दिल्ली हिंसा : लुटती रहीं दुकानें, बेबस देखती रही पुलिस, हॉस्पिटल भी तोड़ा

Must read

बीकानेर में कोरोना पॉजिटिव के 2 केस सामने आए, फड़ बाजार और रानीसर क्षेत्रों में कर्फ्यू

बीकानेर। कोरोना संक्रमण के चलते चल रहे लाॅकडाउन के दौरान की जा रही स्क्रीनिंग के चलते हुई जांच की शुक्रवार को आई रिर्पोट में...

बीकानेर : केन्द्रीय राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल के प्रयासों से पीबीएम हाॅस्पीटल को मिले 23.60 लाख रुपये

बीकानेर। कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण की रोकथाम के लिए बीकानेर क्षेत्र में संसाधनों व हेल्थ एक्विपमेंट्स की कमी न हो इसके लिए स्थानीय सांसद...

अनंतनाग में आतंकियों ने की नागरिक की हत्या

श्रीनगर, 3 अप्रैल । कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकवादियों ने एक नागरिक की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने बुधवार को हुई...

भाजपा (BJP) नेता ने कहा- कालाधन से चल रहा तबलीगी जमात, मुखिया की संपत्ति जब्त करे सरकार

नई दिल्ली, 2 अप्रैल । दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के आयोजन में शामिल हुए कई सदस्यों के कोरोना का शिकार होने के बाद...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 25 फरवरी । उत्तरी-पूर्वी दिल्ली मंगलवार को भी भी हिंसा की चपेट में रही। जाफराबाद से मौजपुर, बाबरपुर तक दुकानें लूटी और जलाई गईं। पत्थरबाजी के साथ गोलियां भी चलीं।

उपद्रवी हजारों की संख्या में घातक हथियारों केसाथ अचानक सड़कों पर उतर जाते तो सौ-पचास की संख्या में मौजूद पुलिस बेबस हो उठती। पुलिस तभी उग्र भीड़ को खदेड़ना का साहस कर पाती, जब अर्धसैनिक बलों के जवान मौके पर बसों से पहुंचते। कुछ ऐसा ही हाल सीलमपुर से लेकर बाबरपुर और गोकुलपुरी की तरफ जाने वाली सड़क पर देखने को मिला।

- Advertisement -

जाफराबाद, मौजपुर आदि इलाकों में आगजनी की कई घटनाओं के कारण दमकल वाहनों का बार-बार आना-जाना लगा रहा। मौजपुर के विजयपार्क स्थित संजीवनी हॉस्पिटल को उग्र भीड़ ने निशाना बनाया। हॉस्पिटल के शीशे तोड़ दिए। बगल शगुन स्वीट होम का गेट तोड़कर उपद्रवी घुस गए। यहां जूते-चप्पल की दुकान भी लूट ली गई।

पुलिस लाठियां लेकर दौड़ाती तो लोग अंदर गलियों में घुस जाते और फिर पुलिस के जाते ही सड़कों पर डंडे लेकर खौफ पैदा करते। देखने में आया कि सीलमपुर से लेकर मौजपुर तक अपेक्षित पुलिस बल की भी तैनाती नहीं रही।

उपद्रवियों के दुस्साहस का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उन्होंने सीलमपुर के थाना प्रभारी की गाड़ी पर भी लाठी और पत्थर से हमला बोल दिया। गाड़ी के शीशे चकनाचूर हो गए, और ड्राइवर को चोट आई।

पुलिसवालों ने आईएएनएस को बताया कि बीते मंगलवार को तो उग्र भीड़ ने सीलमपुर थाने को भी आग लगाने की कोशिश की थी। संयोग अच्छा था कि जवानों की संख्या ज्यादा थी, जिससे उन्हें खदेड़ दिया गया था।

- Advertisement -

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

कोविड-19 : नोएडा के 4 होटलों में बनेंगे आइसोलेशन वार्ड

नोएडा, 3 अप्रैल । कोरोना वायरस (Corona Virus) के नोएडा में लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला प्रशासन ने संक्रमित मरीजों को आइसोलेट करने के...

वुहान कोविड-19 का स्रोत नहीं है : अमेरिकी वैज्ञानिक

बीजिंग, 3 अप्रैल । अमेरिकी वैज्ञानिकों द्वारा हाल ही में जारी एक अध्ययन पेपर से जाहिर हुआ है कि कोविड-19 वायरस प्राकृतिक रूप से...

कोरोना के कहर से उबर नहीं पाया बाजार, 2 फीसदी टूटे सेंसेक्स, निफ्टी (राउंडअप)

मुंबई, 3 अप्रैल । कोरोना के कहर सेशेयर बाजार सप्ताह के आखिरी सत्र में भी नहीं उबर पाया और प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसक्स और...

एकजुट होकर कोरोना वायरस (Corona Virus) का मुकाबला सबसे महत्वपूर्ण : यूरोपीय संघ के अधिकारी

बीजिंग, 3 अप्रैल । हाल में चीन ने विदेशों को महामारी की रोकथाम के लिए चिकित्सा सामग्री दान में दी। कुछ पश्चिमी लोगों ने...

चीन ने 54 अफ्रीकी देशों के साथ तकनीकी सहयोग किया

बीजिंग, 3 अप्रैल । चीन ने 54 अफ्रीकी देशों के साथ तकनीकी सहयोग किया और उन्हें तकनीकी सहायता दी। दूसरी तरफ अफ्रीकी देशों में...