Thursday, July 9, 2020

चीन के हुपेई में भारी वर्षा से साढ़े छह लाख लोग आपदा से ग्रस्त

Must read

जयंति पर डॉ.कलाम को किया नमन

बीकानेर। देश महान वैज्ञानिक एवं पूर्व राष्ट्रपति डॉ.एपीजे अब्दूल कलाम की जयंति पर लक्ष्मी विहार कॉलोनी,सागर रोड़ स्थित राजकीय मरूधर अंध विद्यायल में आयोजित...

मध्य-पूर्व ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर रितु कुमार का पदार्पण

नई दिल्ली, 14 मार्च (आईएएनएस)। भारतीय डिजाइनरों को मध्य-पूर्व हमेशा से ही भाता रहा है, जिसके चलते वे यहां की फैशन की दुनिया में...

कोविड-19 : रांची के अस्पताल के कर्मचारी समेत 100 लोग क्वारंटाइन में

रांची, 19 अप्रैल (आईएएनएस) गुरुग्राम के एक अस्पताल में कोरोनोवायरस संक्रमण के कारण एक सेवानिवृत्त सरकारी अधिकारी की मौत के बाद रांची के एक...

कोविड-19 : वन8 कम्यून लॉकडाउन में 30000 लोगों तक पहुंचाएगी खाना

मुंबई, 3 मई (आईएएनएस)। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली के ब्रांड वन8 कम्यून ने कोविड-19 के कारण लागू बंद में 30,000 लोगों के...
Vishal Rohiwal
Vishal Rohiwal
विशाल रोहिवाल पिछले दस वर्ष से कंटेट राईटिंग व स्वतंत्र पत्रकार के रुप में काम कर रहें है। वर्तमान में हैलो राजस्थान की वेब टीम में सीनियर कंटेंट एडिटर के रुप में अपनी सेवांए दे रहें है।
- Advertisement -

बीजिंग, 29 जून (आईएएनएस)। चीन के हुपेई में भारी वर्षा से साढ़े छह लाख लोग आपदा से ग्रस्त हैं। 27 जून से शुरू भारी वर्षा से हूपेई प्रांत के ईछांग, श्यांगयांग, चिनमन आदि सात शहरों की 24 काऊंटियों में बाढ़ आ गई है।

हूपेई प्रांत के आपदा निवारण कार्यालय ने यह चेतावनी दी कि हूपेई प्रांत के मुख्य क्षेत्रों में मिट्टी की नमी संतृप्त हो जाती है। इसलिये हूपेई प्रांत के विभिन्न स्तरीय आपदा निवारण कार्यालयों को गंभीर रूप से मौसम परिवर्तन पर ध्यान देकर बाढ़ व भूस्खलन आदि आपदा का मुकाबला की करने के लिए तैयार रहना चाहिए।

- Advertisement -

गौरतलब है कि 27 जून से भारी वर्षा से हूपेई प्रांत में 45.7 करोड़ युआन का प्रत्यक्ष आर्थिक नुकसान पहुंचा है। हूपेई प्रांत के ईछांग, श्यांगयांग, चिनमन, श्याओकान, ह्वांगकांग, अनशी और शननोंगच्या वन क्षेत्र के आपातकालीन प्रबंध ब्यूरो द्वारा दी गयी रिपोर्ट के अनुसार 28 जून के दोपहर के बाद एक बजे तक भारी वर्षा से उक्त सात शहरों (स्टेट, वन क्षेत्र) की 24 काऊंटियों में 6 लाख 50 हजार 6 सौ लोग आपदा से ग्रस्त हुए हैं। 7005 लोगों को स्थानातरित किया गया है।

आपदा से प्रभावित फसल का क्षेत्रफल 79.53 हजार हेक्टेयर पहुंच गया। उन में 3.35 हजार हेक्टेयर क्षेत्रफल में अब कोई फसल नहीं होगी। आपदा से कुल 55 मकान ढह गये हैं। 454 मकान विभिन्न स्तरीय नष्ट हुए हैं। और प्रत्यक्ष आर्थिक नुकसान 45.7 करोड़ युआन तक पहुंच गया है।

उन के अलावा सिछ्वान प्रांत में तूफान से 12 लोगों की मौत हुई, अन्य 10 लोग लापता हैं।

(साभार-चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

- Advertisement -

— आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

बिहार में बाढ़ की आशंका को लेकर अलर्ट, बचाव के लिए होगा ड्रोन का उपयोग

पटना, 8 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार में बाढ़ की आशंका को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आपदा प्रबंधन विभाग को पूरी तरह अलर्ट रहने...

रीवा के सौर ऊर्जा संयंत्र से दिल्ली मेट्रो को मिलेगी बिजली

भोपाल, 8 जुलाई (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के रीवा जिले में स्थापित एशिया के सबसे बड़े सौर ऊर्जा संयंत्र रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर प्रोजेक्ट की...

कानपुर मुठभेड़ पर बोले एडीजी प्रशांत, पुलिस की कार्रवाई बनेगी नज़ीर

लखनऊ 8 जुलाई (आईएएनएस)। कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव मे उत्तर प्रदेश पुलिस के सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद...

कभी कभी कड़वा घूंट पीकर करनी पड़ती है समाज सेवा : विजयवर्गीय

भोपाल/इंदौर 8 जुलाई (आईएएनएस)। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए नेताओं के साथ काम करने का जिक्र करते...

पहले एलएसी तक पहुंचने में 14 दिन लगते थे, अब महज 1 दिन : लद्दाख स्काउट्स (आईएएनएस एक्सक्लूसिव)

लेह, 8 जुलाई (आईएएनएस)। वर्ष 1962 में जहां भारतीय सेना को वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) तक पहुंचने में 16 से 18 दिन का समय...