विदेशों से 21 मार्च के बाद आए 64000 लोग : डॉ. हर्षवर्धन

Must read

लॉकडाउन से बोर होकर उर्वशी ने डाली अपनी एक नई तस्वीर

मुंबई, 4 अप्रैल (आईएएनएस)। अभिनेत्री उर्वशी रौतेला (Urvashi Rautela)आजकल कोविड-19 को फैलने से रोकने के चलते देशभर में बुलाए गए लॉकडाउन में घर पर...

आधी रात तबलीगियों को दौड़ा ग्रामीणों ने नहीं घुसने दिया क्वारंटाइन सेंटर

फरीदाबाद, 3 अप्रैल (आईएएनएस)। कोरोना के बहाने साथ-साथ मौत लेकर घूमने के आरोपी तबलीगी चारों ओर से घिरते जा रहे हैं। देश के तकरीबन...

वेब सीरीज के लिए अपनी डायट पर मेहनत कर रही हैं लिजा मलिक

मुंबई, 3 अप्रैल (आईएएनएस)। अभिनेत्री लिजा मलिक अपनी वेब सीरीज हू इज योर डैडी? में अपने किरदार के लिए भिन्न डायट चार्ट को फॉलो...

केंद्रीय राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने पत्रकारों से की लाॅकडाउन पर चर्चा

बीकानेर। बीकानेर सांसद एंव भारी उधेाग एंव लोक उधम और संसदीय कार्य राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कोरोना वायरस से लड़ने की मुहिम में सहयेाग...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 25 मार्च (आईएएनएस)। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने बुधवार को बताया कि 21 मार्च के बाद विदेशों से आए करीब 64,000 लोगों में से 8,000 लोगों को क्वारेंटाइन किया गया और 56,000 लोगों को घरों में आइसोलेशन में रखा गया है।

कोरोनावायरस (कोविड-19) पर गठित मंत्रिसमूह की उच्च स्तरीय बैठक में बुधवार को मौजूदा स्थिति की समीक्षा की गई।

- Advertisement -

डॉ. हर्षवर्धन की अध्यक्षता मंे गठित इस मंत्रिसमूह में शामिल विदेश मंत्री एस. जयशंकर, नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री (स्वंतत्र प्रभार), गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय, जहाजरानी, रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री मनसुख मांडवीय, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्वनी कुमार चौबे समेत चीफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत भी बैठक में मौजूद थे।

कोरोनावायरस के प्रकोप की रोकथाम के लिए प्रभावी उपाय के तौर पर सोशल डिस्टेंसिंग अर्थात लोगों के आपस में दूरी बनाने की अहमियत पर बल देते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने लोगों से स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की।

उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद देशभर में लॉकडाउन है। इस लॉकडाउन के दौरान हमें अपने घरों में भी सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की आवश्यकता है।

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, हम संक्रामक रोग से जूझ रहे हैं। खुद की और दूसरों की रक्षा के लिए यह अत्यंत आवश्यक है कि हम सरकार द्वारा जारी सभी प्रोटोकॉल व दिशनिर्देश का पालन करें, जिसका पालन नहीं करने पर भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत कानूनी कार्रवाई हो सकती है।

- Advertisement -

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

बिल विदर्स के नाम अर्जुन का भावात्मक संदेश

मुंबई, 5 अप्रैल (आईएएनएस)। दिग्गज गायक बिल विदर्स ने अभी कुछ ही दिनों पहले अपनी आखिरी सांस लीं। बॉलीवुड अभिनेता अर्जुन कपूर ने उन्हें...

चूरू : कर्फ़्यू के दौरान डोर टू डोर सामान उपलब्ध करा रही मोबाइल वैन

चूरू। जिले के चूरू नगरीय क्षेत्र में धारा 144 अंतर्गत लगाए गए कर्फ़्यू के दौरान आमजन को चूरू सहकारी उपभोक्ता होलसेल भंडार की मोबाइल...

शुरुआत में रोहित ने इंजमाम की याद दिला दी थी : युवराज

नई दिल्ली, 5 अप्रैल (आईएएनएस)। पूर्व भारतीय ऑलराउंडर युवराज सिंह ने कहा है कि सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने अपने करियर के शुरुआती दिनों...

मप्र में कोरोना का बढ़ रहा है दायरा

भोपाल, 5 अप्रैल (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश में कोरोनावायरस का दायरा धीरे-धीरे बढ़ रहा है, महानगरों के बाद यह बीमारी छेाटे शहरों तक पहुंच रही...

लॉकडाउन : डीआईजी ने बुजुर्ग महिला को दवा पहुंचाई

बांदा (उप्र), 5 अप्रैल (आईएएनएस)। लॉकडाउन के दौरान पुलिस लगातार जनता की मदद कर रही है, इसी क्रम में बांदा के डीआईजी ने रविवार...