Tuesday, July 7, 2020

भाजपा में सिंधिया के आने से कई नेताओं की चिंताएं बढ़ीं

Must read

भारत पर बहुत गर्व है : राष्ट्रपति ट्रंप

अहमदाबाद, 24 फरवरी (आईएएनएस)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को यहां मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम में आयोजित नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम में अपने संबोधन...

मानसून हुआ मेहरबान, खरीफ बुवाई में 104 फीसदी का इजाफा

नई दिल्ली, 26 जून (आईएएनएस)। मानसून के मेहरबान होने से चालू खरीफ सीजन के फसलों की बुवाई जोर पकड़ी है। सभी खरीफ फसलों की...

नागिन 4 के अभिनेता संजय ने अलौकिक शक्तियों की बात छेड़ी

मुंबई, 19 फरवरी (आईएएनएस)। अभिनेता संजय गांधी ने टेलीविजन धारावाहिक हैवान के बाद अलौकिक शक्तियों पर आधारित एक और कार्यक्रम नागिन 4 के साथ...

राष्ट्रीय पर्यटन पर्व: राजपथ पर बिखरा गुलाबो के दिलकश कालबेलिया नृत्य

घूमर और चरी नृत्य के साथ राजस्थानी संस्कृति की छटा ने दर्शकों का मन मोहा नई दिल्ली। राजपथ पर राष्ट्रीय पर्यटन पर्व के समापन अवसर...
Vishal Rohiwal
Vishal Rohiwal
विशाल रोहिवाल पिछले दस वर्ष से कंटेट राईटिंग व स्वतंत्र पत्रकार के रुप में काम कर रहें है। वर्तमान में हैलो राजस्थान की वेब टीम में सीनियर कंटेंट एडिटर के रुप में अपनी सेवांए दे रहें है।
- Advertisement -

भोपाल, 12 मार्च (आईएएनएस)। कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में शुमार रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में आने से जहां पार्टी का केंद्रीय और राज्य का संगठन खुश है, वहीं कई नेताओं के माथे पर चिंता की लकीरें नजर आ रही हैं, क्योंकि सिंधिया के प्रभाव और आभामंडल के चलते कई नेताओं को पार्टी में अपनी चमक फीकी पड़ने का अंदेशा सताने लगा है।

राज्य में भाजपा डेढ़ दशक तक सत्ता में रही, मगर लगभग डेढ़ साल पहले हुए विधानसभा चुनाव में इसे बहुमत नहीं मिल पाया। भाजपा और सत्ता हासिल करने वाली कांग्रेस को मिली सीटों में बड़ा अंतर नहीं है। कांग्रेस के पास जहां 114 विधायक हैं, वहीं भाजपा के 107 विधायक हैं। कांग्रेस की सरकार सपा, बसपा और निर्दलीय विधायकों के समर्थन से चल रही है।

- Advertisement -

भाजपा ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी जहां गोपाल भार्गव को सौंपी है तो प्रदेशाध्यक्ष वी.डी. शर्मा को बनाया है। राज्य में भाजपा के प्रमुख नेताओं में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, प्रहलाद पटेल, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा, कैलाश विजयवर्गीय, सांसद राकेश सिंह की गिनती होती है। इन नेताओं के साथ एक और नाम जुड़ गया है और वह है कांग्रेस से आए ग्वालियर राजघराने के वारिस ज्योतिरादित्य सिंधिया, जिन्हें महाराज कहा जाता है।

भाजपा नेताओं के प्रभाव को देखें तो नरेंद्र सिंह तोमर ग्वालियर-चंबल, प्रहलाद पटेल बुंदेलखंड-महाकौशल, गोपाल भार्गव बुंदेलखंड, नरोत्तम मिश्रा ग्वालियर, कैलाश विजयवर्गीय मालवा-निमांड, राकेश सिंह महाकौशल क्षेत्र तक ही सियासी दखल रखते हैं। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक मात्र नेता हैं, जिनका पूरे प्रदेश में जनाधार है।

भाजपा से जुड़े एक नेता ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर कहा, सिंधिया के भाजपा में आने से पार्टी को मजबूती मिलेगी, युवा वर्ग और जुड़ेगा, जिससे पार्टी का जनाधार बढ़ेगा, मगर यह भी सही है कि पार्टी के राज्य के कई नेताओं को सिंधिया का आना रास नहीं आ रहा है, क्योंकि सिंधिया वह नेता हैं, जिनकी पूरे राज्य के साथ ही राष्ट्रीय स्तर पर भी पहचान है।

भाजपा नेता का आगे कहना है कि एक तरफ जहां सिंधिया की व्यक्तिगत छवि है, वहीं दूसरी ओर पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व से उनके बेहतर संबंध बन गए हैं। इसके अलावा सिंधिया उस परिवार से आते हैं, जिसने जनसंघ और भाजपा की नींव रखने में अहम भूमिका निभाई है, साथ ही सिंधिया राजघराने को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भी महत्व देता है।

- Advertisement -

वरिष्ठ पत्रकार अरविंद मिश्रा का कहना है कि सिंधिया के भाजपा में जाने से जहां एक ओर कांग्रेस को बड़ा नुकसान हुआ है, वहीं भाजपा को एक बेहतर नेतृत्व मिल गया है। यह बात सही है कि सिंधिया के भाजपा में आने से पार्टी के कई नेताओं को अपने कद-काठी पर असर पड़ने की आशंका सताने लगी है, क्योंकि सिंधिया विवादों से दूर और युवाओं के बीच खास अहमियत रखने वाले नेताओं में से एक हैं। उनकी पहुंच सीधे आलाकमान तक है।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

मप्र की राजनीति और चंपक वन

भोपाल, 7 जुलाई (आईएएनएस)। बच्चों की पसंदीदा कहानी पत्रिकाओं में से एक है चंपक। इस पत्रिका में चंपक वन की कहानियां बच्चों को खूब...

कोविड19 : सीबीएसई के सिलेबस में 30 प्रतिशत कटौती (लीड-1)

नई दिल्ली, 7 जुलाई (आईएएनएस)। कोरोना महामारी संक्रमण को देखते हुए कक्षा 9 से 12 तक छात्रों के सिलेबस में कटौती की गई है।...

कोविड19 : सीबीएसई के स्कूली सिलेबस में 30 प्रतिशत कटौती

नई दिल्ली। कोरोना महामारी संक्रमण को देखते हुए छात्रों के सिलेबस में कटौती की गई है। मूल अवधारणाओं को बनाए रखते हुए पाठ्यक्रम को...

कोविड-19 महमारी के बीच काम पर लौटीं तापसी पन्नू

मुंबई, 7 जुलाई (आईएएनएस)। लॉकडाउन के तीन महीने के बाद अभिनेत्री तापसी पन्नू काम पर वापस लौट आई हैं।अभिनेत्री ने मंगलवार को इंस्टाग्राम स्टोरीज...

विकास दुबे का सुराग नहीं, दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल अलर्ट

नई दिल्ली, 7 जुलाई (आईएएनएस)। गैंगस्टर विकास दुबे की तलाश में जुटी उत्तर प्रदेश की कई पुलिस टीमों को अभी तक उसका कोई सुराग...