Thursday, July 2, 2020

उपन्यास लेखन के लिए ज्ञान,संवेदना और सोच तीनों की व्यापक आवश्यकता

Must read

हनीप्रीत का ड्राईवर राजस्थान से गिरफतार

सीकर/जयपुर। राजस्थान के सीकर जिले के लक्ष्मणगढ़ से फरार चल रही डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम की गोद ली बेटी, हनीप्रीत...

भारत में अब तक कोरोनावायरस के 562 मामले, 9 की मौत

नई दिल्ली, 25 मार्च (आईएएनएस)। पूरी दुनिया में कोहराम मचाने वाले कोरोनावायरस के संक्रमण के भारत में अब तक 562 मामलों की पुष्टि हो...

सपा 22 मुद्दों पर हर माह 22 तारीख को करेगी विरोध प्रदर्शन

लखनऊ, 14 मार्च (आईएएनएस)। समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में यहां प्रदेश मुख्यालय में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की शनिवार...

बीकानेर: चित्रों के माध्यम से मानवीय जीवन के कई रंगों की छवियां दिखी फोटेा प्रदर्शनी में

बीकानेर। चित्रों के माध्यम से मानवीय जीवन के कई रंगों की छवियां हमारे अंतस तक पहुंच कर हमें जीवन के यथार्थ से रूबरू तो...
- Advertisement -

बीकानेर । ’कविता लिखने के लिए विचार की लम्बी यात्रा करनी होती है,जबकि उपन्यास लेखन के लिए ज्ञान,संवेदना और सोच तीनों की व्यापक आवश्यकता होती है। ये विचार व्यक्त किए  प्रख्यात आलोचक प्रोफेसर मनैजर पाण्डे ने। समवेत न्यास द्वारा आयोजित दृष्टिपर्वःआठ की अध्यक्षता करते हुए पाण्डे ने कहा कि नन्द  संवेत न्यास द्वारा हिन्दी और राजस्थानी के प्रख्यात कवि,कहानीकार,उपन्यासकार अनुसृजक नन्द भारद्वाज के रचनाकर्म पर केन्द्रीत यह कार्यक्रम रोटरी क्लब दो सत्रों में आयोजित हुआ।उपन्यास लेखन के लिए ज्ञान,संवेदना और सोच तीनों की व्यापक आवश्यकता 1

प्रथम सत्र में  गद्य व पद्य पर आधारित रहा। प्रथम सत्र कीे अध्यक्षता करते हुए वरिष्ठ साहित्यकार शिवराज छंगाणी ने कहा कि नन्द भारद्वाज का लेखन जनचेतना की भावना से जुड़ा है।नन्दभारद्वाज के राजस्थानी पद्य साहित्य पर पत्रावाचन करते हुए  हरिश बी शर्मा ने कहा कि भारद्वाज का रचनाकर्म सबदां रमझोक  नीं समय री साच है। जबकि राजस्थानी गद्य पर अपने पत्रावाचन में डॉ.नीरज दहया ने भारद्वाज की प्रचलित मान्यताओं का अतिक्रमण का नई भूमिका की तलाद्य करते है। इससे पहले समवेत के मानद सचिव श्रीलाल जोशी ने भारद्वाज के कृतित्व को राजस्थानी साहित्य में अपना मुहावरा गढ़ा है। उनपर थोपे हुए संस्कार नही है।

- Advertisement -

कार्यक्रम के आरंभ में जाकिर अदीब ने स्वागत भाषण दिया और नन्द भारद्वाज का परिचय रमेश भोजक ने दिया। समवेत के न्यासी संजय पुरोहित ने समवेत द्वारा आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया। समवेत के अध्यक्ष श्रीलाल मोहता ने दृष्टि आठ पर अपनी बात रखते हुए कहा कि नन्द भारद्वाज प्रदेश ही नहीं अपितु देशभर में अपने राजस्थानी और हिन्दी रचनाकर्म से जाने जाते है। दूसरा सत्र भारद्वाज के हिन्दी साहित्य पर केन्द्रीत रहा। इस सत्रा के अध्यक्ष मण्डल में दिल्ली के मैनेजर पाण्डे,विख्यात कवि लीलाधर मण्डलोई और लोककला मर्मज्ञ डॉ.श्रीलाल मोहता रहे। साहित्यकार मण्डलोई ने कहा कि नन्द भारद्वाज लेखन बेदखली निस्थापन और शरणार्थी जैसे विकट विमर्शो की ओर इशारा करने वाला महत्वपूर्ण लेखन है। भारद्वाज अपने समय की पीड़ाओं को अपनी रचनाओं के माध्यम से अभिव्यक्त करते है। सरल विशारद ने अपने पत्रावाचन में नंद भारद्वाज को क्रोध,करूणा और प्रेम का कवि  बताया । प्रेमचन्द्र गांधी ने कहा कि भारद्वाज का गद्य में काव्यात्मकता का आस्वाद होता है। श्रीलाल जोशी ने भारद्वाज का हिन्दी का रचनाकर्म अंतस चेतना,ग्राम्य जनजीवन,संस्कृति से ओतप्रोत है। समवेत की ओर से मैनेजर पाण्डे,लीलाधर मण्डलोई ,नंद भारद्वाज और प्रेमचंद्र गांधी का शॉल ओढ़ाकर,स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मान किया।

        इस अवसर पर नंद भारद्वाज ने समवेत का आभार  जताते हुए अपनी सृजन यात्रा करने पर चर्चा करने को उल्लेखनीय बताया। रोटरी क्लब के सभागार में साहित्यकार और संस्कृति कर्मी उपस्थित रहे। इनमें राजस्थानी और हिन्दी के साहित्यकार भवानी शंकर व्यास ’विनोद’,मधु आचार्य’आशावादी,उर्दू के शमीम बीकानेर,नवनीत पाण्डे,अमित गोस्वामी,असित गोस्वामी,शुभू पटवा,दीपचंद सांखला,अनिरूद्ध उमट,बुलाकी शर्मा,राजेन्द्र जोशी, शंकर सिंह राजपुरोहित,डॉ.उषा किरण सोनी,डॉ.मधुरिमा सिंह,डॉ.रचना शेखावत,गौरी शंकर प्रजापत, डॉ.ब्रजरतन जोशी, अविनाश व्यास,ऋतिु व्यास,प्रशान्त बिस्सा,कन्हैया लाल जोशी,श्रीहर्ष,सन्नू हर्ष,आत्माराम ,बाबूलाल जोशी,इश्सार हसन कादरी,इन्द्रा व्यास शामिल है।

- Advertisement -

Latest article

लद्दाख में चीनी आक्रामकता को उसका असली चरित्र मानते हैं ट्रंप

न्यूयार्क, 2 जुलाई (आईएएनएस)। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन की आक्रामक कार्रवाई को चीनी कम्युनिस्ट पार्टी...

राजस्थान: मुख्यमंत्री ने किया बाल अधिकार आयोग के विजन डॉक्यूमेंट का विमोचन

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot)ने गुरूवार को मुख्यमंत्री निवास (Chief Minister House) पर राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग (Child Rights...

फिल्म सरकार के 15 साल पूरे, बिग बी यादों में खोए

मुंबई, 2 जुलाई (आईएएनएस)। अमिताभ बच्चन की फिल्म सरकार गुरुवार को रिलीज हुए 15 साल हो गए। इस मौके पर अमिताभ बच्चन ने इसकी...

रश्मि देसाई ने तमस का लुक साझा किया

मुंबई, 2 जुलाई (आईएएनएस) अभिनेत्री रश्मि देसाई ने अपनी आगामी प्रोजेक्ट तमस का पहला पोस्टर साझा किया है।साझा किए गए पोस्टर में हम अध्विक...

एप्पल इस साल 1.5 से 2 करोड़ आईफोन-12 स्मार्टफोन सप्लाई कर सकता है

सैन फ्रांसिस्को, 2 जुलाई (आईएएनएस)। एप्पल इस साल 5-जी आईफोन-12 की 1.5 से दो करोड़ फोन सप्लाई करने की योजना बना रहा है।आपूर्ति श्रृंखला...