंदा की

नई दिल्ली, 16 जुलाई(आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के कंप्यूटर बाबा की ओर से भारत में रहने वाले नेपाल के लोगों पर की गई विवादित टिप्पणी...

मुंबई में 2 इमारत ढही, 2 लोगों की मौत

मुंबई 16 जुलाई (आईएएनएस)। मुंबई में गुरुवार को दो इमारतों के ढहने के कारण मलबे में दब कर दो लोगों की मौत हो गई,...

जाधव तक राजनयिक पहुंच में पाकिस्तान की डराने वाली हरकतों पर भारत बरसा

नई दिल्ली, 16 जुलाई (आईएएनएस)। भारत सरकार ने गुरुवार को अपने अधिकारियों को दी गई राजनयिक पहुंच (कांसुलर एक्सेस) के दौरान भारतीय नागरिक कुलभूषण...

उप्र में सिर्फ अंतिम वर्ष के छात्रों की होगी परीक्षा

लखनऊ, 16 जुलाई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए विश्वविद्यालयों व कॉलेजों में स्नातक व परास्नातक के सिर्फ अंतिम...

कानपुर गोलीकांड : विकास दुबे का एक और वीडियो वायरल

लखनऊ, 16 जुलाई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के कानपुर में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की शहादत के बाद कुख्यात विकास दुबे की एनकाउंटर में मौत...