पीडीएस के तहत हर कार्डधारक को मिलेगा 5 किलो अनाज मुफ्त : वित्तमंत्री

Must read

लॉकडाउन से बोर होकर उर्वशी ने डाली अपनी एक नई तस्वीर

मुंबई, 4 अप्रैल (आईएएनएस)। अभिनेत्री उर्वशी रौतेला (Urvashi Rautela)आजकल कोविड-19 को फैलने से रोकने के चलते देशभर में बुलाए गए लॉकडाउन में घर पर...

चूरू : कर्फ़्यू के दौरान डोर टू डोर सामान उपलब्ध करा रही मोबाइल वैन

चूरू। जिले के चूरू नगरीय क्षेत्र में धारा 144 अंतर्गत लगाए गए कर्फ़्यू के दौरान आमजन को चूरू सहकारी उपभोक्ता होलसेल भंडार की मोबाइल...

अब माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने विद्यार्थियेां के लिए जारी किया ऑनलाइन कंटेंट

जयपुर। देशभर में लाॅकडाउन के दौरान विद्यार्थियेां को समय पर पढ़ाई से जोड़ा जा सके इसके लिए आनलाइन कक्षाएं लगाई जा रही है तो...

वेब सीरीज के लिए अपनी डायट पर मेहनत कर रही हैं लिजा मलिक

मुंबई, 3 अप्रैल (आईएएनएस)। अभिनेत्री लिजा मलिक अपनी वेब सीरीज हू इज योर डैडी? में अपने किरदार के लिए भिन्न डायट चार्ट को फॉलो...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 26 मार्च (आईएएनएस)। केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को कहा कि कोरोनावायरस के प्रकोप को लेकर देश में लॉकडाउन के कारण कोई गरीब भूखा नहीं रहेगा और इसके लिए सरकार सार्वजनिक वितरण प्रणाली यानी पीडीएस के तहत लोगों पांच किलो गेहूं या चावल और प्रत्येक परिवार को एक किलो दाल अगले तीन महीने तक मुफ्त देगी।

कोरोनावायरस को लेकर आर्थिक चुनौतियों के मद्देनजर 1.70 लाख करोड़ रुपये के प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज का ऐलान करने के बाद वित्तमंत्री यहां मीडिया के सवालों का जवाब दे रही थीं।

- Advertisement -

प्रेसवार्ता के दौरान पीडीएस के तहत मुफ्त अनाज और दाल वितरण को लेकर सरकार द्वारा की गई घोषणा को स्पष्ट करते हुए वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि कार्डधारी प्रत्येक व्यक्ति को पांच किलो गेहूं या चावल जो कि मुफ्त दिया जाएगा, वह उन्हें पहले से पीडीएस के तहत सस्ते दाम पर मिल रहे अनाज के अतिरिक्त होगा। इसके अलावा प्रत्येक परिवार को एक किलो दाल भी मुफ्त दी जाएगी।

देश में करीब 81 करोड़ लोगों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून तहत पीडीएस के माध्यम से सस्ते दर पर अनाज मुहैया करवाया जाता है, जिसमें प्रत्येक राशनकार्ड धारक को दो रुपये प्रति किलो गेहूं और तीन रुपये प्रति किलो चावल दिया जाता है।

कोरोनावायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए पूरे देश में तीन सप्ताह के लिए किए गए लॉकडाउन से प्रभावित गरीबों और दिहाड़ी मजदूरों को राहत दिलाने के लिए वित्तममंत्री निर्मला सीतारमण ने 1.70 लाख करोड़ रुपये के प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज की घोषणा की।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

बिहार के गांव में फंसीं टीवी अभिनेत्री रतन राजपूत

पटना, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में लगाए गए लॉकडाउन के बाद कई लोग जहां-तहां फंस गए...

बिहार में सरकारी स्कूल के 8वीं से 12वीं के बच्चे रेडियो, टीवी से पढ़ेंगे

पटना, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। बिहार के सरकारी स्कूल के आठवीं से 12वीं तक के विद्यार्थी अब रेडियो और टीवी (दूरदर्शन) के माध्यम से अपनी...

प्राकृतिक आपदा के दौरान की जा सकती है कर्मचारियों की छंटनी

नई दिल्ली, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। किसी प्राकृतिक आपदा की स्थिति में कारोबार कुछ दिनों तक जारी रखन में लाचार नियोक्ता व कंपनी अपने कर्मचारियों...

मुंबई में कोविड-19 से 4 मौते, 68 नए मामले

मुंबई, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में सोमवार को कोरोना से चार नई मौतें हुई, और इसके अलावा 68 नए मामले...

कोरोना त्रासदी में जब 11 साल की आलिया कोतवाल को गुल्लक दे आई (आईएएनएस विशेष)

देहरादून, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। विश्व स्वास्थ्य संगठन हो या दुनिया के किसी देश का राष्ट्रपति या फिर प्रधानमंत्री या फिर खेत-खलिहानों में काम करने...