एएमयू के विद्यार्थियों ने शरजील इमाम की रिहाई की मांग की

Must read

बीकानेर : बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा ने शूटिंग शुरु की

@नवरतन सोनी बीकानेर। बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा ने बीकानेर जैसलमेर राष्ट्रीय राजमार्ग पर शूटिंग शुरु की। जिसमें वह ब्लैक कलर के कपड़े पहने बुलेट मेाटरसाइकिल...

भारतीयों के साथ होने को लेकर उत्सुक हूं : ट्रंप

न्यूयॉर्क, 24 फरवरी । अमेरिकी राष्ट्रपति (President of the United States) डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कहा है कि वह भारत के लोगों के साथ होने को लेकर उत्सुक हैं। वे...

अमेरिकी राष्ट्रपति (President of the United States) के खाने में होगा गुजरात का विशेष व्यजंन

अहमदाबाद, 24 फरवरी । अमेरिकी राष्ट्रपति (President of the United States) डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) अपनी पत्नी मेलानिया के भारत आज पहुंच रहे हैं। राष्ट्रपति ट्रंप गुजरात के अहमदाबाद में लैंड...

अमेरिका भारत को सबसे आधुनिक हथियार देने को तैयार : ट्रंप

अहमदाबाद, 24 फरवरी । मोटेरा स्टेडियम (Motera Stadium) में अमेरिकी राष्ट्रपति (President of the United States) डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कहा कि अमेरिका भारत को सबसे परिष्कृत (आधुनिक) हथियारों की आपूर्ति करने...
- Advertisement -

अलीगढ़, 14 फरवरी । अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में हालात फिर से तनावपूर्ण होने लगे हैं। कुछ विद्यार्थियों ने अब सीएए विरोधी कार्यकर्ता शरजील इमाम की रिहाई की मांग की है। शरजील को दिल्ली पुलिस ने पिछले महीने राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया था। शरजील की रिहाई की मांग करने वाले विद्यार्थियों में ज्यादातर छात्राएं हैं।

विद्यार्थियों ने गुरुवार को आजादी (आजादी) के नारे लगाए और मांग की कि शरजील इमाम को रिहा किया जाए। उन्होंने परिसर के अंदर मौलाना आजाद पुस्तकालय से बाब-ए-सैयद तक सीएए/एनआरसी/एनपीआर विरोधी मार्च भी निकाला।

- Advertisement -

पत्रकारों से बातचीत में प्रदर्शनकारी छात्राओं में से एक ने कहा कि वे जामिया मिलिया विश्वविद्यालय, जेएनयू और एएमयू में कथित पुलिस क्रूरता के खिलाफ अपना आंदोलन जारी रखेंगी। उन्होंने कहा कि कोई भी छात्र-छात्राओं की आवाज को दबा नहीं सकता है।

एक अन्य प्रदर्शनकारी ने कहा कि शरजील का भाषण गलत नहीं था, उसे गलत समझा गया था और उनके खिलाफ आरोप वापस लेना चाहिए।

प्रदर्शनकारी ने कहा, उसे न्याय मिलना चाहिए और राज्य भर में सीएए के विरोध प्रदर्शनों के दौरान गलत तरीके से सलाखों के पीछे पहुंचाए गए लोगों को भी रिहा किया जाना चाहिए।

एएमयू और जामिया में कथित भड़काऊ भाषणों के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर हिस्टोरिकल स्टडीज के पीएचडी स्कॉलर शरजील पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया था।

- Advertisement -

वीडियो में, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, इमाम को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि अगर वह पांच लाख लोगों को जुटा सके, तो शेष भारत के साथ असम को स्थायी रूप से काट देना संभव होगा.. यदि स्थायी रूप से नहीं, तो कम से कम कुछ महीनों के लिए तो ऐसा जरूर कर सकता है।

शरजील को 28 जनवरी को बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार किया गया था।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

दिल्ली : उपद्रवियों ने दागीं गोलियां, दुकानें लूटीं, वाहन जलाए

नई दिल्ली, 25 फरवरी । मौजपुर के समीप कबीर नगर इलाके में मंगलवार सुबह जमकर हिंसा हुई। यहां हिंसक तत्वों ने कई राउंड गोलियां...

देखना चाहता हूं, कौन सचिन के रनों के पहाड़ को पार करेगा : इंजमाम

लाहौर, 25 फरवरी । पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट कप्तान इंजमाम उल हक ने कहा है कि उन्हें इंतजार है कि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे...

कमल नाथ सरकार को वादे पूरा करने को मजबूर कर देगी भाजपा (BJP) : उमा

भोपाल, 25 फरवरी । मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा (BJP) की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमा भारती ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर वादे पूरे न...

उप्र : फर्जी मुठभेड़ों को लेकर सपा का सदन से बर्हिगमन

लखनऊ, 25 फरवरी । उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था और पुलिस द्वारा की जा रही फर्जी मुठभेड़ों को लेकर मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी...

बिहार : कैमूर वन्यप्राणी आश्रयणी क्षेत्र बनेगा टाइगर रिजर्व

सासाराम, 25 फरवरी । बिहार के रोहतास एवं कैमूर जिला में फैले कैमूर वन्यप्राणी आश्रयणी क्षेत्र को टाइगर रिजर्व घोषित किया जा सकता है।...