Thursday, July 2, 2020

जम्मू-कश्मीर : साल की सबसे खूनी गोलाबारी में 5 आतंकवादी ढेर, 5 सैनिक शहीद

Must read

अमरेंद्र ने नीतीश से की बात, कहा-बिहार के लोगों का ध्यान रखेगा पंजाब

नई दिल्ली, 31 मार्च (आईएएनएस)। कोरोनावायरस से हो रहे संक्रमण से बचने के लिए पूरे देश मे लॉकडाउन है। लोगों का काम धंधा बंद...

पति अब पत्नियों को करियर बनाने के लिए कर रहे प्रेरित : पंगा निर्देशक

मुंबई, 30 जनवरी (आईएएनएस)। फिल्मकार अश्विनी अय्यर तिवारी, जिनकी हालिया फिल्म पंगा बीते सप्ताह रिलीज हुई है, का कहना है कि नए दौर में...

आईएमए पोंजी घोटाले में संलिप्त आईएएस ने बेंगलुरु में की आत्महत्या

बेंगलुरु, 24 जून (आईएएनएस)। करोड़ों रुपये के आईएमए पोंजी घोटाले में कथित रूप से शामिल वरिष्ठ आईएएस अधिकारी बी.एम. विजयशंकर ने अपने घर में...

झारखंड : जरूरतमंदों, असहायों के लिए आशा की किरण बनी बी़ सी़ सखी

रांची, 21 अप्रैल (आईएएनएस)। झारखंड राज्य ग्रामीण बैंक से जुड़ी सखी मंडल की बैंकिंग करेस्पान्डेंट सखी जयंती कुमार विश्वास कहती हैं कि रोजाना करीब...
Vishal Rohiwal
Vishal Rohiwal
विशाल रोहिवाल पिछले दस वर्ष से कंटेट राईटिंग व स्वतंत्र पत्रकार के रुप में काम कर रहें है। वर्तमान में हैलो राजस्थान की वेब टीम में सीनियर कंटेंट एडिटर के रुप में अपनी सेवांए दे रहें है।
- Advertisement -

श्रीनगर, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ नियंत्रण रेखा पर किसी भी ऑपरेशन में इस साल की सबसे बड़ी गोलाबारी रविवार को हुई, जिसमें सेना के पांच जवान शहीद हुए और पांच आतंकवादी मारे गए।

रक्षा सूत्रों ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के केरन सेक्टर में एलओसी पर गोलाबारी में रविवार को एक सैनिक और पांच आतंकवादी मारे गए, वहीं चार घायल सैनिकों ने रविवार देर शाम अस्पताल में दम तोड़ दिया।

- Advertisement -

आतंकवादियों ने पिछले दो दिनों से हो रही बर्फबारी के बीच खराब मौसम का फायदा उठाने का प्रयास किया था।

सेना के एक बयान में कहा गया, अभी जो शुरुआती जानकारी मिली है, उसके मुताबिक 5 अप्रैल को बर्फ पर पदयात्रा के दौरान सैनिकों का एक दल यह नहीं समझ पाया कि वे नाले के ऊपर जमी बर्फ की सिल्ली पर हैं और वह टूट गई। .. वे नाले में गिर गए। दुर्भाग्यवश जहां वे गिरे, आतंकवादी वहीं पर बैठे थे। इसके बाद अंधेरे में गोलीबारी हुई।

आर्मी टीम के बेहतर प्रशिक्षण मानकों के कारण, गिरने के बाद भी जावानों ने सभी पांचों आतंकवादियों को मार गिराया .. हालांकि, इस कार्रवाई में दस्ते के पांचों सैनिक भी मारे गए।

घने वनाच्छादित क्षेत्र में छिपे हुए आतंकवादियों को बाहर निकालने का अभियान अभी भी जारी है, लेकिन अभी तक सेना के जवानों और आतंकवादियों के बीच गोलीबारी नहीं हुई है।

- Advertisement -

पांच शहीद सैनिकों की पहचान की गई है वे- सब संजीव कुमार, हवलदार दवेंद्र सिंह, सिपाही बाल कृष्ण, सिपाही अमित कुमार और सिपाही छत्रपाल सिंह हैं।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

भारत ने चीन के साथ सीमा गतिरोध के बीच लड़ाकू विमानों की खरीद को मंजूरी दी

नई दिल्ली, 2 जुलाई (आईएएनएस)। चीन के साथ सीमा पर जारी तनावपूर्ण हालात के बीच रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को 12 सुखोई-30एमकेआई और...

हाफिज सईद कहने पर इरफान ने ट्विटर यूजर को आड़े हाथों लिया

नई दिल्ली, 2 जुलाई (आईएएनएस)। भारतीय टीम के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी इरफान पठान ने गुरुवार को एक ट्विटर यूजर को उन्हें अगला हाफिज सईद...

बिहार में वज्रपात से 17 लोगों की मौत

पटना, 2 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार में गुरुवार को एकबार फिर आकाशीय बिजली (वज्रपात) गिरने से 17 लोगों की मौत हो गई। हालांकि अपुष्ट खबरों...

राजस्थान : पुलिस के रेस्पोंस टाइम में सुधार आएगा और अपराध नियंत्रण में मदद मिलेगी : मुख्यमंत्री

194 नए वाहनों से जयपुर पुलिस का रेस्पोंस टाइम होगा बेहतर मुख्यमंत्री ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना जयपुर। गश्त को बेहतर बनाने तथा क्विक...

कैम्पस फिर से खुलने पर भी छात्र ऑनलाइन पढ़ाई कर सकेंगे : अहमदाबाद यूनिवर्सिटी

अहमदाबाद, 2 जुलाई (आईएएनएस)। कोविड-19 महामारी के बीच, अहमदाबाद यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने वाले छात्र इस साल दिसंबर तक ऑनलाइन कक्षाओं में शामिल होने...