कोटा में ठहरे छात्रों के घर पहुंचने की राह हुई और आसान : ओम बिरला

Must read

वेलिंग्टन टेस्ट : किवी चुनौती को तैयार भारत (प्रीव्यू)

वेलिंग्टन, 20 फरवरी (आईएएनएस)। आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप में पहले स्थान पर काबिज भारतीय टीम शुक्रवार से यहां बेसिन रिजर्व मैदान पर शुरू हो रहे...

कोरोना से डरने की बजाय बचाव जरूरी : एलएनआईपीई के कुलपति

ग्वालियर, 7 मार्च (आईएएनएस)। हिंदुस्तान में खेल शिक्षा के लिए मशहूर मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में स्थित लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान (एलएनआईपीई)...

दिल्ली हिंसा पर रजनीकांत के कमेंट का कमल हासन ने किया स्वागत

चेन्नई, 27 फरवरी (आईएएनएस)। अभिनेता व राजनेता कमल हसन ने रजनीकांत द्वारा दिल्ली में भड़की हिंसा पर नियंत्रण करने में असफल रही केंद्रीय सरकार...

प्रदेश में जल्द स्थापित होंगे 13 नए पुलिस सर्किल 28 थाने और 26 पुलिस चौकियां

जयपुर। प्रदेश में कानून व्यवस्था और सुदृढ़ बनाने के लिए जल्द ही 13 नए पुलिस सर्किल, 28 थाने एवं 26 पुलिस चौकियों की स्थापना...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 29 अप्रैल (आईएएनएस)। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने राजस्थान के कोटा में फंसे प्रवासी मजदूरों व कोचिंग के लिए रह रहे छात्र-छात्राओं को अपने गृह राज्य जाने की छूट गृह मंत्रालय द्वारा दिए जाने का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि इन छात्र-छात्राओं के घर जाने की राह अब और आसान हो गई है।

बिरला ने अपने एक बयान में कहा कि केंद्र सरकार की नई गाइडलाइंस से कोटा में ठहरे हुए कोचिंग के विद्यार्थी आसानी से घर पहुंच सकेंगे। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण संसदीय क्षेत्र कोटा ही नहीं, बल्कि प्रदेश व देशभर में विभिन्न राज्यों में रह रहे विधार्थियों, प्रवासी श्रमिकों और पर्यटकों की घर वापसी होगी।

- Advertisement -

लोकसभा अध्यक्ष ने विश्वास जताया कि केंद्र सरकार की ओर से जारी गाइडलाइंस का पालन करते हुए राज्य सरकारें अपना प्रोटोकॉल तय करते हुए शीघ्र ही सभी लोगों को अपने अपने घरो में भेजने की व्यवस्था करेंगी।

केंद्र सरकार ने लॉकडाउन के कारण कोटा में फंसे प्रवासी मजदूरों, छात्रों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों आदि को अपने गृहराज्य जाने की अनुमति कुछ शर्तों के साथ दी है। गृहमंत्रालय ने इस संबंध में बुधवार को आदेश जारी किया है, जिसके मुताबिक लोगों को ले जाने के लिए सभी राज्य नोडल अधिकारियों की नियुक्ति करेंगे।

राज्यों को अपने लोगों को लाने और दूसरे राज्यों के लोगों को भेजने के लिए उचित प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। एक दूसरे के राज्यों में समूह में फंसे लोगों को लाने और ले जाने के लिए राज्य आपस में चर्चा कर उचित व्यवस्था बनाएंगे।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

चूरू : कई मोर्चों पर कोरोना फाइटर बनकर डटी है आशा सहयोगिनी

चूरू(Churu News)। चूरू जिले के रतनगढ़ (Ratangarh)के वार्ड 15 की सुजाता महिला एवं बाल विकास विभाग (Department of Women and Child Development) में आशा...

बीकानेर: पानी और बिजली की निर्बाध आपूर्ति के लिए अधिकारी रहें सजग-डाॅ कल्ला

बीकानेर(Bikaner News)। उर्जा एवं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डाॅ. बी डी कल्ला (Dr.B.D.Kalla)ने कहा कि गर्मी के मौसम में पानी और बिजली की आपूर्ति...

बीकानेर के जेएनवीसी थाना क्षेत्र में लगा कर्फ़्यू

जेएनवीसी थाना क्षेत्र में निषेधाज्ञा आदेश लागू बीकानेर(Bikaner News)। कोरोनावायरस संक्रमण (Corona Virus) के प्रसार को रोकने के लिए पुलिस थाना जेएनवीसी के अन्तर्गत जयनारायण...

बीकानेर : टिड्डी नियंत्रण के लिए किसानों को प्रशिक्षण दिया जाए-उच्च शिक्षा मंत्री

बीकानेर(Bikaner News)। उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह(Higher Education Minister Bhanwar Singh Bhati) भाटी ने कहा कि जिले के टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों में टिड्डी नियंत्रण...

झारखंड के बाद अब इस राज्य में Zomato घर तक पहुंचाएगी शराब

भुवनेश्वर। देशभर में घरों तक खाने का आर्डर (Online Food Order) लाने वाली कपनी अब आपके लिए शराब(Alcohal) को भी लाकर देगी। इसके लिए...