पाकिस्तान ने दक्षेस के कोरोना फंड के इस्तेमाल पर स्पष्टता मांगी

Must read

बीकानेर में कोरोना पॉजिटिव के 2 केस सामने आए, फड़ बाजार और रानीसर क्षेत्रों में कर्फ्यू

बीकानेर। कोरोना संक्रमण के चलते चल रहे लाॅकडाउन के दौरान की जा रही स्क्रीनिंग के चलते हुई जांच की शुक्रवार को आई रिर्पोट में...

बीकानेर : केन्द्रीय राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल के प्रयासों से पीबीएम हाॅस्पीटल को मिले 23.60 लाख रुपये

बीकानेर। कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण की रोकथाम के लिए बीकानेर क्षेत्र में संसाधनों व हेल्थ एक्विपमेंट्स की कमी न हो इसके लिए स्थानीय सांसद...

अनंतनाग में आतंकियों ने की नागरिक की हत्या

श्रीनगर, 3 अप्रैल । कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकवादियों ने एक नागरिक की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने बुधवार को हुई...

भाजपा (BJP) नेता ने कहा- कालाधन से चल रहा तबलीगी जमात, मुखिया की संपत्ति जब्त करे सरकार

नई दिल्ली, 2 अप्रैल । दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन में शामिल हुए कई सदस्यों के कोरोना का शिकार होने के बाद...
- Advertisement -

इस्लामाबाद, 25 मार्च । पाकिस्तान ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) (Narendra Modi) की पहल पर बने दक्षिण एशिया क्षेत्रीय सहयोग संगठन (दक्षेस) कोविड-19 आपातकालीन कोष के इस्तेमाल के तौर-तरीकों को स्पष्ट करने के लिए कहा है। साथ ही उसने यह भी कहा है कि इस कोष के संचालन की जिम्मेदारी दक्षेस के महासचिव को सौंपी जानी चाहिए।

भारतीय प्रधानमंत्री ने दक्षेस नेताओं के साथ 15 मार्च को वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान कोरोना वायरस (Corona Virus) (Corona Virus) से निपटने के लिए इस कोष का ऐलान किया था और इसमें एक करोड़ डॉलर देने की बात कही थी।

- Advertisement -

डॉन में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, इस कोष के धन का इस्तेमाल दक्षेस देशों में कोरोना वायरस (Corona Virus) (Corona Virus) की महामारी से निपटने के लिए प्रस्तावित है। लेकिन, इस कोष के प्रबंधन और इसके इस्तेमाल के तौर-तरीके के बारे में कुछ नहीं कहा गया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान के अलावा दक्षेस के सभी सदस्य देशों ने इस फंड में धन देने का ऐलान किया और यह राशि कुल मिलाकर 1.8 करोड़ डॉलर है।

एक राजनयिक ने कहा कि पाकिस्तान भी इस कोष में योगदान देना चाहता है लेकिन इससे पहले वह इसे लेकर स्पष्ट होना चाहता है। साथ ही, सभी सदस्य देशों ने धन देने की प्रतिबद्धता जताई है लेकिन जब तक कोष के बारे में पूरी बात ठोस रूप से आकार नहीं ले लेती तब तक इन प्रतिबद्धताओं का पूरा होना मुश्किल है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) (Ministry of External Affairs) के एक बयान में बताया गया है कि विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए.के.अब्दुल मोमेन से टेलीफोन पर इस मुद्दे पर बात की है। उन्होंने कहा कि इस फंड को दक्षेस के महासचिव की निगरानी में सौंपा जाना चाहिए और बातचीत के जरिए जल्द से जल्द इसके इस्तेमाल के तौर-तरीकों को अंतिम रूप दिया जाना चाहिए।

- Advertisement -

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

चीन ने 54 अफ्रीकी देशों के साथ तकनीकी सहयोग किया

बीजिंग, 3 अप्रैल । चीन ने 54 अफ्रीकी देशों के साथ तकनीकी सहयोग किया और उन्हें तकनीकी सहायता दी। दूसरी तरफ अफ्रीकी देशों में...

चीनी विशेषज्ञों ने एशिया और यूरोप के 7 देशों के साथ महामारी रोकने के अनुभव साझा किए

बीजिंग, 3 अप्रैल । चीन के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के पहले संबद्ध अस्पताल में कोविड-19 महामारी को रोकने के 7 विशेषज्ञों ने दूरस्थ...

तबलीगी कांड : मौलाना साद का बेटा आया सामने, मौलाना ने भेजा नोटिस का जबाब

नई दिल्ली, 3 अप्रैल । कई दिन से कथित रूप से नदारद माने जा रहे निजामुद्दीन स्थित मरकज तबलीगी जमात मुख्यालय प्रमुख मौलाना मो....

कोरोना संदिग्ध तबलीगी क्वारंटाइन होम्स में नहीं कर पाएंगे अश्लील डांस, पुलिस तैनात

गाजियाबाद, 3 मार्च । कोरोना संक्रमित संदिग्ध तबलीगी अब क्वारंटाइन सेंटर्स में सिकुड़-सिमट कर रहेंगे। अब वे नर्सों और डॉक्टरों के ऊपर थूकने की...

बाजार की शक्तियां आदिवासियों को वन उत्पाद बेचने से रोक सकती हैं : मंत्रालय

नई दिल्ली, 3 अप्रैल । जनजातीय मंत्रालय के अंर्तगत आने वाली ट्राइफेड ने कहा है कि लॉक डाउन का आदिवासी हितो पर भी जबरदस्त...