दिल्ली : लॉकडाउन के कारण अपराधी बेरोजगार, अपराध में गिरावट

Must read

चीन की मुख्य भूमि में विदेशों से आए कोरोना के 47 नए मामले

बीजिंग, 25 मार्च (आईएएनएस)। चीनी राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के अनुसार चीन की मुख्य भूमि में कोविड-19 के 47 नए मामले दर्ज हुए, जो सभी...

Nobel Peace Prize 2017 : परमाणु हथियारों के खात्मे के लिए काम करने वाली ICAN को शांति का नोबेल

नई दिल्ली। दुनियाभर से परमाणु हथियारों को खत्म करने के लिए काम कर रही संस्था इंटरनेशनल कैम्पेन टू अबॉलिश न्यूक्लियर वीपंस को (ICAN) रविवार...

पाकिस्तान ने दक्षेस के कोरोना फंड के इस्तेमाल पर स्पष्टता मांगी

इस्लामाबाद, 25 मार्च (आईएएनएस)। पाकिस्तान ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर बने दक्षिण एशिया क्षेत्रीय सहयोग संगठन (दक्षेस) कोविड-19 आपातकालीन कोष के...

बीकानेर: अनियंत्रित कार पेड़ से टकराई 4 की मौत

बीकानेर । बीकानेर जिले के जसरासर के पास सोमवार सुबह मारुति स्विफट कार के अनियंत्रित होकर पेड़ से टकराने से 3 महिलाओं सहित चार...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 3 अप्रैल (आईएएनएस)। देश में कोरोना चेन तोड़ने को लागू लॉकडाउन ने कोरोना से पहले देश के अपराधियों को हलकान कर दिया है। लॉकडाउन के दौरान सड़क से पब्लिक गायब है। ऐसे में लूटें किसे और कैसे? ये वही अपराधी हैं, जो शिकार को सामने देखते ही बेरहम हो जाते थे। लॉकडाउन के दौरान पब्लिक से सूनी सड़कें बदमाशों की पहली मुसीबत बन गई हैं। दूसरी मुसीबत साबित हो रही है चप्पे-चप्पे पर मौजूद पुलिस और बैरिकेट्स।

दिल्ली पुलिस के 15 मार्च, 2019 से 31 मार्च, 2010 तक और 15 मार्च, 2020 से 31 मार्च, 2020 तक के आंकड़ों की तुलना की जाए तो हाल के 15 दिनों में अपराधों में गिरावट दिखाई देती है। इन आंकड़ों में लॉकडाउन की अवधि यानी नौ दिनों (22 मार्च से 31 मार्च, 2020) के आंकड़े भी शामिल हैं।

- Advertisement -

आंकड़ों के मुताबिक, सन् 2019 में पंद्रह दिनों में (15 मार्च से 31 मार्च 2019 तक) 3416 एफआईआर दर्ज की गई थी। जबकि 15 मार्च से 31 मार्च, 2020 के बीच यह संख्या घटकर 1993 रह गई। ये मामले लूट, अपहरण, जेबतराशी, झपटमारी, मारपीट-झगड़ा, सेंधमारी, वाहन चोरी, घरों में चोरी, महिलाओं से छेड़छाड़, सड़क हादसे आदि के हैं।

आंकड़े के अनुसार, इस अवधि में बीते साल दिल्ली में लूट के 109 दर्ज किए गए। जबकि मार्च 2020 के अंतिम 15 दिनों में यह संख्या घटकर 53 पर आ गई। इसमें नौ दिन लॉकडाउन वाले भी शामिल हैं। मतलब लूट की वारदातों में बेतहाशा कमी आई। कमी आना स्वभाविक भी है। जब सड़क से पब्लिक और बदमाश गायब हैं तो फिर भला अपराध क्यों और कैसे होंगे?

बीते साल इस दौरान अपहरण का एक मामला दर्ज हुआ था। जबकि इस साल इन पंद्रह दिनों में अपहरण का एक भी केस रिकार्ड नहीं किया गया। इसी तरह बीते साल इन 15 दिनों में जेबतराशी के 13 मामले दर्ज हुए थे, जबकि इस साल सिर्फ तीन ही केस दर्ज हुए। वह भी लॉकडाउन अवधि से पहले के बताए जाते हैं।

लॉकडाउन के दौरान चूंकि राष्ट्रीय राजधानी की सड़कों से वाहन गायब रहे ऐसे में साधारण सड़क हादसों की संख्या में भी करीब 50 फीसदी की कमी देखने को मिली। सन् 2019 में इस श्रेणी में 219 मामले दर्ज किए गए थे। 2020 के इन पंद्रह दिनों में यह संख्या 112 ही है। इन 112 में भी अधिकांश हादसे लॉकडाउन अवधि शुरू होने से पहले के हैं। जब सड़क पर महिलाएं उतरी ही नहीं तो फिर छेड़छाड़ के मामले भी कम दर्ज किए गए। पिछले साल इस मद में 144 केस दर्ज हुए थे। 15 मार्च से 31 मार्च 2020 के बीच यह संख्या घटकर 72 पर आ पहुंची। यानी तकरीबन पचास फीसदी की कमी।

- Advertisement -

यानी जब तक कोरोना के कहर से निपटने को दिल्ली में धारा-144 और लॉकडाउन लागू नहीं हुआ, तब तक बदमाश राजधानी की सड़कों पर लूट-खसोट करके खा-कमा रहे थे। जैसे ही शिकार घर में खुद को बंद कर लिए, सड़कें पुलिस और बैरिकेट्स से भर दी गई, वैसे ही अपराधी बेरोजगार हो गए।

इस बारे में दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता एसीपी अनिल मित्तल ने भी शुक्रवार को आईएएनएस से बातचीत में इस बात को स्वीकार किया। उन्होंने कहा, अपराध ग्राफ बहुत डाउन हुआ है। जब सड़कों पर आदमी ही मौजूद नहीं हैं। और शहर में लॉकडाउन है तो ऐसे में अपराधी भी भला किसे शिकार बनाएं। हालांकि ऐसा नहीं है कि लॉकडाउन से पहले हो रही आपराधिक वारदातों में शामिल बदमाश खुलेआम घूमते रहे हैं। उन्हें पकड़ कर सजा दिलाई जाती रही है।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

श्रीडूंगरगढ़ः लॉकडाउन में विमल भाटी मालजी परिवार ने दो माह का किराया माफ कर पेश की मानवता की मिसाल

बीकानेर। देशभर में कोरोना महामारी के बीच आमजन के सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो रहा है। इसी बीच जिले के श्रीडूंगरगढ़ में...

मेाबाइल यूजर के लिए बड़ी खबरः अब जी भरकर भेज सकेंगे मैसेज, फ्री SMS की लिमिट खत्म

नई दिल्ली। मेाबाइल उपभोक्ताओं के लिए भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) (The Telecom Regulatory Authority of India) ने बड़ी सौगात दी है। जिसमें वे...

बीकानेर से मेड़ता रोड स्पेेशल ट्रेन, जोधपुर-हावड़ा स्पेशल रेल सेवा शुरू

बीकानेर(Bikaner News)। बीकानेर से हावड़ा (Bikaner to Howrah Train) जाने के लिए अब मेड़ता रोड़ से सीधी रेल सेवा मिल (Merta Road to Bikaner...

आवासन मण्डल का बडा तोहफा : कर्मचारियों के लिए लॉंच होगी मुख्यमंत्री राज्य कर्मचारी आवासीय योजना

जयपुर के प्रताप नगर में बनेंगे 2 व 3 बीएचके साइज के 624 फलैट्स जयपुर(Jaipur News)। आवासन (Rajasthan Housing Board scheme) आयुक्त पवन अरोड़ा ने...

अब इस योजना में बैंकों से 90 प्रतिशत तक मिलेगी ऋण सुविधा, ऋण चुकाने पर 30 प्रतिशत सब्सिडी

देशी नस्ल के गौवंश की डेयरी स्थापना के लिए मिलेगा ऋण जयपुर। जिला कलक्टर एवं जिला गौपालन समिति के अध्यक्ष डॉ.जोगाराम ने बताया कि ‘‘कामधेनू...