अश्विनी चौबे ने फंसे लोगों के आवागमन की अनुमति संबंधी गृह मंत्रालय के आदेश का स्वागत किया

Must read

कोविड19 : नोएडा में 22 की रिपोर्ट निगेटिव, अब तक 13 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे

नोएडा, 12 अप्रैल (आईएएनएस)। गौतम बुद्ध नगर में शनिवार देर रात कोरोना को लेकर अच्छी खबर आई जहां शनिवार को 22 लोगों की रिपोर्ट...

कोविड-19 : मोदी आज करेंगे मुख्यमंत्रियों से बात, रणनीति पर होगी चर्चा

नई दिल्ली , 2 अप्रैल (आईएएनएस)। देश मे लगातार पैर पसार रहे कोरोनावायरस संक्रमण के खिलाफ रणनीति बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक...

केन्द्र एवं राज्य की भाजपा सरकारें सत्ता का दुरूपयोग कर रहीं : डूडी

पं. दीनदयाल के विचार सरकारी खर्च पर नहीं थोपे जायें  दीनदयाल संपूर्ण वाड्.मय के सरकारी महिमामंडन पर जताई नाराजगी जयपुर। राजस्थान विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर...

मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान-द्वितीय चरण में गांवों के साथ-साथ गंगानगर के दो शहरों में चलेगा अभियान

जयपुर। जल स्वावलम्बन अभियान के प्रथम चरण की  सफलता के बाद श्रीगंगानगर जिले में दूसरा चरण शुरू हो गया है। दूसरे चरण के अभियान...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 29 अप्रैल (आइएएनएस)। केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने गृह मंत्रालय द्वारा प्रवासी श्रमिकों, दूसरे राज्यों में फंसे छात्रों और पर्यटकों को अपने-अपने गृह राज्य वापस जाने की छूट देने का बुधवार को स्वागत किया है।

चौबे ने एक बयान में कहा, गृह मंत्रालय द्वारा कुछ शर्तों के साथ प्रवासी श्रमिकों, छात्रों, घूमने गए यात्रियों को अपने राज्य लौटने की अनुमति दी गई है। इससे इन सभी को काफी राहत मिलेगी। इस संबंध में लगातार प्रयास किए जा रहे थे। गृह मंत्रालय के इस फैसले से कोटा में फंसे छात्रों को बिहार लाने में आसानी होगी।

- Advertisement -

गौरतलब है कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदशों को आदेश जारी किया है कि विभिन्न राज्यों में फंसे श्रमिकों, छात्रों, पर्यटकों और श्रद्धालुओं को अपने-अपने राज्य लौटने की छूट दी जाए। लेकिन गृह मंत्रालय ने इसके लिए कुछ शर्तें भी रखी है।

आदेश में कहा गया है कि घर ले जाए जाने से पहले लोगों का मेडिकल चेकअप किया जाएगा। स्क्रीनिंग में जिन लोगों में कोरोना का लक्षण नहीं होगा, उन्हें ही जाने की अनुमति दी जाएगी। एक जगह से दूसरी जगह ले जाए जाने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का खयाल रखना होगा। जब लोग अपने-अपने घर पहुंचेंगे तो उन्हें होम क्वॉरंटीन में रहना होगा।

गृह मंत्रालय ने कहा है कि ट्रांसपोर्ट के लिए बस का इस्तेमाल किया जाएगा। बस के भीतर बैठने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। जब कोई आदमी अपने लोकेशन तक पहुंच जाएगा तो वहां भी लोकल हेल्थ अथॉरिटी उसे देखेंगे।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

राजस्थान : कोरोना में मसीहा बने करौली विधायक लाखनसिंह, निजी खर्चे से बांटी राशन सामग्री

- कोरोनाकाल में 10 लाख रुपये का 500 क्विंटल आटा, जरूरतमंद गरीब परिवारों में बांटा - कोविड़-19 वायरस से बचाव के लिए गांवों में जन...

राजगढ़ पुलिस थानाधिकारी विष्णुदत बिश्नेाई मामले की होगी सीबीआई जांच

गहलोत सरकार ने लिया बड़ा फैसला जयपुर। प्रदेश के चुरू जिले के राजगढ़ पुलिसथानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई (Rajgarh police officer Vishnu dutt)आत्महत्या मामले में स्वतंत्र एजेन्सी/सीबीआई...

बीकानेर : छब्बीस साल बाद किसानों को फिर पढ़ सकेंगे ‘मरु कृषक’

कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह ने किया ई-संस्करण का विमोचन बीकानेर(Bikaner News)। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय (Swami Keshwanand Rajasthan Agricultural University) के कुलपति प्रो....

लॉकडाउन में बेरोजगार हुए लोगों को मिले पूरा वेतन: युवा कांग्रेस

पटना। युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि उन्होंने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में अपील...

बीकानेर: सेरूणा पुलिसथानाधिकारी गुलाम नबी की हार्ट अटैक से मौत

बीकानेर(Bikaner News)। जिले के सेरुणा पुलिसथानाधिकारी (Seruna  Police Station SHO) की सेामवार सुबह हार्ट अटैक (Heart Attack) से मौत हेा गई। जिला पुलिस अधीक्षक...