पीएम मोदी की अपील, 21 दिनों तक प्रतिदिन 9 गरीब परिवारों की करें मदद

Must read

लॉकडाउन से बोर होकर उर्वशी ने डाली अपनी एक नई तस्वीर

मुंबई, 4 अप्रैल (आईएएनएस)। अभिनेत्री उर्वशी रौतेला (Urvashi Rautela)आजकल कोविड-19 को फैलने से रोकने के चलते देशभर में बुलाए गए लॉकडाउन में घर पर...

चूरू : कर्फ़्यू के दौरान डोर टू डोर सामान उपलब्ध करा रही मोबाइल वैन

चूरू। जिले के चूरू नगरीय क्षेत्र में धारा 144 अंतर्गत लगाए गए कर्फ़्यू के दौरान आमजन को चूरू सहकारी उपभोक्ता होलसेल भंडार की मोबाइल...

अब माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने विद्यार्थियेां के लिए जारी किया ऑनलाइन कंटेंट

जयपुर। देशभर में लाॅकडाउन के दौरान विद्यार्थियेां को समय पर पढ़ाई से जोड़ा जा सके इसके लिए आनलाइन कक्षाएं लगाई जा रही है तो...

वेब सीरीज के लिए अपनी डायट पर मेहनत कर रही हैं लिजा मलिक

मुंबई, 3 अप्रैल (आईएएनएस)। अभिनेत्री लिजा मलिक अपनी वेब सीरीज हू इज योर डैडी? में अपने किरदार के लिए भिन्न डायट चार्ट को फॉलो...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 25 मार्च(आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना का जवाब करुणा से देने की अपील की है। उन्होंने कहा कि समर्थवान लोग अगले 21 दिनों तक प्रतिदिन नौ गरीबों की मदद करने का प्रण लें तो अच्छा नवरात्र हो जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह बातें लॉकडाउन के कारण गरीबों के सामने आईं मुश्किलों के सवाल पर कहीं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम गरीबों और जरूरतमंदों के प्रति करुणा दिखाकर भी कोरोना को पराजित करने का एक कदम उठा सकते हैं।

- Advertisement -

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसदीय क्षेत्र वाराणसी की जनता को वीडियो कांफ्रेंसिंग से शाम पांच बजे संबोधित करते हुए कहा, अभी नवरात्र शुरू हुआ है। अगर हम अगले 21 दिन तक, 9 गरीब परिवारों की मदद करने का प्रण लें, तो इससे बड़ी आराधना मां की क्या होगी। इसके अलावा आपके आसपास जो पशु हैं, उनकी भी चिंता करनी है। मेरी लोगों से प्रार्थना है कि अपने आस-पास के पशुओं का भी ध्यान रखें।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, जो तकलीफें आज हम उठा रहे हैं, जो मुश्किल आज हो रही है, उसकी उम्र फिलहाल 21 दिन ही है। लेकिन कोरोना का संकट समाप्त नहीं हुआ, इसका फैलना नहीं रुका तो कितना ज्यादा नुकसान हो सकता है, इसका अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ऐसे में जब देश के सामने इतना बड़ा संकट हो, पूरे विश्व के सामने इतनी बड़ी चुनौती हो, तब मुश्किलें नहीं आएंगी, सब कुछ अच्छा होगा, ये कहना अपने साथ धोखा करने जैसा होगा। अगर मैं कहूं कि सब कुछ ठीक है, सब कुछ सही है, तो मैं मानता हूं कि ये खुद को भी धोखा देने वाली बात होगी।

— आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

ऑनलाइन योग कार्यक्रम से जुड़ीं जेनिफर लोपेज, मलाइका अरोड़ा

नई दिल्ली, 6 अप्रैल (आईएएनएस) जेनिफर लोपेज, एलेक्स रोड्रिगेज, मलाइका अरोड़ा, ऐश्वर्या धनुष और मार्क मस्त्रोव (जिन्हें फिटनेस का स्टीव जॉब्स कहा जाता है)...

बॉलीवुड के शीर्ष निर्माता की बेटी का कोविड-19 परीक्षण पॉजिटिव

मुंबई, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। बॉलीवुड के एक शीर्ष निर्माता जिनका नाम रा.वन और चेन्नई एक्सप्रेस जैसी फिल्मों जुड़ा रहा है, उनकी बेटी का सोमवार...

कोरोना के कहर के बावजूद अभ्यास पर लौटा बायर्न म्यूनिख

म्यूनिख, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। कोरोना वायरस के कारण इस समय पूरी दुनिया में खेल गतिविधियां रुकी हुई हैं लेकिन जर्मनी का शीर्ष फुटबाल क्लब...

पूर्वोत्तर में अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं के साथ लॉकडाउन प्रभावी रूप से लागू : सरकार

अगरतला, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि सिक्किम सहित आठ पूर्वोत्तर राज्यों में चल रहे लॉकडाउन को पांच...

जम्मू एवं कश्मीर ने उपकरण की कमी की खबर का खंडन किया

श्रीनगर, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। जम्मू एवं कश्मीर स्वास्थ्य विभाग ने उन खबरों का खंडन किया है जिसमें कहा गया है कि केंद्र शासित प्रदेश...