राजस्थान: पानी के अंदर बना ये ‘रोमांटिक महल’

Must read

इंग्लैंड की हाथ न मिलाने की नीति पर भिड़े स्टोक्स, जॉनसन

लंदन, 6 मार्च (आईएएनएस)। इंग्लैंड क्रिकेट टीम द्वारा कोरोनोवायर से बचने के लिए हाथ न मिलाने की नीति अपनाने के बाद उसके खिलाड़ी बेन...

विधानसभा चुनाव : 75 हजार जवानों की होगी नजर, धर-पकड़ अभियान हुआ तेज

नई दिल्ली, 7 फरवरी (आईएएनएस)। शनिवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए होने वाले मतदान की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। राज्य चुनाव...

वार्नर ने जडेजा जैसी तलवारबाजी की नकल की

सिडनी, 8 अप्रैल (आईएएनएस)। आस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ने भारतीय स्टार आफ स्पिनर रवींद्र जडेजा के तलवारबाजी एक्शन की नकल...

फिर से तैयार होगा बैडमिंटन विश्व चैम्पियनशिप का कार्यक्रम

लंदन, 5 अप्रैल (आईएएनएस)। बैडमिंटन विश्व चैम्पियनशिप का अगले साल आयोजन होना है और कोविड-19 के कारण टोक्यो ओलंपिक भी अगले साल तक के...
Avatar
R.Kumar
आर.कुमार पिछले 20 वर्ष से सक्रिय पत्रकारिता से जुड़े हुए है। वर्तमान में राष्ट्रीय समाचार एजेंसी के साथ जुड़े हुए है।
- Advertisement -

राजस्थान हमेशा से ही देशी विदेशी पर्यटकेां की पहली पसंद रहा है, यंहा की ऐतिहासिक इमारतें हो या फिर पारंपरिक रीति रीवाज या फिर यंहा के स्वाद का जायका (Jal Mahal is Best Travel Tourism spot in Jaipur Rajasthan)। हर पर्यटक यंहा आकर इसमें बसना चाहता है। बात करें यंहा के राजा महाराजाओं की तो उनके अंदाज तो कुछ निराले ही थे, वे अच्छे शासक के साथ अपने आप में कई तरह के हुनर को समेटे हुए थे कंही तो वे निशानेबाजी में भी अपना नाम कमा चुके थे। इसी बीच आज आपको रुबरु करा रहें है राजस्थान के जयपुर के जल महल से, जिसे रोमांटिक महल कहे तो कोई अतिशयेाक्ति नही होगी।

- Advertisement -

जल महल
गुलाबी नगरी के नाम से पहचान बना चुका जयपुर अपने आप में कई तरह के राज छुपाए हुए है, खासकर किले, मंदिर, चार दीवारी, गेट, पुराना शहर, फूड, परिधान शामिल है। यंहा का मौसम भी खूबसूरत रहता है। यंहा आने वाले देशी विदेशी पर्यटक इनका आनंद जरुर लेता है। एक बात और इस शहर के पास की पहाड़िया और बीच में हरे भरे पेड़ इस शहर को और अधिक रुपवान बना देते है।

वरिष्ठ पत्रकार गुरंजट सिंह धालीवाल बताते है कि राजस्थान का जल महल 300 साल पहले आमेर के महाराज ने 1799 में निर्माण करवाया था। यह महल मध्यकालीन महलों की तरह मेहराबों, बुर्जों, छतरियों एवं सीढ़ीदार जीनों से युक्त है। जलमहल के निर्माण के पीछे एक विशेष कारण था जिससे बहुत कम लोग परिचित हैं, जब 15 वीं शताब्दी में इस क्षेत्र में अकाल पड़ने पर आमेर के शासक ने बांध बनाने का निश्चय किया ताकि आमेर और अमागढ़ के पहाड़ों से निकलने वाली पानी को इकठ्ठा किया जा सके और पानी के निकास के लिए पानी के भीतर 3 आंतरिक दरवाजे बनाये और मानसागर झील बनाकर तैयार की गई।
रोमांटिक महल

आपको बताना चाहेंगे कि रानियों के साथ नहाने के लिए महाराजा ने इस पांच मंजिला महल को बनवाया था। ये महल अरावली पहाड़ियों के गर्भ में स्थित यह महल झील के बीचोंबीच होने के कारण ‘आई बॉल’ भी कहा जाता है। इसकेा किसी जमाने में इसे ‘रोमांटिक महल’ के नाम से भी जाना जाता था। इस महल का निर्माण सवाई जयसिंह ने अश्वमेध यज्ञ के बाद अपनी रानियों के साथ स्नान के लिए करवाया था। राजा इस महल को अपनी रानी के साथ खास वक्त बिताने के लिए इस्तेमाल करते थे। वे इसका इस्तेमाल राजसी उत्सवों पर भी करते थे। जलमहल पांच मंजिला इमारत है जिसकी 4 मंजिल पानी के भीतर बनी हैं और एक पानी के ऊपर नजर आती है। इसलिए इस महल का खास महत्व है। यह जल महल यंहा आने वाले सभी पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है। अगर आपको भी ऐतिहासिक जगहों से लगाव है, तो आप यहां अपनी छुट्टियां परिवार या फिर यार दोस्तों के साथ प्लान कर सकते हैं ।

Jal Mahal is Best Travel Tourism spot in Jaipur Rajasthan

यंहा पर कैसे पहुंचे
वरिष्ठ पत्रकार श्याम मारु बतातें है कि जयपुर से दिल्ली व मुंबई के बीच सीधी रेल व वायु सेवा है। टेन में शताब्दी एक्सप्रेस, डबल डेकर, गरीब रथ, दूरंतो एक्सप्रेस, राजधानी एक्सप्रेस इत्यादि सेवा आपको मिलेगी। राजस्थान की राजधानी गुलाबी नगरी आने के लिए दिल्ली से जयपुर जाने के लिए कई इंटरस्टेट बसें और रेलगाड़ियां चलती है। इसके साथ राजस्थान राज्य परिवहन निगम की बस, बला बला कार से भी आप यंहा तक आसानी से पहुंच सकतें है। आप अपने पर्सनल साधन से भी यंहा पर पहुंच सकते है यंहा की सड़के बेहद अच्छी है।
ऐसे जाएं
जयपुर का जलमहल आमेर रोड पर रामगढ़ चैराहे से थोड़ा सा आगे जाने पर दाईं ओर है। शहर के अजमेरी गेट से इसकी दूरी लगभग सात किलोमीटर है। यहां बस, सेालर टैक्सी या पैट्रोल टैक्सी से पहुंचा जा सकता है।

- Advertisement -

कब जाएं
जयपुर घूमने के लिए नवम्बर से फरवरी का समय सबसे अच्छा है। इस मौसम में खासकर आपको नंवबर, दिसंबर और जनवरी माह में सदी के मौसम का आनंद मिलेगा। लेकिन फरवरी का मौसम आपको यंहा पर मस्त कर देगा।

मुख्य आर्कषण
राजस्थान में वैसे तो बहुत आकर्षण के केंद्र है, आप यंहा आ रहें है तो जयपुर के साथ, जोधपुर, जैसलमेर, उदयपुर, अजमेर, पुष्कर, भरतपुर, बीकानेर, केाटा भी घूमने जा सकतें है। वंही जयपुर में जलमहल के साथ कई ऐतिहासिक इमारतें देख सकते हैं, जिसमें हवामहल, आमेर का किला, नाहरगढ़ का किला, सिटी पैलेस, राज मंदिर सिनेमा, झालाना सफारी इत्यादि को भी आप देख सकतें है।

हाथी व ऊंट की सवारी का आनंद
यंहा पर जलमहल की पाल पर एडवेंचर सफारी के लिए बड़ी संख्या में ऊंट के साथ हाथी भी उपलब्ध रहते हैं। इन पर बैठकर घूमने से यहां के प्राकृतिक परिवेश का आनंद और भी बढ़ जाता है। यंहा पर आप बेहतर फोटेाग्राफी कर अपने टूर को यादगार बना सकतें है। इसके साथ ही यह फोटोग्राफी के लिए भी ये बेहतर डेस्टिनेशन बन गया है।

अमेजन इंडिया पर आज का शानदार ऑफर देखें , घर बैठे सामान मंगवाए  : Click Here

- Advertisement -

www.hellorajasthan.com से जुड़े सभी अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.

- Advertisement -

Latest article

राजस्थान : विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं जुलाई माह में होंगी शुरू

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया निर्णय जयपुर। राज्य सरकार ने कोविड-19 (Covid-19) महामारी के कारण कुछ समय के लिए  स्थगित की...

श्रीगंगानगर: राजगढ़ पुलिसथानाधिकारी विष्णुदत बिश्नेाई के गांव पहुंचे केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल, दी श्रद्वांजलि

राजगढ़ पुलिसथानाधिकारी विष्णुदत बिश्नेाई का निधन सर्वसमाज के लिए क्षति श्रीगंगानगर। बीकानेर संभाग के चुरु जिले के राजगढ (Rajgarh, Churu District) पुलिसथानाधिकारी स्व. विष्णुदत्त...

राजस्थान : प्रदेश में 169 ग्रामीण जल वितरण योजनाओं के तहत 392 करोड़ 32 लाख की स्वीकृति जारी

मंजूरी में 150 सिंगल विलेज एवं 19 मल्टी विलेज स्कीम हैं शामिल एक लाख 22 हजार 913 घरों तक पहुंचेगा नल से जल जयपुर/ बीकानेर ।...

बॉलीवुड : जॉर्जिया एंड्रियानी ने कहा ” वर्कआउट को करती है काफी एन्जॉय

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता हमेशा से अपने अभिनय कौशल के लिए जाने जाते रहे हैं। लेकिन इसके साथ ही वे स्वस्थ लाइफस्टाइल और ग्लैमरस लुक...

बीकानेर: आकाशवाणी के संवाददाता पठान होंगे सम्मानित

बीकानेर(Bikaner)। बीकानेर प्रसार भारती(All India Radio Bikaner), भारत सरकार  के न्यूज सर्विस विभाग ने अपने अभिन्न अंग आकाशवाणी के जरिए लोक डाउन अवधि में...