Thursday, July 9, 2020

स्टेरॉयड इन्हेलर्स का उपयोग रोकने से अस्थमा के बिगड़ने का खतरा

Must read

बैंकों में उमड़ी भीड तो कंही नाली में बहाए नोट

http://www.youtube.com/watch?v=srUrYV11cz0जयपुर। प्रदेशभर में 500-1000 के पुराने नोटों को बदलने लिए गुरुवार को लोगों की भीड़ बैंकों में उमड़ पड़ी।जयपुर,बीकानेर,जोधपुर,उदयपुर,भरतपुर,कोटा,अजमेर में लोगों के पास...

बिहार : प्रवासी मजदूरों के बच्चों के स्कूलों में नामांकन के लिए चलेगा अभियान

पटना, 15 जून (आईएएनएस)। बिहार सरकार जहां बाहर से आने वाले प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने की कोशिश में जुटी है, वहीं सरकार प्रवासी...

सउदी के नेतृत्व वाले संगठन ने तेल टैंकर पर हमले को किया विफल

रियाद, 5 मार्च (आईएएनएस)। सउदी के नेतृत्व वाले एक संगठन ने घोषणा की है कि उन्होंने अरब सागर में मौजूद एक तेल टैंकर पर...

साउथैम्पटन टेस्ट से ब्रॉड के बाहर रहने से गॉफ हैरान

साउथैम्पटन, 9 जुलाई (आईएएनएस)। इंग्लैंड के पूर्व तेज गेंदबाज डैरेन गॉफ ने कहा है कि बुधवार से वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हुए पहले टेस्ट...
- Advertisement -

नई दिल्ली। मौजूदा महामारी में सेहत व स्वास्थ्य (health)को महत्व देना होगा। यह खासकर तब बहुत जरूरी है, जब आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर है या फिर आपको किसी बीमारी का इतिहास है। अस्थमा (Asthma) इन्हीं में से एक है। अस्थमा बिगड़ने का मुख्य कारण श्वास की नली में वायरल संक्रमण (Corona Virus) होना है। अस्थमा के जोखिम वाले लोगों या फिर मौजूदा अस्थमा पीड़ितों के लिए सांस की नली में वायरल संक्रमण बहुत घातक हो सकते हैं।

पेटीएम इज इंडियन कर रहा ट्रेंड, कंपनी के समर्थन में आए नेटिजन

- Advertisement -

एक अनुमान के अनुसार सामान्य या फिर गंभीर अस्थमा के मरीजों को बीमारी के और ज्यादा गंभीर होने का खतरा ज्यादा होता है।

भारत (India) में लगभग 9.3 करोड़ लोग सांस की क्रोनिक समस्या से पीड़ित हैं। इनमें से लगभग 3.7 करोड़ एस्थमेटिक हैं। अस्थमा के वैश्विक भार में भारत का हिस्सा केवल 11.1 प्रतिशत है, जबकि विश्व में अस्थमा से होने वाली मौतों में भारत का हिस्सा 42 प्रतिशत है, जिस वजह से भारत दुनिया की अस्थमा कैपिटल बन गया है।

अपोलो अस्पताल(Apollo Hospitals) के कंसलटेंट स्पेशलिस्ट (चेस्ट मेडिसिन, क्रिटिकल केयर मेडिसिन एंड स्लीप मेडिसिन) डॉक्टर रोहित करोली के अनुसार, अस्थमा पर सांस के वायरस के प्रभाव के चलते यह बहुत आवश्यक हो गया है कि मौजूदा समय में अस्थमा पीड़ित बहुत ज्यादा सावधानी बरतें। वायरस निर्मित समस्याओं की रोकथाम के लिए अस्थमा को अच्छी तरह से नियंत्रित करना बहुत आवश्यक है।

जो लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, उन्हें रोकना, टोकना और समझाना होगा : पीएम मोदी

- Advertisement -

मौजूदा महामारी के समय में किसी बीमारी के उपचार के लिए आपातकालीन विभाग या अत्यावश्यक इलाज के लिए जाना पड़ता है ,जहां पर मरीज को किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने का जोखिम भी ज्यादा होता है।

गाजियाबाद के नरेंदर मोहन हॉस्पीटल(Narinder Mohan Hospital & Heart Centre) के सीनियर कंसलटेंट (चेस्ट स्पेशलिस्ट) डॉक्टर मनीष त्रिपाठी के अनुसार, अस्थमा पीड़ितों को अस्थमा नियंत्रित रखने के लिए स्टेरॉयड इन्हेलर्स दिए जाते हैं। अस्थमा पीड़ितों को कभी भी अपने कॉर्टिकोस्टेरॉयड इन्हेलर तब तक लेना बंद नहीं करना चाहिए, जब तक कोई मेडिकल प्रोफेशनल उनसे ऐसा करने को न कहे। स्टेरॉयड इन्हेलर का प्रयोग बंद करने से मरीज को संक्रमण का ज्यादा खतरा हो जाएगा क्योंकि इससे अस्थमा का नियंत्रण खराब हो जाता है।

ट्रेन यात्रियों के लिए बड़ी राहत, तत्काल टिकट की बुकिंग बहाल  

यदि अस्थमा नियंत्रण में है, तो हॉस्पिटल के क्लिनिक जाने से बचें। आप टेलीफोन पर अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं और उन्हें अपनी प्रगति के बारे में बता सकते हैं। एस्थमेटिक मरीजों को बिना योजना के क्लिनिक नहीं जाना चाहिए। सामान्य से गंभीर अस्थमा से पीड़ित लोगों को वायरल संक्रमण से बहुत ज्यादा बीमारी पड़ने का खतरा रहता है। ये संक्रमण आपकी सांस की नली (नाक, गला, फेफड़ों) को प्रभावित करते हैं, अस्थमा का अटैक लाते हैं और इनकी वजह से निमोनिया या एक्यूट रेस्पिरेटरी डिजीज हो सकती है।

- Advertisement -

बिना सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर के दाम में मामूली वृद्धि

एक्यूट लक्षणों से आराम के लिए स्पेसर के साथ एमडीआई का उपयोग किया जा सकता है। नेबुलाईजर्स का उपयोग करने से बचें क्योंकि उनमें वायरल संक्रमण फैलने का खतरा बहुत ज्यादा होता है। नेबुलाईजर्स एयरोसोल्स बनाते हैं, जो संक्रमित ड्रॉपलेट्स को कई मीटर तक फैला सकते हैं।

आपका डॉक्टर आपको इन विधियों के बारे में परामर्श देगा। सुनिश्चित करें कि आपके पास नॉन-प्रेस्क्रिप्शन दवाईयों एवं सप्लाई का 30 दिनों का स्टॉक हो, ताकि यदि लंबे समय तक आपको घर में रहने की जरूरत पड़े, तो आपको कोई परेशानी न हो।

–आईएएनएस

सोशल मीडिया पर लाइव दिखेगी राम मंदिर की आरती

शादी का अनोखा निमंत्रण कार्ड: सांसद हनुमान बेनीवाल के फोटो के साथ लिखा “आयेगा हनुमान, बदलेगा राजस्थान ’’

www.hellorajasthan.com की ख़बरें फेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें.

- Advertisement -

Latest article

कोविड: दिल्ली में 563 कंटेनमेंट जोन, 24 घंटे में 105 इलाके सील, 45 की मौत

नई दिल्ली, 9 जुलाई (आईएएनएस)। बीते 24 घंटे के अंदर ही दिल्ली में 105 से अधिक नए कोरोना कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। दिल्ली...

उप्र में कोरोना के 1248 नए मामले, अब तक 862 मौतें

लखनऊ, 9 जुलाई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। गुरुवार को राज्य के बीते 24 घंटे में प्रदेश में...

दुबई में फंसे 500 भारतीयों के लिए संकटमोचक बने बीजेपी सांसद अनिल बलूनी (एक्सक्लूसिव)

नई दिल्ली, 9 जुलाई (आईएएनएस)। पिछले चार महीने से दुबई में फंसे उत्तराखंड के पांच सौ लोगों के लिए भाजपा के राज्यसभा सांसद अनिल...

उज्जैन में पकड़े गए विकास को यूपी पुलिस को सौंपा

उज्जैन 9 जुलाई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के कानपुर में आठ पुलिस जवानों की हत्या के आरोपी विकास दुबे को गिरफ्तार करने के बाद...

राजकुमार राव ने अपनी मन:स्थिति साझा की

मुंबई, 9 जुलाई (आईएएनएस)। बॉलीवुड अभिनेता राजकुमार राव ने अपने नए प्रोजेक्ट को लेकर अपनी मन की स्थिति साझा की है।राजकुमार ने इंस्टाग्राम पर...