Thursday, July 9, 2020

भारत का कोर औद्योगिक उत्पादन मई में 23 प्रतिशत से अधिक लुढ़का (लीड-1)

Must read

देश मे कोरोना पीड़ितों की संख्या 21,393 पहुंची, 681 की मौत

नई दिल्ली , 23 अप्रैल (आईएएनएस)। देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या 21 हजार को पार कर गयी है। अब तक 21,393 लोग कोरोना...

एचएएल निर्मित 19 सीटर यात्री विमान यूपी में भरेंगे उड़ान

लखनऊ, 4 फरवरी (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि एचएएल द्वारा निर्मित 19 सीटर दो विमान उत्तर प्रदेश से उड़ान...

जॉन सीना ने साझा की इरफान खान की तस्वीर

लॉस एंजेलिस, 3 मई (आईएएनएस)। दिवंगत दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर के निधन पर शोक व्यक्त करने के बाद, डब्ल्यूडब्ल्यूई चैंपियन और हॉलीवुड अभिनेता जॉन...

अमेरिका में निवेश कर रहे भारतीय निवेशकों से मुलाकात करेंगे ट्रंप

अरुल लुइसन्यूयॉर्क, 22 फरवरी (आईएएनएस)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अगले हफ्ते अपने भारत दौरे के बीच अमेरिका में निवेश कर रहे भारतीय निवेशकों से...
Vishal Rohiwal
Vishal Rohiwal
विशाल रोहिवाल पिछले दस वर्ष से कंटेट राईटिंग व स्वतंत्र पत्रकार के रुप में काम कर रहें है। वर्तमान में हैलो राजस्थान की वेब टीम में सीनियर कंटेंट एडिटर के रुप में अपनी सेवांए दे रहें है।
- Advertisement -

नई दिल्ली, 30 जून (आईएएनएस)। भारत के आठ प्रमुख उद्योगों के उत्पादन की रफ्तार में मई 2020 में 23 प्रतिशत से अधिक की गिरावट दर्ज की गई। यह जानकारी मंगलवार को सरकारी आंकड़ों से सामने आई है।

हालांकि आठ प्रमुख उद्योगों के सूचकांक में गिरावट की दर मई 2020 के दौरान आर्थिक गतिविधियों के आंशिक रूप से खोले जाने के कारण एक क्रमिक आधार पर धीमी हुई है।

- Advertisement -

क्रमिक आधार पर आठ प्रमुख उद्योगों का सूचकांक मई 2020 के लिए 23.4 प्रतिशत (प्रोविजनल) तक गिर गया। जबकि इसके पहले अप्रैल 2020 के दौरान यह 37 प्रतिशत (प्रोविजनल) गिरा था।

आठ प्रमुख उद्योगों (ईसीआई) में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफायनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और विद्युत शामिल हैं। औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) में शामिल आइटम्स का 40 प्रतिशत हिस्सा ईसीआई का है।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने एक बयान में कहा है, कोविड-19 महामारी के कारण अप्रैल और मई में लागू राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर विभिन्न उद्योगों जैसे कोयला, सीमेंट, इस्पात, प्राकृतिक गैस, रिफायनरी, कच्चा तेल आदि का उत्पादन काफी गिरा है।

बयान में कहा गया है, फरवरी 2020 के लिए आठ प्रमुख उद्योगों के सूचकांक की अंतिम वृद्धि दर संशोधित कर 6.4 प्रतिशत की गई है।

- Advertisement -

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

बिहार में बाढ़ की आशंका को लेकर अलर्ट, बचाव के लिए होगा ड्रोन का उपयोग

पटना, 8 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार में बाढ़ की आशंका को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आपदा प्रबंधन विभाग को पूरी तरह अलर्ट रहने...

रीवा के सौर ऊर्जा संयंत्र से दिल्ली मेट्रो को मिलेगी बिजली

भोपाल, 8 जुलाई (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के रीवा जिले में स्थापित एशिया के सबसे बड़े सौर ऊर्जा संयंत्र रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर प्रोजेक्ट की...

कानपुर मुठभेड़ पर बोले एडीजी प्रशांत, पुलिस की कार्रवाई बनेगी नज़ीर

लखनऊ 8 जुलाई (आईएएनएस)। कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव मे उत्तर प्रदेश पुलिस के सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद...

कभी कभी कड़वा घूंट पीकर करनी पड़ती है समाज सेवा : विजयवर्गीय

भोपाल/इंदौर 8 जुलाई (आईएएनएस)। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए नेताओं के साथ काम करने का जिक्र करते...

पहले एलएसी तक पहुंचने में 14 दिन लगते थे, अब महज 1 दिन : लद्दाख स्काउट्स (आईएएनएस एक्सक्लूसिव)

लेह, 8 जुलाई (आईएएनएस)। वर्ष 1962 में जहां भारतीय सेना को वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) तक पहुंचने में 16 से 18 दिन का समय...