कोरोना से दूसरों की तुलना में ज्यादा सेफ हैं बीपी की दवाएं खाने वाले लोग : डॉ. उपाध्याय

Must read

प्रधानमंत्री से असहमत हूं, पर ये समय आरोप-प्रत्याॉरोप का नहीं : राहुल (लीड-1)

नई दिल्ली, 16 अप्रैल (आईएएनएस)। पूर्व कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि यह समय सरकार से लड़ने का नहीं है, बल्कि...

असम, नागालैंड में भूंकप के हल्के झटके

गुवाहाटी, 23 फरवरी (आईएएनएस)। असम और नागालैंड के कुछ हिस्सों में रविवार को 2.8 से 3.4 की तीव्रता वाले दो अलग-अलग हल्के भूकंप के...

स्वाधीनता दिवस समारोह : सहकारिता एवं गौपालन मंत्राी ने किया ध्वजारोहण, उल्लेखनीय कार्य करने वाली प्रतिभाएं सम्मानित

बीकानेर। इकहत्तरवें स्वाधीनता दिवस का मुख्य समारोह मंगलवार को डॉ. करणीसिंह स्टेडियम में गरिमामय एवं पारम्परिक तरीके से मनाया गया। सहकारिता एवं गौपालन मंत्राी...

Rajasthan : भाजपा के कार्यकर्ता संभाग स्तर पर राज्यपाल को देंगे ज्ञापन: सैनी

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी (President Madan Lal Saini) ने प्रदेश में हो रहे दलित वर्ग व महिलाओं के प्रति...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 30 अप्रैल(आईएएनएस)। ब्लड प्रेशर(बीपी) की दवाएं खाने वाले मरीज दूसरे लोगों की तुलना में कोरोना वायरस से ज्यादा सुरक्षित हैं। अप्रैल में आई सकरुलर रिसर्च रिपोर्ट के मुताबिक चीन के नौ अस्पतालों के जब 1128 मरीजों पर परीक्षण हुआ तो यह बात सामने आई। यह कहना है वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. वीएस उपाध्याय का।

बीएचयू से एमबीबीएस और एमडी की डिग्री लेने के बाद 30 वर्ष से अधिक का चिकित्सकीय अनुभव रखने वाले डॉ. वीएस उपाध्याय ने आईएएनएस से कहा कि ब्लड प्रेशर की लिप्रिल, इरिटेल, टैजलाक जैसी दवाएं कोरोना संक्रमित मरीजों में लाभप्रद साबित होती हैं।

- Advertisement -

डॉ. उपाध्याय ने कारण बताते हुए कहा कि कोरोना वायरस हमारे फेफड़े के रिसेप्टर(ग्राही) पर आक्रमण करता है। जबकि जो लोग ब्लड प्रेशर की दवाएं खाते हैं, उनका रिसेप्टर दवाओं के माध्यम से पहले ही ब्लॉक रहता है। जिससे कोरोना वायरस का फेफड़े के रिसेप्टर पर आक्रमण सफल नहीं हो पाता जिससे 70 प्रतिशत मामलों में मौत नहीं होती।

वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. वीएस उपाध्याय ने बताया कि कोरोना संक्रमित रोगियों में 20 प्रतिशत मरीज आंत से संबंधित होते हैं। यानी ऐसे मरीजों में डायरिया, पेट दर्द, उल्टी की शिकायत होती है। इनमें चेस्ट इंफेक्शन जैसे खांसी, सांस, गले में खरास नहीं रहता है।

डॉ. उपाध्याय ने कहा कि सुखद बात यह है कि कोरोना संक्रमित सौ लोगों में से 80 लोगों में माइल्ड केस यानी हल्के मामले होते हैं। जो संबंधित व्यक्ति के इम्यून सिस्टम तथा एंटी कोविड 19 दवाओं की वजह से ठीक हो जाते हैं। मात्र 15 प्रतिशत मरीजों को ही ऑक्सीजन थेरेपी की जरूरत होती है। कोरोना वायरस के केवल पांच प्रतिशत केस ही सीरियस होते हैं। जिसमें फेफड़े में सूजन यानी एआरडीएस हो जाता है। ऐसे व्यक्तियों को वेंटिलेटर तथा प्लाज्मा थेरेपी और एंटी कोविड 19 दवाओं की जरूरत होती है।

90 के दशक में दिल्ली के मशहूर सर गंगाराम जैसे हास्पिटल को छोड़कर उत्तर प्रदेश की सरकारी स्वास्थ्य सेवा चुनकर कभी अपने चिकित्सक साथियों को चौंका देने वाले डॉ. वीएस उपाध्याय अब जौनपुर में आशादीप अस्पताल चलाते हैं। उनका कहना है कि छोटे और पिछड़े जिलों में स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार करना जरूरी है। इस नाते उन्होंने दिल्ली की बजाए एक छोटे जिले को कर्मभूमि बनाया।

- Advertisement -

डॉ. वीएस उपाध्याय के मुताबिक, सांस की तकलीफ होने पर मरीजों को तुरंत डॉक्टर के पास ले जाना चाहिए। कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए अस्पतालों में वेंटेलिटर सुविधाओं के विस्तार की जरूरत है।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

चूरू : कई मोर्चों पर कोरोना फाइटर बनकर डटी है आशा सहयोगिनी

चूरू(Churu News)। चूरू जिले के रतनगढ़ (Ratangarh)के वार्ड 15 की सुजाता महिला एवं बाल विकास विभाग (Department of Women and Child Development) में आशा...

बीकानेर: पानी और बिजली की निर्बाध आपूर्ति के लिए अधिकारी रहें सजग-डाॅ कल्ला

बीकानेर(Bikaner News)। उर्जा एवं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डाॅ. बी डी कल्ला (Dr.B.D.Kalla)ने कहा कि गर्मी के मौसम में पानी और बिजली की आपूर्ति...

बीकानेर के जेएनवीसी थाना क्षेत्र में लगा कर्फ़्यू

जेएनवीसी थाना क्षेत्र में निषेधाज्ञा आदेश लागू बीकानेर(Bikaner News)। कोरोनावायरस संक्रमण (Corona Virus) के प्रसार को रोकने के लिए पुलिस थाना जेएनवीसी के अन्तर्गत जयनारायण...

बीकानेर : टिड्डी नियंत्रण के लिए किसानों को प्रशिक्षण दिया जाए-उच्च शिक्षा मंत्री

बीकानेर(Bikaner News)। उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह(Higher Education Minister Bhanwar Singh Bhati) भाटी ने कहा कि जिले के टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों में टिड्डी नियंत्रण...

झारखंड के बाद अब इस राज्य में Zomato घर तक पहुंचाएगी शराब

भुवनेश्वर। देशभर में घरों तक खाने का आर्डर (Online Food Order) लाने वाली कपनी अब आपके लिए शराब(Alcohal) को भी लाकर देगी। इसके लिए...