कर्ज बट्टे खाते में डालने का रास्ता भगोड़ों पर नहीं अपनाना चाहिए : चिदंबरम

Must read

महाराष्ट्र में कोरोना पॉजिटिव मामलों में 63 फीसदी पुरुष : सरकारी डेटा

नई दिल्ली, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। घातक कोरोनवायरस के लिए महिलाओं की तुलना में पुरुष अधिक संवेदनशील होते हैं। यह बात महाराष्ट्र सरकार द्वारा सोमवार...

उप्र में अफीम की अवैध खेती के लिए व्यक्ति गिरफ्तार

प्रयागराज, 9 मार्च (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज के एक गांव में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) और स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की संयुक्त टीम...

आईओए समिति दोबाना गठित करने को लेकर सहमति नहीं दी थी : महासचिव

नई दिल्ली, 26 मई (आईएएनएस)। भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) के दो अधिकारियों के बीच में टकराव जारी है और संघ के महासचिव राजीव...

वाल्सकिस चुने गए आईएसएल के जनवरी के श्रेष्ठ खिलाड़ी

मुम्बई, 10 फरवरी (आईएएनएस)। दो बार के चैम्पियन चेन्नइयन एफसी के लिए खेलने वाले लिथुआनिया के स्ट्राइकर नेरीजुस वाल्सकिस को हीरो आईएसएल का जनवरी...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 29 अप्रैल (आईएएनएस)। पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने बुधवार को सरकार से सवाल किया कि नीरव मोदी और मेहुल चोकसी जैसे भगोड़ों के ऋण बट्टे खाते में क्यों डाले गए।

चिदंबरम एक संवाददाता सम्मेलन में उस विवाद पर टिप्पणी कर रहे थे, जिसमें कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि सरकार ने मेहुल चोकसी और विजय माल्या सहित 50 विलफुल डिफाल्टरों के कर्ज बट्टे खाते में डाल दिए हैं।

- Advertisement -

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के उन आरोपों का जवाब दिया, जिसमें उन्होंने कहा है कि ज्यादातर ऋण संप्रग सरकार के दौरान दिए गए थे औैर मोदी सरकार उसे वसूलने की कोशिश कर रही है।

चिदंबरम ने कहा, तकनीकी तौर पर ऋण को बट्टे खाते में डालने का रास्ता भगोड़ों पर नहीं अपनाया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि उनके विचार से इस तरह के मामलों में तकनीकी राईट-ऑफ नहीं किया जाना चाहिए था और इसके साथ ही उन्होंने सवाल किया कि इन नियमों को कौन लागू कर रहा है।

कांग्रेस के आरोपों के बाद पार्टी और सरकार के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। कांग्रेस का आरोप है कि सरकार ऋण को बट्टे खाते में डाल रही है, जबकि केंद्रीय सूचना मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि बट्टे खाते में डालने का मतलब माफ करना नहीं है और उन्होंने राहुल गांधी से इस बारे में पी. चिदंबरम से ट्यूशन लेने को कहा।

- Advertisement -

कांग्रेस ने शीर्ष 50 विलफुल डिफाल्टर्स के 68,607 करोड़ रुपये के कर्ज को बट्टे खाते में डालने के लिए मंगलवार को सरकार की निंदा की, और कहा कि सरकार और वित्तमंत्री को इस पर स्पष्टीकरण देना चाहिए। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि भाजपा डिफाल्टर्स की मदद कर रही है।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, सरकार ने 68,607 करोड़ रुपये बट्टे खाते में डाल दिए हैं। प्रधानमंत्री मौन रहकर इस सवाल से बच नहीं सकते।

सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी ने संसद में इस सवाल को पूछा था, लेकिन सरकार ने जवाब नहीं दिया था। उन्होंने कहा, लेकिन अब एक आरटीआई के खुलासे में माफी की व्यापकता सामने आ गई है।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

चूरू : कई मोर्चों पर कोरोना फाइटर बनकर डटी है आशा सहयोगिनी

चूरू(Churu News)। चूरू जिले के रतनगढ़ (Ratangarh)के वार्ड 15 की सुजाता महिला एवं बाल विकास विभाग (Department of Women and Child Development) में आशा...

बीकानेर: पानी और बिजली की निर्बाध आपूर्ति के लिए अधिकारी रहें सजग-डाॅ कल्ला

बीकानेर(Bikaner News)। उर्जा एवं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डाॅ. बी डी कल्ला (Dr.B.D.Kalla)ने कहा कि गर्मी के मौसम में पानी और बिजली की आपूर्ति...

बीकानेर के जेएनवीसी थाना क्षेत्र में लगा कर्फ़्यू

जेएनवीसी थाना क्षेत्र में निषेधाज्ञा आदेश लागू बीकानेर(Bikaner News)। कोरोनावायरस संक्रमण (Corona Virus) के प्रसार को रोकने के लिए पुलिस थाना जेएनवीसी के अन्तर्गत जयनारायण...

बीकानेर : टिड्डी नियंत्रण के लिए किसानों को प्रशिक्षण दिया जाए-उच्च शिक्षा मंत्री

बीकानेर(Bikaner News)। उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह(Higher Education Minister Bhanwar Singh Bhati) भाटी ने कहा कि जिले के टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों में टिड्डी नियंत्रण...

झारखंड के बाद अब इस राज्य में Zomato घर तक पहुंचाएगी शराब

भुवनेश्वर। देशभर में घरों तक खाने का आर्डर (Online Food Order) लाने वाली कपनी अब आपके लिए शराब(Alcohal) को भी लाकर देगी। इसके लिए...