गौतमबुद्ध नगर : चार होटल क्वारंटाइन होम बने, रैपिड एक्शन फोर्स तैनात, निगरानी पर ड्रोन

Must read

गुरु गोविंद सिंह त्याग और बलिदान का प्रतीक – मोदी

पटना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के मुख्यंमत्री की तारीफ करते हुए कहा कि शराब बंदी जैसे एतिहासिक फैसले का निर्णय कई पीढ़ियेा को...

सोनू निगम, कैलाश खेर ने वर्चुअल कॉन्सर्ट के माध्यम से मेडिकल स्टाफ को दिया सम्मान

मुंबई, 19 अप्रैल (आईएएनएस)। गायक कैलाश खेर व सोनू निगम से लेकर अभिनेता सुनील ग्रोवर और हास्य कलाकार सुदेश लेहरी तक, बॉलीवुड हस्तियों का...

वित्त वर्ष 2021 में वृद्धि दर 6-6.5 फीसदी रहने का अनुमान (लीड-1)

नई दिल्ली, 31 जनवरी (आईएएनएस)। आर्थिक सर्वेक्षण 2019-20 में शुक्रवार को कहा गया कि देश की अर्थव्यस्था में सुधार हो सकता है और जीडीपी...

राहुल मिश्रा के कलेक्शन ने ली सेलेब्रिटीज के दिलों में जगह

नई दिल्ली, 8 फरवरी (आईएएनएस)। डिजाइनर राहुल मिश्रा के प्रदर्शन को दो हफ्ते बीत चुके हैं और उनकी रचनात्मकता को सेलेब्रिटीज ने अब अपनाना...
- Advertisement -

गौतमबुद्ध नगर, 3 अप्रैल (आईएएनएस)। जिला प्रशासन ने कोरोना की चेन तोड़ने के लिए कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ी है। 24 घंटे के अंदर कोरोना कॉल सेंटर की स्थापना का रिकार्ड बनने ही वाला है। इसके साथ ही गुरुवार को जिले में लॉकडाउन को मजबूती से लागू करने के लिए जिला पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह भी नये डीएम सुहास एलवाई के साथ सड़क पर उतर आये। इसी के साथ बुधवार को जिला प्रशासन ने ग्रेटर नोएडा में स्थित चार होटलों को भी क्वारंटाइन होम में तब्दील कर दिया।

शायद इसी टीम-वर्क का नतीजा है कि, नये डीएम सुहास एलवाई के कार्यभार ग्रहण करने के 24 घंटे में ही गौतमबुद्ध नगर में रैपिड एक्शन फोर्स लग गयी। निगरानी के लिए आसमान में ड्रोन उड़ाये जाने को भी हरी झंडी दे दी गयी। जिला पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने खुद पुष्टि की कि, लॉकडाउन को हल्के में लेने वालों की निगरानी के लिए शुक्रवार से जिले की सीमा में घनी आबादी वाले इलाको में आसमान में ड्रोन उड़ते नजर आयेंगे।

- Advertisement -

शायद यह सब नये और तेज-तर्रार जिलाधिकारी की उसी एक लाइन का असर है, जिसमें उन्होंने गौतमबुद्ध नगर की सर जमीं पर उतरते ही सबको सुना दिया था, कोरोना मेरी-आपकी लड़ाई नहीं है। कोरोना से समाज दुनिया जूझ रही है। कोरना की कमर टीम-वर्क के जरिये ही तोड़ी जा सकती है। उल्लेखनीय है कि, इन पंक्तियों को जिलाधिकारी सुहास ने गुरुवार को अपनी पहली पत्रकार वार्ता में भी दोहराया था।

जिला प्रशासन प्रवक्ता के मुताबिक, जिन होटलों को अस्थाई रुप से अधिग्रहीत करके क्वारंटाइन होम में बदला गया है वे सब ग्रेटर नोएडा में ही हैं। इनका नाम द स्टेलर जिमखाना, एसएए हॉस्पिटलटी प्राइवेट लिमिटेड, अंसल प्लाजा और कासना रोड स्थित रेडिसन ब्लू है।

— आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

बीकानेर: सेरूणा पुलिसथानाधिकारी गुलाम नबी की हार्ट अटैक से मौत

बीकानेर(Bikaner News)। जिले के सेरुणा पुलिसथानाधिकारी (Seruna  Police Station SHO) की सेामवार सुबह हार्ट अटैक (Heart Attack) से मौत हेा गई। जिला पुलिस अधीक्षक...

वैश्विक सहयोग से ही कोविड-19 महामारी का खात्मा होगा

बीजिंग, 31 मई (आईएएनएस)। पिछले कुछ महीनों में दुनिया की तस्वीर बदल गयी है। क्योंकि अधिकांश देश कोविड-19 महामारी से जूझ रहे हैं और...

जम्मू-कश्मीर में एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ से फिर गोलाबारी

जम्मू, 31 मई (आईएएनएस)। जम्मू एवं कश्मीर में शनिवार की शाम नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तानी सेना ने संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए...

कोविड-19 : भारत में 1.82 लाख से अधिक मामले, 5164 मौतें

नई दिल्ली, 31 मई (आईएएनएस)। भारत में कोरोनावायरस महामारी से संक्रमति लोगों का आंकड़ा रविवार को बढ़कर 1.82 लाख से अधिक हो गया है,...

विश्व तंबाकू निषध दिवस पर विशेष : मध्यप्रदेश में तंबाकू बनता है हर साल 90 हजार लोगों की मौत का कारण

भोपाल। मध्यप्रदेश में तंबाकू (Madhyapradesh Tobacco) की बढ़ती लत कई गंभीर बीमारियों का कारण बनती जा रही है। राज्य में हर साल लगभग एक...