मां की अर्थी को कंधे के वास्ते जब भाई-बहन को नसीब नहीं हुए श्मशान में तीन इंसान..

Must read

चार्ली शीन ने कोरी फेल्डमैन के दुष्कर्म के आरोपों से किया इनकार

लॉस एंजेलिस, 12 मार्च (आईएएनएस)। अभिनेता चार्ली शीन ने अपनी 1986 की फिल्म लुकास के फिल्मांकन के दौरान दिवंगत बाल अभिनेता कोरी हैम के...

धवन ने पुजारा को मजाकिया अंदाज में किया ट्रोल

नई दिल्ली, 26 अप्रैल (आईएएनएस)। भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी शिखर धवन ने सोशल मीडिया पर टेस्ट विशेषज्ञ बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा को मजाकिया अंदाज...

प्रथम राज्य स्तरीय गौरक्षा सम्मेलन : गौशालाओं का अनुदान बढ़ाने पर जल्द करेंगे फैसला -मुख्यमंत्री

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हमारी पिछली सरकार ने गौवंश के संरक्षण के लिए गौसेवा निदेशालय बनाया। इसके पीछे हमारी पवित्र भावना...

एमएसएमई सेक्रेटरी का चार्ज संभालते ही अरविंद शर्मा ने ली बैठक, दिए निर्देश

नई दिल्ली, 1 मई(आईएएनएस)। भारत सरकार के सूक्ष्म, लघु और मध्यम (एमएसएमई) उद्यम मंत्रालय के सेक्रेटरी के पद का शुक्रवार को अरविंद शर्मा ने...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 30 अप्रैल (आईएएनएस)। कोरोना के कोहराम ने क्या जवान और क्या बूढ़ा। हर किसी के सुनने और देखने की ताकत छीन सी ली है। इंसान और वक्त के तकाजे के सामने इंसानियत, दोनों ही दम तोड़ते दिखाई दे रहे हैं। ऐसा ही कुछ देखने को मिला 65 साल की ईश्वरी देवी के वारिसान को। जब उनके जिगर के टुकड़े हरीश को मां की अर्थी को कंधा देने के वास्ते तीन और इंसान तक नसीब नहीं हो पा रहे थे।

दिल को झकझोर देने वाली यह घटना हिंदुस्तान के किसी दूर दराज बसे गांव की नहीं देश की राजधानी दिल्ली की है। जहां से हुकूमत और देश चल रहा है। घटनाक्रम के मुताबिक, 65 साल की वृद्ध महिला ईश्वरी देवी गंभीर बीमारी से परेशान थीं। तीन चार दिन पहले उन्हें बेटे हरीश और दोनो बेटियों ने किसी तरह जीटीबी (गुरु तेगबहादुर अस्पताल) में दाखिल करा दिया। जीटीबी में कराये गये टेस्ट के बाद ईश्वरी देवी की रिपोर्ट निगेटिव आई। तो हरीश और उनकी बहनों ने चैन की सांस ली। यह सोचकर कि चलो अब लोग उनसे छूआछूत का सा व्यवहार तो नहीं करेंगे।

- Advertisement -

यह तसल्ली मगर हरीश और उनकी बहनों की ज्यादा वक्त बरकरार नहीं रह सकी। तमाम कोशिशों के बाद भी ईश्वरी देवी को डॉक्टर नहीं बचा सके। यहां से कोरोना के कहर से ईश्वरी के बेटे और बेटियों का आमना सामना हुआ। लॉकडाउन के कारण पड़ोसी साथ नहीं दे सके। किसी तरह से एक वाहन का इंतजाम करके ईश्वरी देवी का पुत्र, रोती-बिलखती बहन के साथ मां का शव लेकर निगमबोध घाट पहुंच गया। निगमबोध घाट पहुंचा तो फिर वही समस्या, कोरोना के डर के कारण वहां ईश्वरी देवी की अर्थी को कंधा देकर शमशान घाट के प्लेटफार्म तक ले जाने को तीन और इंसान चाहिए थे।

काफी इंतजार के बाद अचानक ही निगम बोध घाट पर मौजूद नर नारायण सेवाकर्मियों की नजर बेहाल बदहवास से भाई बहन पर पड़ी तो उन्होंने उनसे पूरी कहानी सुनी। भाई बहन की मुंहजुबानी सुनकर नर सेवा नारायण सेवा कर्मियों का कलेजा भी मुंह को आ गया। उन लोगों ने ईश्वरी देवी की अर्थी तैयार कराने में तो मदद की ही। साथ ही साथ कंधा देकर उनकी अंतिम यात्रा भी उन तीनों ने पूरी कराई। और तो और प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, नर सेवा नारायण सेवकों ने ही अंतिम संस्कार के वक्त कर्मकांड कराने वाले पुरोहित की दक्षिणा का भी इंतजाम किया। यह सब देख और भोग कर हरीश और उनकी बहन की आंखें डबडबा आईं।

एक तो मां के बिछड़ने का गम। ऊपर से बदतर हालातों में मां का अंतिम संस्कार। इन सबके बीच अचानक ही किसी दैवीय शक्ति की मानिंद, निगमबोध घाट पर उस मुसीबत में साथ देने पहुंचे श्मशान घाट के एक कर्मचारी का पहुंचना। नर सेवा नारायण सेवा के दो भक्तों द्वारा मां की अर्थी और अंतिम संस्कार का इंतजाम कराना। भाई बहन के सीने को चीर गया। दोनो बेबस भाई बहन मां की अर्थी को सजवाकर उसे कंधा देने वाले अजनबियों का शुक्रिया अदा तो करना चाह रहे थे, मगर उनके अल्फाज फफकते होंठों में ही फंसकर रह जा रहे थे।

— आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

चूरू : कई मोर्चों पर कोरोना फाइटर बनकर डटी है आशा सहयोगिनी

चूरू(Churu News)। चूरू जिले के रतनगढ़ (Ratangarh)के वार्ड 15 की सुजाता महिला एवं बाल विकास विभाग (Department of Women and Child Development) में आशा...

बीकानेर: पानी और बिजली की निर्बाध आपूर्ति के लिए अधिकारी रहें सजग-डाॅ कल्ला

बीकानेर(Bikaner News)। उर्जा एवं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डाॅ. बी डी कल्ला (Dr.B.D.Kalla)ने कहा कि गर्मी के मौसम में पानी और बिजली की आपूर्ति...

बीकानेर के जेएनवीसी थाना क्षेत्र में लगा कर्फ़्यू

जेएनवीसी थाना क्षेत्र में निषेधाज्ञा आदेश लागू बीकानेर(Bikaner News)। कोरोनावायरस संक्रमण (Corona Virus) के प्रसार को रोकने के लिए पुलिस थाना जेएनवीसी के अन्तर्गत जयनारायण...

बीकानेर : टिड्डी नियंत्रण के लिए किसानों को प्रशिक्षण दिया जाए-उच्च शिक्षा मंत्री

बीकानेर(Bikaner News)। उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह(Higher Education Minister Bhanwar Singh Bhati) भाटी ने कहा कि जिले के टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों में टिड्डी नियंत्रण...

झारखंड के बाद अब इस राज्य में Zomato घर तक पहुंचाएगी शराब

भुवनेश्वर। देशभर में घरों तक खाने का आर्डर (Online Food Order) लाने वाली कपनी अब आपके लिए शराब(Alcohal) को भी लाकर देगी। इसके लिए...