भाजपा (BJP) दिल्ली में द्विध्रुवीय मुकाबले के कारण हारी

Must read

प्रधानमंत्री कृषि फसल बीमा को स्वैच्छिक बनाने को कैबिनेट की मंजूरी

नई दिल्ली, 19 फरवरी । केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को प्रधानमंत्री कृषि बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) (Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana) को किसानों के लिए स्वैच्छिक बनाने का फैसला...

बॉलीवुड सिंगर संतोख सिंह के ‘मोनालिसा’ व ‘दिल्ली की जाटणी’ ने मचाई धूम

-सपना चौधरी के साथ ‘मौजां...’ व ‘5 साल...’  बटोर रहे हैं सुर्खियां  @गुरजंट धालीवाल  जयपुर. म्युजिक डायरेक्टर, गीतकार व बॉलीवुड सिंगर संतोख सिंह इन दिनों हाल ही...

वापसी करने को लेकर प्रतिबद्ध था : चिंग्लेसाना

भुवनेश्वर, 19 फरवरी । भारतीय पुरुष हॉकी टीम का एफआईएच प्रो लीग में बीते चार मैचों में मिडफील्ड का प्रदर्शन शानदार रहा है। टीम...

दिल्ली महिला आयोग प्रमुख स्वाति ने पति नवीन से लिया तलाक

नई दिल्ली, 19 फरवरी । दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) (Delhi commission for women (dcw))की प्रमुख स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal)ने बुधवार को कहा कि उन्होंने...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 14 फरवरी । दिल्ली विधानसभा (Delhi Legislative Assembly) (Delhi Legislative Assembly) चुनाव में हार के कारण जानने के लिए भाजपा (BJP) (BJP) ने शुक्रवार से मंथन शुरू किया। पहले दिन की समीक्षा बैठक में पार्टी नेताओं ने तर्क दिया कि दिल्ली का चुनाव बाइपोलर (द्विध्रुवीय) हो गया था, जिस कारण भाजपा (BJP) (BJP) की हार हुई।

मंथन के बाद पार्टी नेताओं ने निष्कर्ष निकाला कि चुनाव आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) (Aam Aadmi Party) और भाजपा (BJP) (BJP) के बीच सिमट गया। कांग्रेस ने वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में मिले करीब 10 प्रतिशत के बराबर भी इस चुनाव में वोट शेयर हासिल नहीं किया। यही कारण है कि पार्टी उम्मीद के मुताबिक सीटें नहीं जीत सकी। अगर कांग्रेस अपने हिस्से का वोट प्राप्त करती तो तस्वीर बदल सकती थी। यह तर्क देने वालों में प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी भी शामिल रहे।

- Advertisement -

दिल्ली प्रदेश कार्यालय पर शुक्रवार को हुई समीक्षा बैठक में चुनाव संचालन समिति से जुड़े सदस्यों से लेकर प्रदेश इकाई के नेता जुटे। पहले दिन की बैठक में जोन प्रभारी, विस्तारक और मोर्चो के प्रभारियों को बुलाया गया था। राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह और विधानसभा चुनाव सह प्रभारी नित्यानंद राय के निर्देशन में दो चरणों में समीक्षा बैठक हुई।

पार्टी सूत्रों का कहना है कि इस चुनाव में नेताओं ने हार के पीछे कई तर्क दिए। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार ने सस्ता बिजली, पानी और महिलाओं के लिए बसों में मुफ्त सफर जैसी योजनाओं का दांव चलकर एक वोटबैंक तैयार कर लिया।

वहीं कुछ नेताओं ने कहा कि शाहीनबाग के शोर में भाजपा (BJP) (BJP) के संकल्पपत्र के तमाम वादे दब गए, पार्टी सही तरह से दिल्ली के आम मतदाताओं से कनेक्ट नहीं हो सकी। वहीं कुछ नेताओं ने केजरीवाल के खिलाफ गैरजरूरी विवादित बयानों को उठाए जाने से जनता में नकारात्मक संदेश जाने की भी बात कही।

दिल्ली प्रदेश कार्यालय पर शनिवार को भी भाजपा (BJP) (BJP) समीक्षा बैठक करेगी। इस बैठक में प्रत्याशियों को भी बुलाया गया है। हर प्रत्याशी अपनी सीट पर हार के कारण बताते हुए रिपोर्ट पेश करेगा।

- Advertisement -

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

यूईएफए के फंड को लेकर आरोप गलत : मैनचेस्टर सिटी सीईओ

लंदन, 20 फरवरी । इंग्लिश फुटबाल क्लब मैनचेस्टर सिटी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) फेरान सोरियानो ने कहा है कि क्लब पर लगे वित्तीय...

जबलपुर : जदयू निकालेगा जनसमस्या निवारण रथ

जबलपुर, 20 फरवरी । मध्य प्रदेश में होने वाले नगरीय निकायों के चुनाव की जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने तैयारियां शुरू कर दी हैं।...

वालेमिंक की जगह स्ट्रानो आस्ट्रेलियाई महिला टीम में

मेलबर्न, 20 फरवरी । आस्ट्रेलिया की तेज गेंदबाज टायला वालेमिंक दाएं पैर में चोट के कारण महिला टी-20 विश्व कप से बाहर हो गई...

स्पिलबर्ग की बेटी ने की पॉर्न स्टार के रूप में करियर शुरू करने की घोषणा

लॉस एंजेलिस, 20 फरवरी । फिल्मकार स्टीवन स्पिलबर्ग की बेटी मिकाइला एडल्ट एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में अपना करियर बना रही हैं।एसेशोबिज डॉट कॉम की रिपोर्ट...

हॉफमैन ने जारी किया देसी म्यूजिक वीडियो

मुंबई, 20 फरवरी । स्टेप अप 2 फेम हॉलीवुड अभिनेता-डांसर-कोरियोग्राफर रॉबर्ट हॉफमैन बुधवार को भारत आए और यहां टीका लगाकर और माला पहनाकर पारंपरिक...