उप्र में पुलिस फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी, बुंदेलखंड व विंध्य को मिली सौगात

Must read

बीकानेर में कोरोना पॉजिटिव के 2 केस सामने आए, फड़ बाजार और रानीसर क्षेत्रों में कर्फ्यू

बीकानेर। कोरोना संक्रमण के चलते चल रहे लाॅकडाउन के दौरान की जा रही स्क्रीनिंग के चलते हुई जांच की शुक्रवार को आई रिर्पोट में...

बीकानेर : केन्द्रीय राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल के प्रयासों से पीबीएम हाॅस्पीटल को मिले 23.60 लाख रुपये

बीकानेर। कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण की रोकथाम के लिए बीकानेर क्षेत्र में संसाधनों व हेल्थ एक्विपमेंट्स की कमी न हो इसके लिए स्थानीय सांसद...

अनंतनाग में आतंकियों ने की नागरिक की हत्या

श्रीनगर, 3 अप्रैल । कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकवादियों ने एक नागरिक की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने बुधवार को हुई...

भाजपा (BJP) नेता ने कहा- कालाधन से चल रहा तबलीगी जमात, मुखिया की संपत्ति जब्त करे सरकार

नई दिल्ली, 2 अप्रैल । दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन में शामिल हुए कई सदस्यों के कोरोना का शिकार होने के बाद...
- Advertisement -

लखनऊ, 25 फरवरी । उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में देश की पहली पुलिस फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी की स्थापना को कैबिनेट से मंजूरी मिल गई है। साथ ही बुंदेलखंड व विंध्यक्षेत्र को पाइप लाइन से पानी पहुंचाने के लिए 15 हजार करोड़ रुपये के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है।

मंगलवार को राजधानी स्थित लोकभवन में हुई कैबिनेट की बैठक में इस बारे में प्रस्ताव पास किया गया। हाल ही में राज्य सरकार द्वारा पेश किए गए बजट में विश्वविद्यालय के लिए 20 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया था। इसके अलावा 15 हजार करोड़ रुपये की लागत से बुंदेलखंड-विंध्यांचल क्षेत्र में पाइप लाइन का प्रस्ताव भी मंजूर किया गया है। इससे 100 फीसदी इलाके को कवर किया जाएगा।

- Advertisement -

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) (Yogi Adityanath) की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में कुल 11 प्रस्तावों पर मुहर लगी है। इस दौरान गृह विभाग, वित्त विभाग व परिवहन विभाग से जुड़े कई प्रस्तावों को कैबिनेट में मंजूरी दी गई है।

बुंदेलखंड विंध्य क्षेत्र में 100 प्रतिशत पाइप लाइन के लिए 15 हजार करोड़ के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई।

सरकार की बैठक में गृह विभाग, वित्त विभाग और परिवहन विभाग से जुड़े कई प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। इसके अलावा बांदा के बबेरू में बस अड्डे के लिए तहसील की जमीन मुहैया कराने पर सहमति बनी है।

सरकार द्वारा दी गई जानकारी में नई दिल्ली स्थित उत्तर प्रदेश सरकार के कार्यालयों के लिए लीज पर लिए गए सम्मिलित रूप से एक अनावासीय भवन किदवई नगर की अतिरिक्त साज सज्जा का कार्य करने के संबंध में प्रस्ताव कैबिनेट में पास हुआ।

- Advertisement -

उत्तर प्रदेश फंडामेंटल रूल्स के मूल नियम-56 (ई) में संशोधन के लिए प्रस्ताव को भी मंजूरी मिली है। ये नियम सरकार को जनहित में ऐसे सरकारी कर्मचारी को रिटायर करने का अधिकार देते हैं, जिसकी ईमानदारी संदेहपूर्ण हो और वह काम में निष्प्रभावी पाया गया हो।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

हुबेई : महामारी से लड़ने वाले 14 लोगों को शहीद का दर्जा

बीजिंग, 3 अप्रैल । चीन के हुबेई प्रांत की सरकार ने नए कोरोना वायरस (Corona Virus) निमोनिया महामारी से लड़ने के दौरान जाने वाले वांग पिंग,...

पाक के गृह मंत्री ने पर्ल मामले के दोषी को रिहा करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई

नई दिल्ली, 3 अप्रैल । पाकिस्तान के गृहमंत्री और इसके आंतरिक खुफिया एजेंसी के पूर्व प्रमुख ब्रिगेडियर एजाज अहमद शाह ने संभवत: डेनियल पर्ल...

उत्तर प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 174 हुई

लखनऊ, 3 अप्रैल । कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते संकट के बीच तबलीगी जमात में शामिल लोग मुसीबत बनते जा रहे हैं। जमात में शामिल...

कोरोना की रोकथाम को राजनाथ के घर हुई मंत्रिसमूह की बैठक

नई दिल्ली, 3 अप्रैल । देशभर में कोरोना वायरस (Corona Virus) के मामलों में बढ़ोतरी के बीच शुक्रवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के घर मंत्रिसमूह की...

मप्र में कोरोना पीड़ितों की संख्या 154, एक आईएएस भी संक्रमित (लीड-1)

भोपाल, 3 अप्रैल । मध्य प्रदेश में कोरोना पीड़ितों की संख्या लगातार बढ़ रही है, अब यह आंकड़ा 154 तक पहुंच गया है। एक...