केदारनाथ में पहली पूजा के बाद डा. प्रदीप भारद्वाज द्वारा ली गई गर्भ गृह की तस्वीर

Must read

राजस्थान : इंटरनेट सेवाओं पर बुधवार सुबह 10 बजे तक अस्थाई प्रतिबंध

जयपुर शहर के 13 थाना क्षेत्रों में इंटरनेट सेवाओं पर अस्थाई प्रतिबंध    जयपुर। सम्भागीय आयुक्त के.सी. वर्मा ने एक आदेश जारी कर जयपुर पुलिस कमिश्नरेट...

लॉजिटेक इंडिया ने डिजिटल विभाजन को मिटाने और नागरिकों को सशक्त बनाने के उद्देश्य से शुरू किया डिजी@भारत अभियान

उत्तर प्रदेश सरकार के उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने लखनऊ में लॉन्च किया अभियान लखनऊ। देश में भाषायी अवरोधों को पार करने की शानदार...

अभी घर में रहने वाले ही सुपरस्टार : अक्षय कुमार

मुंबई, 27 मार्च (आईएएनएस)। बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय कुमार का कहना है कि कोरोनावायरस की कड़ी को तोड़ने के लिए पूरे देश में किए गए...

नर्सों को दिल्ली-उप्र-हरियाणा की सीमाएं पार करने में हो रही परेशानी, गृहमंत्री को लिखा पत्र

नई दिल्ली, 22 अप्रैल (आईएएनएस)। अखिल भारतीय सरकारी नर्स महासंघ (एआईजीएनएफ) ने बुधवार को गृहमंत्री अमित शाह को एक पत्र लिखकर कहा है कि...
- Advertisement -

-केदारनाथ में तैनात झज्जर के डा. प्रदीप भारद्वाज से विशेष बातचीत
-केदारनाथ में मेडिकल सेवाएं देने को बनाया गया है अस्पताल
-सिर्फ धार्मिक परम्परा के निवर्हन को इस बार हो रही है केदारनाथ यात्रा
@संजय मेहरा, गुरुग्राम। कोरोना संक्रमण काल(Covid-19) में इस बार बहुत कुछ बदल गया है। हमारी धार्मिक परम्पराएं, जीने-मरने की परम्पराएं और सबसे बड़ी बात हम वेस्टर्न कल्चर का त्याग कर अभी तक तो वापस अपनी भारतीय संस्कृति की ओर आकर्षित हुए हैं। बात करें केदारनाथ यात्रा (Kedarnath Yatra) की तो इस बार की यह यात्रा मात्र धार्मिक परम्पराओं के निर्वहन के लिए ही हो रही है। कोरोना के भय से भीड़ नहीं है। फिर भी अपनी जिम्मेदारियों को निभाने के लिए वहां चिकित्सा सेवाएं लेकर तैनात है सिक्स सिग्मा गु्प।

Handwara Encounter: शहीद कर्नल आशुतोष के परिजनों को 50 लाख रुपये व एक सदस्य को नौकरी देगी योगी सरकार

- Advertisement -

सिक्स सिग्मा गु्प की अगुवाई कर रहे हैं मूलरूप से झज्जर के रहने वाले एवं सिक्स सिग्मा हेल्थकेयर के सीईओ एवं मेडिकल डायरेक्टर डॉ. प्रदीप भारद्वाज। केदारनाथ से बातचीत में डा. प्रदीप भारद्वाज ने बताया कि बुधवार को बाबा केदारनाथ मंदिर के कपाट जरूर खुल गए, लेकिन सिर्फ और सिर्फ धार्मिक परम्पराओं का निर्वहन करने के लिए। क्योंकि कोरोना संकट काल में इस बार यहां श्रद्धालुओं का आना नहीं हो पा रहा।

देश में लॉकडाउन चल रहा है। इसलिए इतिहास में यह पहला अवसर था जब बाबा केदारनाथ के कपाट खुलने पर सन्नाटा था। बिना मुख्य पुजारी के ही बाबा केदारनाथ की पूजा-अर्चना हुई। 14 दिन के क्वारंटाइन में रह रहे मुख्य पुजारी के स्थान पर उनके प्रतिनिधि ने पूजा कराई।

Handwara Encounter : शहीद कर्नल आशुतोष शर्मा की पत्नी पल्लवी ने कहा- शहादत पर आंसू नहीं बहाऊंगी…सम्मान करुंगी उनकी शहादत का

डा. प्रदीप भारद्वाज का कहना है कि केदारनाथ में कोरोना संक्रमण के चलते बेशक भीड़ ना हो, लेकिन हर साल की तरह इस बार भी सिक्स सिग्मा गु्रप की टीम चिकित्सा सेवाओं के लिए तैनात है। डा. प्रदीप भारद्वाज ने बाबा केदारनाथ के कपाट खुलने से पहले के धार्मिक रीति-रिवाजों के बारे में बताया कि सबसे पहले केदारनाथ के लिए ऊखीमठ से बाबा केदार की डोली रवाना हुई थी।

- Advertisement -

मंदिर के इतिहास में पहली बार गाड़ी में डोली विदा हुई। डोली को पहले गौरीकुंड ले जाया गया। इसके बाद 27 अप्रैल को डोली पैदल मार्ग होते हुए रात्रि विश्राम के लिए भीमबली पहुंची। 28 अप्रैल को डोली केदारनाथ धाम पहुंची। 29 को बाबा केदारनाथ धाम के कपाट खोल दिए गए। कोरोना संक्रमण के चलते केदार डोली के साथ लोगों को जाने की अनुमति नहीं थी। यह कहा जा सकता है कि इस वर्ष केदारनाथ यात्रा का संचालन केवल धार्मिक परंपराओं के निर्वहन के लिए हो रहा है।

पीएम मोदी पर भारत का भरोसा और मजबूत हुआ : आईएएनएस-सीवोटर सर्वेक्षण

धार्मिक यात्राओं में निशुल्क चिकित्सा सेवाएं देती है संस्था
वर्ष 2013 से संस्था सिक्स सिग्मा हाई ऑल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस के माध्यम से पर्वतीय क्षेत्रों श्री केदारनाथ धाम, श्री अमरनाथ धाम, श्री कैलाश मानसरोवर में होने वाली धार्मिक यात्राओं में नि:शुल्क मेडिकल सेवा प्रदान कराती है। इसके अलावा देश में किसी भी हिस्से में होने वाली प्राकृतिक आपदाओं में भी अपनी सेवाएं देती है। सिक्स सिग्मा ने केदारनाथ में 20 बेड का स्थाई अस्पताल भी स्थापित किया हुआ है। देश में फैली कोरोना-19 माहमारी से लडऩे में सिक्स सिग्मा हेल्थकेयर के सैनिक भी पीछे नहीं है।

www.hellorajasthan.com की ख़बरें फेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें.

- Advertisement -

Latest article

राजस्थान : कोरोना में मसीहा बने करौली विधायक लाखनसिंह, निजी खर्चे से बांटी राशन सामग्री

- कोरोनाकाल में 10 लाख रुपये का 500 क्विंटल आटा, जरूरतमंद गरीब परिवारों में बांटा - कोविड़-19 वायरस से बचाव के लिए गांवों में जन...

राजगढ़ पुलिस थानाधिकारी विष्णुदत बिश्नेाई मामले की होगी सीबीआई जांच

गहलोत सरकार ने लिया बड़ा फैसला जयपुर। प्रदेश के चुरू जिले के राजगढ़ पुलिसथानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई (Rajgarh police officer Vishnu dutt)आत्महत्या मामले में स्वतंत्र एजेन्सी/सीबीआई...

बीकानेर : छब्बीस साल बाद किसानों को फिर पढ़ सकेंगे ‘मरु कृषक’

कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह ने किया ई-संस्करण का विमोचन बीकानेर(Bikaner News)। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय (Swami Keshwanand Rajasthan Agricultural University) के कुलपति प्रो....

लॉकडाउन में बेरोजगार हुए लोगों को मिले पूरा वेतन: युवा कांग्रेस

पटना। युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि उन्होंने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में अपील...

बीकानेर: सेरूणा पुलिसथानाधिकारी गुलाम नबी की हार्ट अटैक से मौत

बीकानेर(Bikaner News)। जिले के सेरुणा पुलिसथानाधिकारी (Seruna  Police Station SHO) की सेामवार सुबह हार्ट अटैक (Heart Attack) से मौत हेा गई। जिला पुलिस अधीक्षक...