जब सट्टेबाज संजीव चावला ने पूछा आप ही हैं डीसीपी मिस्टर नायक! (आईएएनएस इनसाइड स्टोरी)

Must read

बीकानरे से सियालदाह दुरंतों एक्सप्रेस 24 फरवरी से

-श्याम मारू बीकानेर। बीकानेर से सियालदाह दुरंतो एक्सप्रेस (12259/12260 Sealdah – Bikaner - Sealdah Duronto Express) 24 फरवरी को रवाना होगी। इस ट्रेन के उद्घाटन...

बीकानेर : बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा ने शूटिंग शुरु की

@नवरतन सोनी बीकानेर। बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा ने बीकानेर जैसलमेर राष्ट्रीय राजमार्ग पर शूटिंग शुरु की। जिसमें वह ब्लैक कलर के कपड़े पहने बुलेट मेाटरसाइकिल...

भारतीयों के साथ होने को लेकर उत्सुक हूं : ट्रंप

न्यूयॉर्क, 24 फरवरी । अमेरिकी राष्ट्रपति (President of the United States) डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कहा है कि वह भारत के लोगों के साथ होने को लेकर उत्सुक हैं। वे...

सिद्धार्थ शुक्ला ने की बुजुर्ग प्रशंसक से मुलाकात

मुंबई, 23 फरवरी । बिग बॉस (Big Boss) 13 के विजेता सिद्धार्थ शुक्ला शो के फिनाले के बाद पहली बार रविवार को आम लोगों के बीच...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 14 फरवरी । दो दिन पहले हीथ्रो हवाईअड्डा (लंदन) पर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट सट्टेबाज संजीव चावला ने क्राइम ब्रांच के डीसीपी डॉ. जी. रामगोपाल नायक के ऊपर ऐसा सवाल दाग दिया, जिसे सुनकर खुद डीसीपी और साथ मौजूद दिल्ली पुलिस अपराध शाखा के उनके बाकी मातहत भी हक्के-बक्के रह गए। अब सवाल उठता है कि वह सवाल था क्या?

दरअसल, इस पूरे और अजीब-ओ-गरीब वाकए के पीछे की सच्ची कहानी कुछ इस तरह है। ब्रिटेन (लंदन) के समयानुसार, बुधवार-गुरुवार यानी 12-13 फरवरी, 2020 की रात करीब साढ़े नौ बजे (भारतीय समय के मुताबिक मध्य रात्रि के बाद करीब ढाई बजे) स्कॉटलैंड यार्ड की टीम पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक, संजीव चावला को लेकर हीथ्रो हवाईअड्डे पर पहुंच गई। तीन चार दिन से लंदन में डेरा डाले दिल्ली पुलिस अपराध शाखा के डीसीपी डॉ. जी. रामगोपाल नायक के नेतृत्व वाली टीम दो इंस्पेक्टरों के साथ हवाईअड्डे पर पहले से ही मौजूद थी।

- Advertisement -

हीथ्रो हवाईअड्डे पर लंदन स्थित भारतीय दूतावास के भी कुछ अफसरान मौजूद थे। दिल्ली पुलिस मुख्यालय सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस के डीसीपी क्राइम ब्रांच डॉ. जी. रामगोपाल नायक 19 साल से लंदन में छिपे बैठे क्रिकेट सट्टेबाज संजीव चावला को प्रत्यार्पित कराके भारत लाने के लिए निजी रूप से भगीरथ प्रयास में जुटे हुए थे। उनकी इस पहल में कंधे से कंधा मिलाकर साथ दिया, हिंदुस्तानी हुकूमत के केंद्रीय गृह और विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) (Ministry of External Affairs)ों ने।

अगर भारतीय हुकूमत दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच द्वारा संजीव चावला के प्रत्यर्पण प्रक्रिया की दोबारा खोली गई फाइलों को गंभीरता से न लेती, तो चावला को लंदन से भारत ला पाना इस बार फिर फंस सकता था।

सूत्रों के मुताबिक, भारत में दिल्ली पुलिस अपराध शाखा की टीमें जब संजीव चावला के प्रत्यर्पण संबंधी दस्तावेजों को खंगालने में जुटी थीं। तब दूसरी ओर उसी दौरान लंदन में दुबका बैठा भारत का मोस्ट वॉंटेड क्रिकेट सट्टेबाज संजीव चावला दिल्ली पुलिस अपराध शाखा के पुलिस अफसरों की कुंडली खंगाल रहा था।

इस तथ्य से पर्दा तब उठा, जब बुधवार-गुरुवार की रात हीथ्रो हवाईअड्डे पर स्कॉटलैंड यार्ड ने संजीव चावला को कानूनी रूप से दिल्ली पुलिस के कब्जे में दिया। चावला की चाल-ढाल अचानक बदल गई। क्राइम ब्रांच टीम जैसे ही उसे लेकर एयर इंडिया की फ्लाइट संख्या एआई-112 की ओर बढ़ी, वैसे ही संजीव चावला की एक आवाज ने सबको चौंका दिया।

- Advertisement -

लंदन से चावला को घेरकर दिल्ली लाई अपराध शाखा की टीम के ही एक विश्वस्त सूत्र ने नाम न खोलने की शर्त पर शुक्रवार को आईएएनएस को बताया, हीथ्रो हवाईअड्डे पर जैसे ही संजीव चावला हमारे हवाले हुआ, उसने सबसे पहले टीम के तीनों सदस्यों (डीसीपी डॉ.जी. रामगोपाल नायक और उनके साथ मौजूद बाकी दोनों इंस्पेक्टर) को ऊपर से नीचे तक घूर कर देखा।

इसी टीम के एक अन्य सदस्य के मुताबिक, संजीव चावला और हमारी टीम (दिल्ली पुलिस अपराध शाखा) के सदस्य अभी चंद कदम ही (हीथ्रो हवाईअड्डे पर हवाई जहाज की ओर) चल पाए होंगे कि अचानक वातावरण में आवाज गूंजी..वह आवाज, जिसे सुनकर एक बार तो हम सब सन्न रह गए..आवाज थी सटोरिए संजीव चावला की और उसका सवाल था डीसीपी अपराध शाखा डॉ. जी. रामगोपाल नायक आप ही हैं डीसीपी मिस्टर नायक!

संजीव चावला के इस अप्रत्याशित सवाल का जबाब नायक ने भी सधे हुए और संक्षिप्त शब्दों में दे दिया, यस यू आर करेक्ट। आईएम आईपीएस डीसीपी क्राइम ब्रांच मिस्टर रामगोपाल नायक।

इतना जवाब देते ही डीसीपी ने संजीव चावला के सामने सवाल दागा, हाऊ डू यू नो अबाउट मी? इसके जवाब में चावला बोला, सर आई गूगल्ड यू। यानि मैंने (संजीव चावला ने)आपको गूगल पर सर्च किया था।

- Advertisement -

यानी यह बात खुद मोस्ट वॉंटेड ने ही सिद्ध कर दी कि जब दिल्ली पुलिस भारत में उसकी फाइलें खंगाल रही थी, तव वह (संजीव चावला) लंदन में बैठा दिल्ली पुलिस अपराध शाखा की उस टीम की कुंडली पढ़ रहा था, जो उसे लंदन से घेरकर भारत लाने में जुटी थी।

— आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

दिल्ली और झारखंड में भाजपा (BJP) विधानमंडल दल के नेता का आज होगा ऐलान

रांची/दिल्ली, 24 फरवरी । दिल्ली और झारखंड में भाजपा (BJP) के विधानमंडल दल के नेता का चयन आज हो जाएगा। इसके लिए दोनों ही प्रदेशों...

वेंडल रॉड्रीक्स पथ-प्र्दशक और दूरदर्शी व्यक्ति थे : प्रियंका चोपड़ा

मुंबई, 24 फरवरी । अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा जोनास ने 15 वें ब्लेंडर्स प्राइड फैशन टूर में रैंप पर वॉक के दौरान दिवंगत फैशन डिजाइनर...

सारी संपत्ति चैरिटी को दान कर गए कर्क डगलस

लॉस एंजेलिस, 24 फरवरी । दिवंगत हॉलीवुड कलाकार कर्क डगलस करीब 6.1 करोड़ डॉलर की अपनी संपत्ति चैरिटी को दान कर गए और सुपरस्टार...

अमेरिका : टेक्सास मार्केट गोलीबारी, 7 घायल

ह्यूस्टन, 24 फरवरी । अमेरिका के टेक्सास स्थित कबाड़ी बाजार में गोलीबारी की घटना में सात लोग घायल हो गए।समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रपटों...

2010 में मैं 15 साल की थी कहने के बाद ट्रोल हुईं स्वरा भास्कर

मुंबई, 24 फरवरी । एक कार्यक्रम के दौरान अपनी उम्र गलत बताने के बाद अभिनेत्री स्वरा भास्कर (Bollywood Actress Swara Bhaskar trolled) एक बार...